All Ayurvedic

इन घरेलू उपायों से गैस और पेट फूलने की समस्या को जड़ से खत्म करें

इन घरेलू उपायों से गैस और पेट फूलने की समस्या को जड़ से खत्म करें

Spread the love

पेट में गैस बनना आम बात है लेकिन कई बार इसकी वजह से सीने में भी दर्द होने लगता है। गैस भयंकर तरीके से सिर में चढ़ जाती है और उल्टियां तक आने लगती है। अगर आपको भी खतरनाक तरीके से गैस बनती है तो आप देसी दवाई की जगह घरेलू उपायों के जरिए इस बीमारी को जड़ से खत्म कर सकते हैं।

दरअसल, गैस बनने से पेट फूलने लगता है और पाचन संबंधी दिक्कत पैदा हो जाती है। अगर आपको ज्यादा गैस बनती है तो इसे बिल्कुल भी हल्के में न लें क्योंकि इसकी वजह से आपको घातक पेट के रोग हो सकते हैं। पेट फूलने और गैस बनने पर आप घर में ही मौजूद चीजों से इसका इलाज कर सकते हैं और इस बीमारी से जड़ से छुटकारा पा सकते हैं। आइए जानते हैं पेट में बनने वाली गैस को किस तरह से घरेलू नुस्खों से दूर किया जा सकता है…

निम्बू और बेकिंग सोडा

अगर आप गैस की समस्या से जूझ रहे हैं तो आपको रोजाना खाली पेट एक चम्मच बेकिंग सोडा में नींबू का रस मिलाकर पीना चाहिए। इसे पीते ही आपको गैस की समस्या से पल भर में छुटकारा मिल जाएगा।

हींग

हींग जहां खाने का स्वाद बढ़ाता है , वहीं हींग गैस की समस्या में भी काफी फायदेमंद है। आप गिलास गर्म पानी में हींग मिलाकर पिएं। इससे आपकी गैस की समस्या दूर हो जाएगी। दिन में करीब दो से तीन हींग का पानी पिएं।

काली मिर्च

काली मिर्च भी गैस की समस्या को दूर करता है। काली मिर्च का सेवन करने से न केवल गैस की समस्या में राहत मिलती है , बल्कि इससे हाजमा भी सही रहता है। पेट में गैस होने पर आप दूध में काली मिर्च मिलाकर पी सकते हैं।

दालचीनी

दालचीनी का सेवन करने से भी गैस की समस्या दूर होती है। आप गैस की समस्या में दालचीनी को पानी में उबाल लें और फिर उसे ठंडा कर लें। रोजाना सुबह खाली पेट दालचीनी के पानी का सेवन करें। अगर आपको इसका स्वाद अच्छा न लगे तो आप इसमें शहद भी डाल सकते हैं।

लहसुन

लहसुन सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। ऐसे ही गैस की समस्या में लहसुन खाने से काफी फायदा मिलता है। जब आपके पेट में गैस हो तो उस समय आप लहसुन को जीरा, खड़ा धनिया के साथ उबाल लें। अब रोजाना दिन में दो बार इसका सेवन करने से गैस की समस्या खत्म हो जाएगी।

छांछ (लस्सी)

छाछ में काला नमक और अजावइन मिलाकर पीने से गैस की समस्या से तुरंत निजात मिलता है।

अगर आप पेट फूलने और गैस की समस्‍या से परेशान हैं तो आपको ये चार आसन जरूर करने चाहिए। 

कमजोर मेटाबॉलिज्‍म

पेट फूलने की समस्‍या इन दिनों आम हो गई है। हम जो खाते हैं उसे पचाकर एनर्जी में बदलने का काम पाचन तंत्र का होता है। इसी को मेटाबॉलिज्‍म भी कहा जाता है। अगर आपका मेटाबॉलिज्‍म कमजोर है तो थोड़ा खाया भी आप पचा नहीं पाते। जिससे पेट में गैस और सूजन की समस्‍या हो जाती है। इस पर ध्‍यान न दिया जाए तो यह कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकती है। पर योग में कुछ आसन ऐसे हैं जो गैस से निजात दिलाकर आपका मेटाबॉलिज्‍म मजबूत बनाने में मदद करते हैं। 

पाचन मजबूत बनाने वाले आसन

बालासन 

पेट फूलने और गैस की समस्‍या से निजात दिलाने में योगासन बहुत मददगार हैं। बालासन के अभ्यास से न सिर्फ पेट की सूजन कम होती है, बल्कि पेट मजबूत बनता है और लोअर बैक में पेन भी दूर होता है। बालासन का नियमित अभ्यास पीठ, कंधे और गर्दन के तनाव को भी दूर करता है।

धनुरासन

धनुरासन के अभ्यास से कब्‍ज, पीठदर्द, पेट की सूजन, थकान और मासिकधर्म के समय होने वाली समस्याएं दूर होती हैं। इसके अलावा धनुरासन के अभ्यास से पूरा शरीर, खासतौर पर पेट, सीना, जांघे और गला आदि स्‍ट्रेच होते हैं। इस आसन से पीठ और पेच की मासपेशियां मजबूत होती हैं। धनुर आसन यूट्रस की ओर खून का संचार ठीक करता है। इससे पेट दर्द, पेट की सूजन आदि दूर होती हैं।

मत्स्यासन 

मत्स्यासन करते हुए शरीर का आकार किसी मछली जैसा बनता है। इस आसन के नियमित अभ्यास से शरीर की थकान मिटती है और पेट की सूजन में भी आराम मिलता है। इसके अभ्यास से मासिकधर्म का दर्द और सूजनबी कम होते हैं। यह आसन पेट और पेडू को उत्‍तेजित कर पेट की गैस, सूजन और अपच से मुक्‍ती दिलाता है।

हलासन 

हलासन करने से रीढ़ की हड्डियां लचीली बनी रहती है और शरीर में फूर्ती आती है। साथ ही इससे पेट की मांसपेशियों पर भी काम होता है और पेट बाहर नहीं निकलता है। हलासन के अभ्यास से पाचन तंत्र और मांसपेशियों को शक्ति मिलती है और पेट की सूजन में कमी आती है। इस आसन को करने से पाचन तंत्र ठीक रहता है।

This Post Has One Comment

  1. Khushbu

    nice

Leave a Reply