All Ayurvedic

दाद खाज खुजली को ठीक करने के घरेलू इलाज

दाद खाज खुजली को ठीक करने के घरेलू इलाज

Spread the love
दाद खाज खुजली

दाद त्वचा की ऊपरी परत पर होता है। यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में बड़ी ही आसानी से फैल सकता है। दाद को चिकित्सकीय भाषा में टिनीया (Tinea) कहते हैं। यह एक परतदार त्वचा पर गोल और लाल चकत्ते के रूप में दिखाई देता है। इसमें खुजली एवं जलन होते हैं। यह बड़ी ही आसानी से संक्रमित व्यक्ति की चीजें या कपड़े उपयोग करने से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है। क्या आपको पता है दाद खाज खुजली होने का कारण क्या है, दाद के लक्षणों की पहचान कैसे की जा सकती है। दाद खाज खुजली होने पर आपको क्या घरेलू उपचार करना चाहिए। दाद की आयुर्वेदिक दवा कौन-कौन सी है। यहां खुजली दूर करने के लिए कई घरेलू नुस्खे (khujli ke upay) बताए जा रहे हैं ताकि आप इसका पूरा लाभ ले पाएं।

दाद (रिंगवार्म) होने के कारण (Ringworm Causes in Hindi)

दाद फंगल के संक्रमण के कारण होता है, यह फफूंदी जैसा परजीवी बाहरी त्वचा की कोशिकाओं में पनपता है। यह बड़ी ही आसानी से तथा कई तरीकों से फैल सकता है। अगर किसी जानवर को दाद हुआ है तो उस जानवर को स्पर्श करने से भी दाद का संक्रमण मनुष्ण के शरीर में फैल सकता है। मनुष्य द्वारा किसी संक्रमित वस्तु को छूने से भी दाद का संक्रमण उनमें फैल सकता है जैसे कंघी, ब्रश, कपड़े, तौलिया, बिस्तर आदि।

दाद खाज खुजली की दवा है नारियल का तेल (Coconut Oil: Home Remedies for Ringworm in Hindi)

नारियल का तेल त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए अच्छा माना जाता है। यह न सिर्फ खुजली वाली त्वचा से राहत प्रदान करता है बल्कि त्वचा को चिकना और नरम भी बना देता है। इसलिए प्रभावित क्षेत्र पर नारियल का तेल लगाने से आराम (dad ke upay) मिलता है।

दाद खाज खुजली की दवा है लहसुन (Garlic: Home Remedies for Ringworm in Hindi)

लहसुन में अजोइना (Ajoene) नाम एक प्राकृतिक एंटी फंगल एजेंट (Anti–fungal agent) होता है जो फंगल संक्रमण को ठीक करने में मदद करता है। लहसुन की एक फांक छीलकर उसकी पतली स्लाइस काट लें, प्रभावित क्षेत्र पर पतली स्लाइस को रखे और उसके चारों ओर एक पट्टी लपेट लें और रात भर के लिए इसे छोड़ दें। इसकी जगह पर लहसुन के पेस्ट का भी इस्तेमाल (khujli ke upay) कर सकते हैं।

दाद खाज खुजली की दवा है हल्दी (Turmeric: Home Remedies for Ringworm in Hindi)

हल्दी एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह कार्य करता है। हल्दी और पानी को मिलाकर अच्छी प्रकार पेस्ट बना लें और रूई की सहायता से इसे प्रभावित क्षेत्र पर लगाएँ। यह फंगल इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक तरीके से इलाज करता है।

दाद खाज खुजली की दवा है सेब का सिरका (Apple Cidar Vinegar is Beneficial for Ringworm in Hindi)

सेब के सिरके को रूई की सहायता से दाद वाली जगह पर लगाएं। दिन में कम से कम चार से पांच बार इसे दोहराएं। यह उपाय लाभ पहुंचाता है। यह दाद की अचूक दवा है।

दाद खाज खुजली की दवा है टी ट्री ऑयल (Tea Tree Oil is Beneficial for Ringworm in Hindi)

टी ट्री ऑयल कई प्रकार की त्वचा समस्याओं से राहत प्रदान करता है। संक्रमित क्षेत्र पर रूईं की सहायता से दिन में तीन से चार बार टी ट्री ऑयल लगाना बेहतर होता है। यह फंगल इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक तरीके से इलाज करता है।

दाद खाज खुजली की दवा है एलोवेरा (Aloevera is Beneficial for Ringworm in Hindi)

एलोवेरा एंटी-फंगल और जीवाणुरोधी होते है। प्रभावित त्वचा पर सीधे ऐलोवेरा जेल को लगाएं और रात भर के लिए छोड़ दें। यह दाद चकत्ते आदि को ठीक (khujli ke upay) करता है तथा यह त्वचा की स्वस्थ करने के लिए कईं पोषक तत्व और मिनरल प्रदान करता है।

दाद खाज खुजली की दवा है सरसों के बीज (Musturd Oil: Home Remedy to Treat Ringworm in Hindi)

सरसों के बीजों को पानी में आधे घण्टे के लिए भिगो दें। इसके बाद इसे पीसकर संक्रमित स्थान पर लगाएं। यह दाद की अचूक दवा है।

दाद खाज खुजली की दवा है लेमन ग्रास (Lemon Grass: Home Remedy to Treat Ringworm in Hindi)

लेमन ग्रास का काढ़ा बनाकर दिन में तीन बार पिएं। इससे खुजली और संक्रमण दूर होते हैं। इससे दाद (रिंगवार्म) के उपचार में मदद मिलती है।

दाद खाज खुजली की दवा है करेले का रस और गुलाबजल (BitterGourd and Rose Water: Home Remedies to Treat Ringworm in Hindi)

करेले के पत्ते का रस और गुलाबजल मिलाकर लगाएं। इससे दाद खाज खुजली में तुरंत फायदा होता है। बेहतर फायदे के लिए किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से जरूर परामर्श लें।

दाद खाज खुजली की दवा है जोजोबा तेल और लेवेंडर तेल (Jojoba Oil and Lavender Oil: Home Remedies for Ringworm Treatment in Hindi)

एक चम्मच जोजोबा तेल में एक बूंद लेवेंडर तेल की मिलाएं और इसे रूईं की मदद से प्रभावित हिस्से पर लगाएँ। यह बच्चों के लिए एक अच्छा उपाय (khujli ke upay) है।

दाद खाज खुजली की दवा है राई के बीज (Musturd: Home Remedies for Ringworm Treatment in Hindi)

राई के बीज को बारीक पीसकर नारियल तेल के साथ पेस्ट बना लें। इसे दाद वाली जगह पर लगाएं। इससे दाद का इलाज होता है।

दाद खाज खुजली की दवा है इमली के बीज (Imli Paste: H0me Remedy for Ringworm Treatment in Hindi)

इमली के बीज को नींबू के रस में पीस लें। अब इसे दाद वाली जगह पर लगाएं। इससे दाद (रिंगवार्म) तुरंत ठीक हो जाता है।

जैतून से करें दाद का इलाज (Castor Leaf: Home Remedy for Ringworm Treatment in Hindi)

जैतून की पत्तियों को दिन में दो से तीन बार चबाएँ। यह शरीर की प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ाते हैं। इससे दाद को ठीक होने में मदद (dad ke upay) मिलती है।

नमक और सिरका से करें दाद का इलाज (Salt and Vinegar: Home Remedy to Treat Ringworm in Hindi)

नमक और सिरके को मिलाकर पेस्ट बना लें। इसे प्रभावित क्षेत्र पर दिन में पाँच बार लगाएं। इससे दाद खाज खुजली (रिंगवार्म) का इलाज होता है।

नीम के पानी से करें दाद का इलाज (Neem Water is Beneficial for Ringworm in Hindi)

नीम की ताजी पत्तियों को पानी में उबालकर पानी को ठंडा कर लें  तथा इस पानी को नहाने के लिए इस्तेमाल करने से दाद और खुजली में आराम मिलता है।

दालचीनी के पत्ते से करें दाद का इलाज (Cinnamon: Home Remedies to Treat Ringworm in Hindi)

दालचीनी के पत्ते को पीस कर शहद के साथ दाद वाली जगह पर लगाने से दाद (रिंगवार्म) जल्दी ठीक हो जाता है।

देसी घी से करें दाद का उपचार (Ghee is Beneficial for Ringworm in Hindi)

देसी घी सभी के घर में होता है। खुजली से आराम पाने के लिए देशी घी को बीमार अंग पर लगाएं। इससे खुजली का इलाज होता है।

खीरे से करें दाद का उपचार (Cucumber: Home Remedies for Ringworm in Hindi)

आप दाद का इलाज खीरा से कर सकते हैं। खीरे का रस रूई की सहायता से प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। खीरे के रस से दाद का उपचार (dad ke upay) होता है।

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए ? (When to Contact a Doctor?)

दाद (रिंगवार्म) एक फंगल संक्रमण के कारण होता है जिसमें अत्यधिक खुजली एवं जलन होते हैं। यह बड़ी ही आसानी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति और संक्रमित जानवरों से भी व्यक्तियों संक्रमित हो जाता है। उपचार के अभाव में यह तेजी से त्वचा पर बड़े चकत्तों के रूप में फैल जाता है, साथ ही खुजली एवं जलन से व्यक्ति परेशान रहता है। इसलिए दाद की शुरुआत में ही घरेलू उपचारों द्वारा इलाज करना चाहिए, लेकिन यदि आराम न मिले या दाद बढ़ रहा हो तो तुरन्त डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।

खाज खुजली एक संक्रामक रोग है। जिसके कारण त्वचा पर छोटी-छोटी फुंसियां निकल आती हैं और उसमे पानी भी निकालता है। ये शरीर के किसी भी भाग में हो सकती है। कभी-कभी पेट साफ न होने के कारण,कब्ज़ रहने तथा खून में अशुद्धि होने से भी खुजली पैदा होती है।


इसकी घरेलु चिकित्सा निम्न लिखित ढंग से होती है –

1-नारियल के तेल में थोड़ा कपूर मिलर कर गरम और खुजली वाले स्थान पर लगाएं।
2-गाय के घी में कुछ लहसुन मिलाकर गरम करें और उसकी मालिश खुजली वाले स्थान पर करें।
3-नींबू के रास में पके हुए केले को मसलकर खुजली वाले स्थान पर लगाएं।
4-सरसों के तेल में हरी मिर्च को जलाकर उस तेल की मालिश करें।
5-सरसों के तेल में लहसुन को गरम करके उसमें थोड़ी हल्दी मिलाकर तेल ठंडा होने पर मालिश करें।
6-भुने हुए सुहागे को पानी में मिलाकर लगाने से खुजली में आराम मिलता है।
7-नारियल तेल में आँवले की गुठली की राख मिलाकर लगाएं।
8-अजवायन का तेल खाज खुजली पर लगाने से भी बहुत आराम मिलता है।
9-सरसों तेल में नीम की छल तथा चाल मोगरा दोनों को पकाएं और उससे मालिश करें।
10-सरसों के तेल में थोड़ा सा तेजपत्ता और थोड़ा सा बावांची मिलाकर मरहम की तरह लगाएं।
11-गाय के गहि में आंवला+गंधक+कपूर+नीला थोथा मिलाकर खाज खुजली पर लगाएं बहुत जल्दी आराम मिलता है।
12-देशी गाय के गोबर-गोमूत्र का खाज-खुजली पर लेप करने से जल्दी आराम मिलता है।
13-नीम की छाल और त्रिफला चूर्ण,उसवा,कुटकी और गोरख मुंडी समान मात्रा में लेकर पानी में भिगों दें और उसे आग पर पकायें और उसकी भाप द्वारा अर्क रुई के फाहे से खाज-खुजली वाले हिस्से पर लगाएं।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

50 से ज्यादा बिमारियों का इलाज है हरसिंगार (पारिजात)

गहरी और अच्छी नींद लेने के लिए घरेलू उपाय !!

गेंहू जवारे का रस, 300 रोगों की अकेले करता है छुट्टी

मात्र 16 घंटे में kidney की सारी गंदगी को बाहर निकाले

किसी भी नस में ब्लॉकेज नहीं रहने देगा यह रामबाण उपाय

This Post Has 32 Comments

Leave a Reply