All Ayurvedic

स्मरणशक्ति बढ़ाने की रामबाण औषधि और कमी के लक्षण

स्मरणशक्ति बढ़ाने की रामबाण औषधि और कमी के लक्षण

Spread the love
स्मरणशक्ति

स्मरणशक्ति का कमजोर होना एक व्यापक और गंभीर समस्या बनती जा रही है। औसत दृष्टि से अधिकांश लोगों की स्मरण शक्ति लगभग एक जैसी होती है किंतु कुछ मेधावी व्यक्तियों की स्मरण रखने की शक्ति आश्चर्यजनक भी होती है। अत: कहा जा सकता है कि स्मरण शक्ति एक अर्जित गुण है जिसका कम या तेज होना या कर लेना बहुत कुछ हमारे ऊपर निर्भर करता है। वैज्ञानिकों का मानना है कि स्मरण शक्ति का हमारी रूचि से गहरा संबंध है।

मस्तिष्क की बनावट:- आकृति में मस्तिष्क शरीर का पांचवा भाग है किंतु यह सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है। मस्तिष्क के भीतर जाने वाले तथा बाहर आने वाले नाड़ी तंतुओं की संख्या ही लगभग बीस करोड़ है। प्रत्येक शारीरिक व मानसिक स्पंदन का निर्गमन यहां से होता है। मानव भले ही सब कुछ खो बैठे, उसकी सद्बुद्धि सलामत रहनी चाहिए। फिर तो मानव शून्य में सृजन कर सकता है। प्रारंभ में पचीस वर्ष तक हम अधिकांश बातें याद रखते हैं। 25 वर्ष के बाद मात्र काम की बातें याद रखते है। उम्र बढऩे के साथ-साथ याददाश्त कमजोर पडऩे लगती है। 40 वर्ष की आयु के पश्चात व्यक्ति में परिपक्वता आ जाती है। अच्छी स्मरण शक्ति के लिए शरीर और मन को निरोग रहना चाहिए।

स्मरणशक्ति की कमी के लक्षण:-

पढ़ी, देखी, सुनी बातें याद न रहना, किसी जगह वस्तु रखकर भूल जाना, पढ़कर याद रखने की इच्छा न होना, अरूचि, आलस्य, चिड़चिड़ापन, कमजोरी निराशा का भाव, घबराहट आदि देखने को मिलते हैं।

ब्रेन पावर और मेमोरी :

  • जिन व्यक्तियों के मस्तिष्क और स्नायु दुर्बल हो जाते हैं, उनकी स्मरणशक्ति कमजोर हो जाती है, कुछ याद नहीं रहता तथा स्वभाव से वे भुलक्कड़ हो जाते हैं। विद्यार्थियों की भी यह आम समस्या है कि उन्हें पढ़ा हुआ भलीभांति याद नहीं रहता और याद रहता है तो कुछ ही समय तक। ब्रेन फ़ूड जो आपके दिमाग को तेज करता है। आज के इस युग में तेज दिमाग का होना बहुत ही जरुरी है। हाल के कुछ सालो में प्रतियोगिता काफी बढ़ गयी है। अपने जीवन का हर मोड़ पर हमे प्रतियोगिताओ का सामना करना पड़ता है, जिसके लिए तेज दिमाग की आवश्यकता होती है। अच्छे भविष्य के लिए तेज बुद्धि का होना बहुत ही जरुरी है।

  • तेज दिमाग के लिए नियमित खान-पान और नियमित दिनचर्या की जरुरत होती है। लगभग हर घर में याददास्त कमजोरी की समस्या रहती है। रोजमर्रा की तनाव के कारन छोटी-छोटी बातें याद रखना भी मुश्किल हो जाता है। कमजोर याददास्त के कारन खुद तो परेशान होते ही है, साथ में दुसरे लोगो को भी परेशानी में डाल देते है।
  • कुछ ऐसे आहार के बारे में बताया जायेगा, जिनका उपयोग करने से आपकी दिमाग की क्षमता बढती है और आपकी याददास्त में सुधार आने लगता है। इन आहार को “ब्रेन फ़ूड” भी कह सकते है।
  • वीक मेमोरी या कमजोर याददाश्त एक ऐसी बीमारी है। जिसमें इंसान कही हुई बात या याद हुई चीज को तुरंत भूल जाता है। भूलने वाले लोगों के लिए यह बहुत अधिक परेशानियों का कारण है, इसके लिए एक आयुर्वेदिक नुस्खा यहां दिया जा रहा है, जो स्मरण शक्ति बढ़ाता है।

स्मरणशक्ति बढ़ाये कल्याणवलेह :

कल्याणवलेह के 21 दिन तक नित्य सेवन से स्मरण शक्ति बहुत बढ़ जाती है। ऐसा व्यक्ति सुनकर ही बातों को याद कर लेता है। उसकी आवाज़ बादलों के समान गंभीर और कोयल के समान मधुर हो जाती है। यदि को स्वयं की या अपने बच्चों की याददाश्त को बढ़ाना है तो एक बार यह प्रयोग अवश्य करे।

बनाने की विधि :

  • हल्दी, बच, कूठ, पीपल, सोंठ, जीरा, अजमोद, मुलेठी और सेंधा नमक सब बराबर मात्रा में मिलाकर महीन पीस कर चूर्ण तैयार कर लें।

सहरिद्रा वचा कुष्ठं पिप्पलीविश्वभेषजम्।अजाजी चाजमोदा च यष्टीमधुकसैन्धवम्।।

सेवन की विधि : 

  • 8 से 16 रत्ती (1 से 2 ग्राम) तक आयु के अनुसार 21 दिनों तक प्रातः काल खाली पेट और रात को खाना खाने के 2-3 घंटे बाद सोते वक़्त नित्य प्रयोग करें।

आवश्यक सामग्री : 

  1.  मुलहठी : 50 ग्राम
  2. गिलोय : 50 ग्राम
  3.  शंखाहूली : 50-50 ग्राम लें।

निर्माण विधि :

  • सभी द्रव्यों को कूट पीसकर कपड़े से छानकर चूर्ण बना लें। फिर इसमें सोने का अर्क या भस्म 3 ग्राम मिलाकर खरल में घोटाई करें। जिससे स्वर्णभस्म अच्छी तरह मिल जाए, उसके बाद एक बोतल में सुरक्षित रख लें।

सेवन विधि :

  • उम्र के अनुसार इस चूर्ण को आधा ग्राम से दो ग्राम की मात्रा में लेकर घी और शहद (विषम मात्रा में) मिलाकर खाएं, घी कम और शहद ज्यादा मात्रा में लेना चाहिए। कुछ दिनों तक इसके सेवन से स्मरणशक्ति और बुद्धि तीव्र होती है तथा भूलने की आदत से छुटकारा मिल जाता है।

ये 23 ब्रेन फूड्स आपकी मेमोरी को बूस्ट कर देंगे :

1. ब्लू बेर्री : प्रतिदिन ब्लू बेर्री फल का सेवन करे। चुकी इसमें प्रचुर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट होता है। इसके इस्तेमाल से आपका दिमाग तेज होगा।

2. बेल : एक पका हुआ बेलफल का गूदा मिट्टी के सकोरे में डालकर पानी भर दें। ऊपर पतला कपड़ा या छलनी रख दें। सुबह पानी निथारकर मीठा मिलाकर पीएं दिमाग तरोताजा हो जाएगा। सर्दियों के दिनों में बेल का गूदा मिट्टी के पात्र के बजाय कलईदार बर्तन या स्टील के पात्र में रखें और उसी समय मसलकर गर्म पानी में शहद के साथ घोलकर पी लें। इसके नियमित प्रयोग से दिमागी शक्ति अवश्य बढ़ेगी।

3. अलसी का बीज : अलसी के बीज में प्रचुर मात्रा में फाइबर और प्रोटीन पाया जाता है इसलिए इसके इस्तेमाल से आपका दिमाग तेज होगा।

4. पालक : प्रतिदिन पालक का इस्तेमाल करने से कई तरह के रोगों से बचा जा सकता है। पालक में मैग्नीशियम की प्रचुर मात्रा होती है, जो हमारे पुरे शारीर और दिमाग के लिए फायदेमंद होता है।

5. दालचीनी : दालचीनी का पाउडर बना ले। अब लगभग 10 ग्राम दालचीनी पाउडर को शहद में मिला कर चाट ले। इससे आपकी दिमाग शार्प होगी।

6. आवला : आवला का रस निकाल ले एक चम्मच और उसमे दो चम्मच शहद मिला कर पिये। इससे आपकी दिमाग तेज होगी और याददास्त भी अच्छी होगी।

7. धनिया : सबसे पहले धनिया का पाउडर बना ले अब आधा चम्मच पाउडर में दो चम्मच शहद मिला कर खाये। आपकी स्मरण शक्ति यानी याददास्त में वृद्धि होगी।

8. अखरोट : अखरोट में ज्यादा मात्रा में प्रोटीन और एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है। जिसके उपयोग से अपने दिमाग को तेज बना सकते है। इसका इस्तेमाल प्रतिदिन करे।

9. बादाम : बादाम को दिमाग के लिए अमृत के समान माना जाता है। स्मरणशक्ति के विकास के लिए 10 बादाम रात को भिगो दें और सुबह छिलका उतारकर लगभग 10-12 ग्राम मक्खन और मिश्री के साथ मिलाकर खाएं। लगातार दो माह तक यह मिश्रण खाने से दिमाग की सभी कमजोरियां दूर हो जाती हैं। यदि ऐसा संभव नहीं हो तो भीगे हुए बादाम की लुगदी बनाकर सेवन करें। दिमागी कमजोरी दूर करने के लिए दूसरा उपाय यह है कि रात्रि के समय बादाम के साथ सौंफ व मिश्री मिलाकर उसे पीस लें। इस चूर्ण को दूध के साथ पीने से स्मरणशक्ति बढ़ती है। यदि यह भी संभव न हो सके तो दस बादाम बारीक पीसकर आधा किलो दूध में मिलाएं और दूध को गर्म कर लें। इसके पश्चात दूध ठंडा होने पर उसमें चीनी मिलाकर पीएं। इस प्रकार किसी भी तरह से बादाम का सेवन करने से दिमाग में तरोताजगी आ जाती है व स्मरणशक्ति में भरपूर वृद्धि होती है।

10. तुलसी : तुलसी के इस्तेमाल से कई प्रकार की बीमारी भी दूर होती है। गुलाब की पंखुरी, काली मिर्च और तुलसी के पत्ते को चबाकर खाये आपको लाभ मिलेगा।

11. गेंहू के ज्वारे : गेंहू के ज्वारे को आयुर्वेद में अमृत कहा गया है। अगर आपको अपने दिमाग को तेज करना है, तो गेंहू के ज्वारे का रस में थोड़ी बादाम का पेस्ट और शक्कर मिलाकर इसका सेवन करे आपको लाभ मिलेगा।

12. गाजर : गाजर का सेवन प्रतिदिन करे। गाजर के सेवन से आपका दिमाग तेज होगा उसके साथ-साथ आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है।

13. अदरक, मिश्री और जीरा : इन तीनो को पीसकर रोजाना सेवन करे आपको लाभ मिलेगा।

14. दही और दूध : दही में एमिनो एसिड होता है, जो आपके दिमाग के लिए फायदेमंद होता है। आप एक गिलास दूध में शहद दो चम्मच मिला कर पिये आपको फायदा होगा।

15. तिल : तिल और गुड मिलाकर खाने से आपकी दिमाग शार्प होगी।

16. सेव : सेव के सेवन से स्मरणशक्ति बढ़ जाती है। इसके लिए एक या दो सेव बिना छिलके उतारे चबा-चबाकर भोजन से पंद्रह मिनट पहले खाना चाहिए। यह मस्तिष्क को शक्ति देने के साथ-साथ रक्त की कमी भी दूर करता है।

17. लीची : लीची का प्रयोग करते रहने से मस्तिष्क को बल मिलता है।

18. आंवला का मुरब्बा : स्मरणशक्ति में वृद्धि के लिए प्रतिदिन प्रातः आंवले का मुरब्बा खाएं।

19. गाय का दूध और गाजर खायें : गाजर के रस को गाय के दूध के साथ समान अनुपात में मिलाकर पीने से स्मरणशक्ति में वृद्धि होती है।

20. चुकंदर : चुकंदर का रस प्रतिदिन पीने से भी स्मरणशक्ति बढ़ती है।

21. आम : दिमागी कमजोरी से होनेवाली स्मरणशक्ति की कमी के लिए एक कप आम का रस, थोड़ा दूध और एक चम्मच अदरक का रस व चीनी मिलाकर पीने से दिमाग में ताजगी का संचार होता है। दूध में आम का रस मिलाकर पीने से भी दिमाग में तरावट आती है।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

गुर्दे की पथरी निकालने के 10 घरेलू इलाज

दाद खाज खुजली को ठीक करने के घरेलू इलाज

मिर्गी का आयुर्वेदिक इलाज – Mirgi (Epilepsy) Ka Ayurvedic ilaj

पेशाब का रंग बताता है शरीर की दिक्कत, ध्यान देने की जरूरत

यूरिक एसिड (Uric Acid) के लक्षण, कारण और घरेलू उपाय

फड पॉइजनिंग के लक्षण और घरेलू उपचार

हींग का पानी- हींग को पानी में मिलाकर पीने से होंगे ये फायदें

अच्छी नींद आने के लिए घरेलू उपाय, अनिद्रा के लक्षण

हल्दी का दूध – रात को दूध में हल्दी मिलाकर पीने के फायदे

अदरक का पानी पीने के फायदे, जड़ से खत्म होंगे कई रोग

ककोरा – दुनिया की सबसे ताकतवर सब्जी है ककोड़ा/कंटोला

पेशाब से जुड़ी समस्याएं जैसे पेशाब में जलन आदि का घरेलू इलाज

चश्मा हटाने का उपाय, चश्मे को कहना है बाय तो अपनाएं ये टिप्‍स

प्याज के रस से दोबारा बाल उगाने का रामबाण उपाय

एक्जिमा (Eczema), दाद-खाज, खुजली, सभी चर्म रोगों को खत्म करें

शरीर की गंदगी निकालने का उपाय | BODY DETOX

पेट में गैस बनने के कारण और घरेलू उपाय | STOMACH GAS

करी पत्ता के फायदे, ये पत्तियां बुढ़ापे तक बालों को काला रखती हैं

दूध के साथ इन चीज़ों का सेवन वर्जित है

पिगमेंटेशन के लिए फेस पैक | PIGMENTATION FACE PACK

चेहरे की खूबसूरती निखार देगा नारियल का दूध

अखरोट रोजाना खाने से आपको मिलेंगे ये बेहतरीन फायदे

स्त्रियों के 16 श्रृंगार कौन से होते है, इसके स्वस्थ्यवर्धक फायदे

पसीने की दुर्गंध से हैं परेशान, तो इन टिप्स को करें फॉलो

धनतेरस को खरीदे यह चीजे साल भर रहेगी बरकत

घर में फिटकरी रखने के फायदे और 10 आश्चर्यजनक उपाय

वात पित्त कफ का इलाज : त्रिदोष नाशक उपाय

लिवर (LIVER) को ठीक करने के घरेलू उपाय LIVER Diseases

वैजयंती माला धारण करने के फायदे, अद्भुत है वैजयंती माला

गुड़ और चना साथ खाने के 20 जबरदस्त फायदे

जीवन के ये महत्त्वपूर्ण रहस्य, जो भगवान शिव ने बताए थे

This Post Has 2 Comments

  1. Khushbu

    useful

  2. altyazili izle

    Check below, are some absolutely unrelated internet sites to ours, however, they are most trustworthy sources that we use. Gabbey Eddy Lorena

Leave a Reply