You are currently viewing रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये आयुष काढ़ा, जानिए बनाने की विधि

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये आयुष काढ़ा, जानिए बनाने की विधि

Spread the love

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये आयुष काढ़ा। भारत समेत पूरी दुनिया कोरोना वायरस के प्रकोप से जूझ रही है। COVID-19 वायरस के कारण अब तक लाखों लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने का एक मात्र उपाय स्वास्थ्य दिशा निर्देशों का पालन करना है। नियमित तौर पर सा​फ सफाई करते रहना आवश्यक है, खासतौर पर हाथ धोना। इन सबके साथ यदि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर रहेगी तो आप औरों के तुलना में कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने में ज्यादा सफल रहेंगे।

देश में लॉकडाउन का 2 महीना पूरा हो गया है, बावजूद इसके कोरोना के संक्रमण की रफ्तार कम नहीं हो रही है. भारत में कोरोनो वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 1,45000 से ज्यादा पहुंच गई है. दूसरी ओर इस बीमारी की अबतक कोई वैक्सीन नहीं आई है. वहीं डॉक्टर्स की ओर से कोरोना से बचने के लिए इम्युनिटी को मजबूत करने की सलाह दी जा रही है. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये आयुष काढ़ा

आयुर्वेद के विशेषज्ञों ने कोरोना वायरस के खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में आयुर्वेदिक पद्धति की भूमिका को लेकर चर्चा की. जिसमें बताया गया कि कैसे देसी इलाज के माध्यम से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है. आयुर्वेद में विस्तार रूप से लिखा है कि महामारी क्यों आती है और इलाज कैसे होगा. इलाज करते समय किन बातों का ध्यान दिया जाना चाहिए. वहीं उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस को तभी हराया जा सकता है जब इंसान की इम्युनिटी मजबूत हो.’ रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये आयुष काढ़ा

आयुर्वेद में इम्युनिटी बढ़ाने का सबसे बढ़िया तरीका च्वयनप्राश का सेवन माना गया है, क्योंकि उसमें विभिन्न प्रकार की जड़ी बूटियों का मिश्रण होता है. ये फेफड़ों के लिए काफी लाभदायक है. आयुर्वेद में ऐसे कई उपाय हैं, जिनको अपना कर आप अपने शरीर के इम्यून सिस्टम को बेहतर कर सकते हैं, साथ ही अपने घर तथा आस-पास के वातावरण को कोरोना वायरस के प्रकोप से भी मुक्त रख सकते हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये आयुष काढ़ा

आयुष काढ़ा बनाने की विधि

एक कप आयुष काढ़ा बनाने के लिए एक कप पानी में चार तुलसी के पत्ते, दो काली मिर्च, अदरक, दालचीनी और मुनक्का डालकर पानी को उबाल लें. इसे मीठा करने के लिए इसमें गुड़ या शहद भी डालें. इसे दिन में दो बार पीने से शरीर की इम्युनिटी बढ़ती है. इसके अलावा हल्दी दूध का भी सेवन करें. आपको बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा पीने की सलाह दे चुके हैं.

आयुष मंत्रालय ने इसके लिए एक खास काढ़े का नुस्खा बताया है। चार भाग तुलसी के पत्ते, दो भाग दालचीनी, दो भाग सोंठ और एक भाग कृष्ण मरीच लें। इनका मोटा पाउडर बना लें और 3 ग्राम का टी-बैग या 500 मिलिग्राम पाउडर की गोलियां बना लें। इसे 150 मिलीलीटर उबले पानी में घोल कर चाय की तरह दिन में एक या दो बार पिएं।

आयुर्वेद के वे 10 उपाय, जो वायरस के प्रकोप से करेंगे आपकी सुरक्षा 

1. COVID-19 वायरस के प्रभाव से बचने के लिए सबसे जरूरी है कि आप नियमित तौर पर गुनगुना पीना पिएं।

2. शरीर के इम्यून सिस्टम को दुरूस्त रखने के लिए आपको नियमित तौर पर उचित मात्रा में आंवला, एलोवेरा, गिलोय, नींबू आदि का जूस पीना चाहिए।

3. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के आप पानी में तुलसी रस की कुछ बूंदें डालकर पी सकते हैं।

4. गर्म दूध में हल्दी मिलाकर पीने से भी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है।

5. इम्यून सिस्टम की बेहतरी के लिए आप अष्टादसांग काढ़ा, गुडूच्यादि काढ़ा , अमृतउत्तरम काढ़ा या सिरिशादी काढ़ा का सेवन करना उत्तम रहेगा।

6. घर और आस-पास के वातावरण को स्वच्छ रखने के लिए आप नियमित तौर पर नीम की पत्तियों, गुग्गल, राल, देवदारु और दो कपूर को साथ में जलाएं। उसके धुएं को घर और आस-पास में फैलने दें।

तीन औषधियों का ये चूर्ण 30 बीमारियां करेगा खत्म

तेजपत्ता हैं शरीर के लिए काफी लाभदायक

7. इसके अलावा आप चाहें तो गुग्गल, वचा, इलायची, तुलसी, लौंग, गाय का घी और खांड को किसी मिट्टी के पात्र में रखकर जलाएं और उसके धुएं को घर और आस-पास में फैलने दें।

8. इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाए रखने के लिए आप नियमित तौर पर तुलसी की 5 पत्तियां, 4 काली मिर्च, 3 लौंग, एक चम्मच अदरक का रस शहद के साथ ले सकते हैं।

9. चाय पीने के शौकीन हैं, तो आपको नियमित रूप से 10 या 15 तुलसी के पत्ते, 5 से 7 काली मिर्च, थोड़ी दालचीनी और उचित मात्रा में अदरक डालकर बनाई गई चाय पीनी चाहिए। य​ह आपको रोगों से बचने में मदद करेगी।

10. इन सबके अलावा आपको कोरोना वायरस से बचने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के जारी किए गए दिशा निर्देशों का पालन करना चाहिए।

बेहतर सुरक्षा प्रदान कर सकती हैं ये औषधियां (रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये आयुष काढ़ा)

1. आंवला (Amla) (रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये आयुष काढ़ा)

आंवला एक फल है जिसे स्वास्थ्य विशेषज्ञ दैनिक रूप से लेने की सलाह देते रहे हैं, खासतौर पर इसलिए क्योंकि यह इम्यून सिस्टम को बढ़ाने में भी कारगर है. सिलेब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर की सलाह है कि आपको हर दिन एक आंवला खाना चाहिए. विटामिन-सी से भरपूर भोजन को कच्चे, अचार के रूप में, मुरब्बा के रूप में या जूस के रूप में सेवन किया जा सकता है. विटामिन सी के साथ, आंवला विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स और कैरोटीन में भी समृद्ध है.

2. गिलोय (Giloy) (रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये आयुष काढ़ा)

अमृत या गिलोय को तीनों तरह की परेशानियों के निवारक के रूप में जाना जाता है, जो कि फिजिकल बॉडी का निर्माण करने के लिए मददगार हैं. यह एक जड़ी बूटी है जो सभी के लिए फायदेमंद है. यह एक शक्तिशाली इम्युनोमोड्यूलेटर है, जो इम्यून सिस्टम को विनियमित और सामान्य करने में मदद करती है. गिलोय की जड़ तनाव को कम करने में भी मदद कर सकती है, और इसमें एंटी-लेप्रोटिक और मलेरिया-रोधी गुण भी मौजूद होते हैं. गिलोय में एंटीऑक्सिडेंट शरीर को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से सुरक्षा प्रदान कर सकती है. 

3. हल्दी और काली मिर्च (Turmeric And Black Pepper)

काली मिर्च के साथ मिलाए जाने पर हल्दी जादू की तरह काम करती है. काली मिर्च में पिपेरिन की उपस्थिति में करक्यूमिन (हल्दी में शक्तिशाली यौगिक) सक्रिय होता है. लाइफ स्टाइल कोच लुके कटिंहो का मानना है कि दोनों मिलकर आपकी इम्यूनिटी को बढ़ा सकते हैं. कर्क्यूमिन में एंटीसेप्टिक, एंटी इंफ्लेमेटरी और जीवाणुरोधी गुण होते हैं.

यह है बचाव का सबसे शानदार तरीका

वायरस से बचने के लिए मास्क पहनने से ज्यादा प्रभावी तरीका है कि आप हैंड वॉश को लेकर अलर्ट रहें। पब्लिक प्लेस से आने के बाद घर का कोई भी सामान टच करने से पहले हाथ अच्छी तरह धो लें।

  1. पब्लिक प्लेस पर रहने के दौरान कोई भी सामान छूने, बस ट्रेन में जर्नी करने और लोगों से मिलने के बाद अपने हाथ अपने चेहरे पर ना लगाएं।
  2. अगर आपको किसी भी तरह की फिजिकल इलनेस फील हो रही है तो बेहतर है कि आप पब्लिक प्लेस पर जाएं ही नहीं और घर में आराम करें। क्योंकि जिस समय हमारी बॉडी थका हुआ महसूस कर रही होती है, उस समय हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी पॉवर भी पहले की तुलना में कमजोर होती है। इससे बाहरी वायरस का हम पर ज्यादा हावी होने का चांस बढ़ जाता है।
  3. मेडिकल फील्ड एक्सपर्ट्स लोगों को करॉना वायरस के चलते पैनिक ना होने की सलाह दे रहे हैं। इनका कहना है कि पैनिक होकर किसी भी समस्या का समना नहीं किया जा सकता है। सर्जिकल मास्क का बंडल खरीदने या हर समय वायरस के भय में जीने से बेहतर है कि हम स्वच्छता और हाईजीन का पूरा ध्यान रखें। खुद को कोल्ड, कफ और फ्लू से बचाकर रखें।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

This Post Has 3 Comments

Leave a Reply