You are currently viewing ग्रहों से जुड़ा है मसालों का रिश्ता

ग्रहों से जुड़ा है मसालों का रिश्ता

Spread the love

 

हम भारतीयों को मसालों से इस कदर प्रेम है कि विदेशी व्यंजन भी हमें तभी पसंद आता है जब उसमें देशी मसालों का तड़का लगा हो।भारतीय मसालों की खास बात यह है कि स्थान, जलवायु के, मिट्टी की गुणवत्ता आदि के आधार पर अलग-अलग मसालों का उत्पादन होता है। उत्तर भारत में अलग मसालों का उत्पादन होता है, दक्षिण में अलग और पश्चिम भारत के मसाले अलग होते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ सामान्य मसाले ऐसे हैं जिनका संबंध ज्योतिषशास्त्र के साथ भी है। कुछ मसाले ऐसे भी हैं जो हमें विभिन्न ग्रहों के दुष्प्रभाव से बचाते हैं, जानें उन खास मसालों के विषय में।

1-लाल मिर्च लाल मिर्च का संबंध सूर्य और मंगल ग्रह से है, यह एक ऐसा मसाला है जो स्वाद की ग्रंथि को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है, रक्त के संचारण में भी इसकी विशेष भूमिका है। इसके अलावा सरसों, गुड़, काली मिर्च और जौं के साथ भी सूर्य का संबंध है।

2-इलायची खुशबुदार इलायची का संबंध चंद्रमा से है, यह श्वास के रोगों में लाभदायक सिद्ध होती है। इसके अलावा हींग, जिसे उसकी तीखी महक और स्वाद के गुण से जाना जाता है भी चंद्रमा से संबंध रखती है, यह शरीर में वायु प्रकोप को कम कर गैस से मुक्ति दिलवाती है।

3-धनिया बुध ग्रह का रंग हरा है, मसालों में इन्हें धनिया के साथ जोड़ा गया है। इसका सेवन किडनी को साफ करता है और मूत्र संबंधी विभिन्न रोगों से मुक्ति दिलवाता है। साथ ही हरी इलायची और हींग को भी बुध से जोड़ा गया है।

4-हल्दी हल्दी को मसाले के साथ-साथ प्राचीन काल से ही आयुर्वेदिक दवा के रूप में प्रयोग किया जा रहा है। इसमें घाव को भरने और शरीर की रोग प्रतिरोधक को बढ़ाता है। हल्दी का संबंध गुरु यानि बृहस्पति ग्रह के साथ है।

5-जीरा जीरा को शुक्र का मसाला कहा जाता , यह शरीर से अम्लीय प्रभाव यानि एसिडिटी को कम करता है। साथ ही यह भूख बढ़ाता है। संफ को भी शुक्र का मसाला कहा जाता है, यह भोजन को सुपाच्य बनाता है।

6-काली मिर्च शनि के साथ काली मिर्च का संबंध जोड़ा गया है, इसे कफनाशक माना जाता है, साथ ही यह पाचन क्रिया को भी दुरुस्त करती है। लौंग को भी शनि देव के साथ जोड़ा गया है, यह दांत दर्द में मददगार साबित होती है।

7-जायफल राहु के साथ जायफल को जोड़ा गया है, यह सब्जी में सुगंध पैदा करने के साथ अन्य कई रोग में भी लाभदायक होता है। इसका सर्दी में ज्यादा प्रयोग किया जाता है।

8-अजवाइन अजवाइन को केतु क मसाला माना गया है जिसे वात नाशक माना गया है। अजवाइन के साथ थोड़ा काला नमक मिलाकर फांक लेने से गैस की समस्या दूर होती है।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

 

 

Leave a Reply