You are currently viewing सदाबहार का फूल दिलाएगा डायबिटीज से छुटकारा, ऐसे करें इस्तेमाल

सदाबहार का फूल दिलाएगा डायबिटीज से छुटकारा, ऐसे करें इस्तेमाल

Spread the love
सदाबहार का फूल

सदाबहार का फूल देखने में अच्छा लगता है और ये आसानी से कहीं भी उग आते हैं, लेकिन क्या आपको पता है यही मामूली-सा फूल आपको डायबिटीज समेत कई बीमारियों से छुटकारा दिला सकता है। तो कैसे करें इसका इस्तेमाल आइए जानते हैं।

1. सदाबहार के फूल में एलकालॉइड्स, एजमेलीसीन, सरपेन्टीन नामक तत्व होते हैं। ये शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। अगर सदाबहार की 7-8 पत्तियों को धोकर हल्के पानी से पीस लें। अब इसे निचोड़कर पी लें। ऐसा रोजाना करने से डायबिटीज की शिकायत दूर हो जाएगी।

2. इसमें रेर्स्पीन, विण्डोली, विनक्रिस्टीन एवं विनब्लास्टिन जैसे क्षार तत्व भी होते हैं, इसलिए ये शरीर में मौजूद टॉक्सिन्स को निकालने को काम करते हैं।

3. सदाबहार की पत्तियों का रस नाक और गले के संक्रमण को दूर करने में भी बहुत फायदेमंद है। क्योंकि इसमें पाया जाने वाला विंडोलीन नामक तत्व इंफेक्शन को दूर करने में मदद करता है।

4. सदाबहार की पत्तियों का रस पीने से तंत्रिका तंत्र भी ठीक रहते हैं। इससे पूरी बॉडी के पार्ट्स सुचारू तरीके से काम करते हैं। इस पौधे की जड़ों की छाल का पाउडर खाने से ब्लड प्रेशर की दिक्कत भी दूर होती है।

5. सदाबहार की पत्तियों का रस दिमागी बीमारियों को ठीक करने में भी बहुत कारगर है। इसमें मौजूद पोषक तत्व अनिद्रा, अवसाद, पागलपन और एनजाइटी जैसी बीमारियों से बचाता है। यदि किसी व्यक्ति को नींद न आने व टेंशन से सिर भारी होने की शिकायत है तो इसके एक चम्मच रस को शहद के साथ मिलाकर पीने से बीमारी ठीक हो जाएगी।

6. सदाबहार का फूल का रस मांसपेशियों के खिंचाव को कम करता है। साथ ही इसके जड़ की छाल हैजा रोग फैलाने वाले वाइब्रो कोलोरी नामक रसायन को उत्पन्न होने से रोकता है। इसका रस एक दर्दनाशक के तौर पर भी काम करता है।

7. सदाबहार का पौधा अपोनसाईनसियाई परिवार का है। कनेर, प्लूमेरिया फ्रैंगीपानी, सप्तपर्णीय करौंदा, ट्रेक्लोस्पमर्म, ब्यूमेन्शया ग्रैन्डीफ्लोरा, एलामंडाकथार्टिका जैसे पौधे भी इसी प्रजाती का हिस्सा हैं।

8. सदाबहार की पत्तियों का रस महिलाओं के पीरियड्स की अनियमितता को दूर करने एवं अधिक रक्त स्त्राव की दिक्कत को दूर करने का भी काम करता है। इसके सेवन से कमजोरी से भी छुटकरा मिलता है।

9. सदाबहार की पत्तियों का रस सांप एवं बिच्छू के काटने पर जहर को फैलने से रोकने एवं घाव भरने में भी कारगर है। इसके एक चम्मच रस को पीने एवं इसे प्रभावित स्थान पर लगाने से जहर पूरे शरीर तक नहीं फैल पाता है।

10. सदाबहार के फूल का रस पीने से इम्यूनिटी भी बढ़ती है। ये शरीर को स्ट्रांग बनाने में मदद करता है। इससे जल्दी बीमारी आपको नहीं पकड़ पाएगी।

मधुमेह के लिए सदाबहार का फूल उपयोग करने के तरीके

सदाबहार का फूल
  1. पहला तरीका- सदाबहार की ताजी पत्तियों को सुखाकर पाउडर बना लें और कांच के कंटेनर में भरकर रख लें। मधुमेह को नियंत्रण में रखने के लिए सुबह खाली पेट 1 चम्मच सूखे पत्तों का चूर्ण पानी या ताजे फलों के रस में मिलाकर सेवन करें।
  2. दूसरा तरीका- सदाबहार के पौधे की 3-4 पत्तियों को दिनभर में चबाएं। ताकि अचानक से ब्लड शुगर में वृद्धि न हो पाए।
  3. तीसरा तरीका- ताजे तोड़े गए सदाबहार के फूलों को पानी में उबाल लें। इसे भीगने दें और फिर छान लें। मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए इस कड़वे तरल को सुबह खाली पेट पीएं। ब्लड शुगर लेवल काफी हद तक कम हो जाएगा।

अगर आप डायबिटीज के लिए किसी दवा के साथ इस जड़ी-बूटी को लेने की सोच रहे हैं, तो ब्लड शुगर लेवल के कम होने की संभावना बहुत है। फिर भी ध्यान रखें कि ऐसा करने से पहले किसी डायबिटीज विशेषज्ञ से सलाह ले लें।

सदाबहार का फूल का काढ़ा पीने के फायदे —

सदाबहार के पौधा बहुत कॉमन पौधा है और यह घर के आसपास जरूर दिख सकता है। लोग इसके औषधीय गुणों से वाकिफ न होने के कारण कई बार इसके पौधे को तोड़कर फेंक भी देते हैं। लेकिन आयुर्वेद में इस पौधे, इसके फूल और पत्तियों का बड़ा महत्व है। सदाबहार के फूलों का काढ़ा डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण है और गले में खराश, इन्फेक्शन और फेफड़ों से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए बहुत फायदेमंद। आइये जानते हैं सदाबहार के फूलों का काढ़ा पीने के फायदे—

1. डायबिटीज की समस्या में फायदेमंद (Sadabahar Flower Kadha To Regulate Diabetes)

डायबिटीज के मरीजों के लिए सदाबहार के फूलों का काढ़ा पीना बहुत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद औषधीय गुण डायबिटीज की समस्या में ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखने का काम करते हैं। इसमें मौजूद हाइपोग्लाइकेमिक गुण डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद है। इससे शरीर में ब्लड शुगर का स्तर कंट्रोल होता है और इंसुलिन का उत्पादन भी सही ढंग से होता है।

2. ब्लड प्रेशर में फायदेमंद सदाबहार के फूलों का काढ़ा (Sadabahar Flower Kadha Benefits in Hypertension)

हाइपरटेंशन या हाई बीपी की समस्या आज के समय एक कॉमन समस्या बन गयी है। हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए सदाबहार के फूलों का काढ़ा बहुत फायदेमंद होता है। रोजाना इसका सेवन करने से आपकी कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ भी ठीक होती है। इसमें मौजूद औषधीय गुण हाई बीपी की समस्या को कंट्रोल करने का काम करते हैं। आप डॉक्टर की सलाह लेकर इसका इस्तेमाल हाई बीपी में कर सकते हैं।

3. शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए उपयोगी (Sadabahar Flower Benefits To Boost Immunity)

शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए सदाबहार के फूलों का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आप सदाबहार के फूलों का काढ़ा रोजाना पी सकते हैं।

4. गले के इन्फेक्शन और खराश को दूर करने के फायदेमंद (Sadabahar Flower Benefits For Throat Infection)

गले के इन्फेक्शन को दूर करने के लिए सदाबहार के फूलों का काढ़ा पीना बहुत फायदेमंद है। इसका सेवन आप गले की खराश, इन्फेक्शन और कफ आदि को दूर करने के लिए कर सकते हैं। 

5. मेंस्ट्रुअल फ्लो ठीक करने के लिए उपयोगी (Regulates Menstrual Flow)

महिलाओं में मासिक धर्म या पीरियड्स से जुड़ी समस्याओं को कम करने के लिए सदाबहार के फूलों का काढ़ा बहुत फायदेमंद होता है। पीरियड्स फ्लो को ठीक करने के लिए सदाबहार के फूलों का काढ़ा पीना बहुत फायदेमंद होता है। पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को कम करने के लिए भी आप सदाबहार की पत्तियों का काढ़ा पी सकते हैं।

सदाबहार फूलों का काढ़ा बनाने का तरीका (How To Make Sadabahar Flower Kadha?)

सदाबहार की पत्तियों और फूल दोनों का ही काढ़ा उपर बताई गयी समस्याओं में फायदेमंद होता है। इसे बनाने के लिए आप सबसे पहले कुछ ताजे सदाबहार के फूल लें और इसे धोकर पानी में डालें। इसे अच्छी तरह से कुछ देर उबालें और जब पानी आधे से कम हो जाए तो इसे उतारकर छान लें। अब आप इसका सेवन करें। यही प्रक्रिया आप सदाबहार की पत्तियों के साथ कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: चेहरे की खूबसूरती निखार देगा नारियल का दूध

सदाबहार की पत्तियों और फूलों का इस्तेमाल सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन इसका इस्तेमाल डॉक्टर या आयुर्वेदिक एक्सपर्ट की सलाह के बाद ही करना चाहिए।

चेहरे पर हैं पिंपल्‍स के दाग और गड्ढे तो जरूर ट्राई करें सदाबहार का फूल का फेस पैक

गर्मियों में पिंपल की समस्या बेहद कॉमन है, लेकिन इससे होने वाले दाग और गड्ढे खूबसूरती को बिगाड़ कर रख देते हैं। बता दें कि कई लोगों की आदत होती है पिंपल होने पर उन्हें फोड़ने की, और इस वजह से दाग बन ही जाते हैं, साथ-साथ कील निकालने पर चेहरे पर गड्ढे बन जाते हैं। ज्यादातर लड़कियां इसे मेकअप से छुपाने की कोशिश करती हैं, लेकिन आप होममेड फेस पैक ट्राई कर इस समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकती हैं।

आपको बता दें कि सदाबहार के फूल से बना फेस पैक ना सिर्फ पिंपल से छुटकारा दिलाने में मदद करता है बल्कि दाग-धब्बे और अन्य त्वचा से जुड़ी परेशानियों से भी राहत दिलाता है। खास बात है कि सदाबहार के फूल आपको आसानी से मिल जाएंगे। अगर नहीं है तो आप इसे अपने घर पर गमलों में लगा सकती हैं। जब भी जरूरत हो इसके पत्तों और फूलों को तोड़कर फेस पैक तैयार कर सकती हैं।

पिंपल पर लगाएं सदाबहार का फूल के पत्ते – सामग्री-

  • पत्ते- 10 से 12
  • फूल- 5 से 6
  • पानी- 2 चम्मच

विधि

  • सदाबहार के फूल और पत्तियों को पीस कर पेस्ट बना लें। अगर आपको लगता है कि इसे पीसने के लिए पानी की आवश्यकता है, तभी इस्तेमाल करें।
  • अब इस पेस्ट को आधा घंटे फ्रिज में रख दें, इसे जब त्वचा पर लगाएंगी तो ठंडक का एहसास होगा।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं, और 15 मिनट के लिए छोड़ दें। 15 मिनट बाद इसे पानी से साफ कर लें।
  • गर्मियों में इस फेस पैक को नियमित या फिर बीच में एक दिन छोड़कर ट्राई कर सकती हैं।
  • इसके अलावा आप चाहें तो इसके रस को छानकर एक बाउल में निकाल लें। अब इस रस में कॉटन भिगोकर त्वचा को पोंछ, यह तरीका भी काफी फायदेमंद है।

दाग और गढ्ढों से पाएं छुटकारा सदाबहार का फूल से

सामग्री

  • सदाबहार के सफेद फूल- 10 से 15
  • मुल्तानी मिट्टी- 1 चम्मच
  • गुलाब जल- 10 बूंद

विधि

  • सदाबहार के फूल को मैश कर सकती हैं, क्योंकि इसकी क्वांटिटी इतनी ज्यादा नहीं है कि इसे मिक्सर में पीसा जा सके।
  • इसे अच्छी तरह मैश कर लें और फिर इसमें मुल्तानी मिट्टी को मिक्स कर दें। गुलाब जल को मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • अब इसे अपनी त्वचा पर लगाएं, और 5 मिनट तक हल्के हाथों से मसाज करें। मसाज करने के बाद चेहरे पर इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • कुछ महीने इस फेस पैक को नियमित तौर पर ट्राई करें, पिंपल के दाग ही नहीं बल्कि गड्ढे भी चले जाएंगे।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

Leave a Reply