All Ayurvedic

अमरबेल का सेवन है प्रजनन शक्ति बढ़ाने में उपयोगी

अमरबेल का सेवन है प्रजनन शक्ति बढ़ाने में उपयोगी

Spread the love
अमरबेल का सेवन

अमरबेल का सेवन – आयुर्वेद में यह बताया गया है कि अमरबेल (cuscuta) वीर्य को बढ़ाता है, पाचनशक्ति ठीक करता है और आँख के रोगों में लाभदायक होता है। हृदय को स्वस्थ रखता है। यह पित्त, कफ के विकार और खराब पाचन से बनने वाले वात को भी ठीक करता है। यह मल के निकले को आसान बनाता है। विभिन्न अध्ययनों के अनुसार इसमें मौजूद फ्लैवोनॉयड में एस्ट्रोजेन जैसे प्रभाव होते हैं। इसके अलावा माना जाता है कि इसमें मानव शुक्राणु को सुरक्षा प्रदान करने की क्षमता होती है। इसके एण्ड्रोजन जैसे असर से नर प्रजनन अंगों की सुरक्षा मिलती है और अंडकोष के विकास तथा टेस्टोस्टेरोन बनने की प्रक्रिया तेज हो सकती है। साथ ही अमरबेल का सेवन से शुक्राणु कोशिका को होने वाली ऑक्सीडेटिव क्षति और एपोप्टोसिस से बचाव हो सकता है। इसके साथ ही अमरबेल (Cuscuta (Amarbel) के फायदे और भी हैं। आइए सभी लाभ के बारे में जानते हैं।

अमरबेल क्या है (What is Amarbel?) (अमरबेल का सेवन)

अमरबेल (Dodder Plant) एक परजीवी (Parasitic Plant) और दूसरे पेड़ों पर निर्भर लता है, जो रस्सी की तरह बेर, शाल, करौदें आदि वृक्षों पर फैली रहती है। इसमें से महीन धागे के समान तन्तु निकलकर वृक्ष की डालियों का रस चूसते रहते हैं।

एक ही वृक्ष पर हर साल पैदा होने के कारण इसको अमरबेल (Amarbel Plant) कहते हैं। यह वृक्षों के ऊपर फैलती है, जमीन से बिना जुड़े केवल पेड़ पर ही होने के कारण इसे आकाशबेल (cuscuta) भी कहा जाता है।

इससे यह तो फलती-फूलती जाती है, लेकिन जिस पेड़ पर यह रहती है वह धीरे-धीरे सूखकर खत्म हो जाता है। आकाशवल्ली (Cuscuta (Amarbel) के फल थोड़े पीले-काले रंग के और बड़े होते हैं। इसे लैटिन में Cassytha filiformis Linn. कहते हैं। दोनों में कुछ गुण भेद भी पाया गया है। किसी का मत है कि अमरबेल (cuscuta) वह है जो केवल आम के पेड़ पर फैलती है, अन्य वृक्षों पर फैलने वाली आकाशबेल है।

अमरबेल बनाए हड्डियां मजबूत – (अमरबेल का सेवन)

शोध के मुताबिक अमरबेल के बीज से अस्थि खनिज घनत्व बढ़ सकता है और इससे कार्टिलेज को दुरुस्त करने मदद मिल सकती है। इसके सेवन से कैल्शियम मैट्रिक्स को बढ़ाने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा यह कैल्शियम के फैलाव और क्षारीय फॉस्फेट सम्बन्धी सक्रियता बढ़ाने में मदद कर सकता है।

अमरबेल करे कैंसर से बचाव -(अमरबेल का सेवन)

रिसर्च के अनुसार अमरबेल में कुछ किस्म की कैंसर कोशिकाओं को रोकने की क्षमता होती है। इससे कैंसर होने के संभावना कम हो जाती है। इसलिए नियमित रूप से अमरबेल का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है।

अमरबेल से करें डायबिटीज नियंत्रित (अमरबेल का सेवन)

अमरबेल का सेवन करने से डायबिटीज को भी नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। इसके सेवन से रक्त शर्करा (Blood Glucose) के स्तर में काफी कमी आती है। इसके अलावा इससे शरीर में वसा की मात्रा संतुलित करने और ग्लाइकोजन की मात्र को बढ़ाने में मदद मिलती है। इस तरह यह डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत लाभकारी है।

अमरबेल बनाए प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत – (अमरबेल का सेवन)

पशुओं पर किए गए अध्ययन के मुताबिक उचित मात्रा में अमरबेल के बीज के सेवन से प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने में मदद मिल सकती है। प्रतिरक्षा तंत्र के कमजोर होने पर रोगों से लड़ने की शक्ति कम हो जाती है और हम विभिन्न किस्म की बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। अमरबेल में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने में मदद कर सकते हैं।

अमरबेल है लिवर के लिए फायदेमंद – (अमरबेल का सेवन)

एक अध्ययन के तहत लिवर की चोट से पीड़ित चूहों को अमरबेल का काढ़ा पिलाया गया। इससे सीरम में एलानिन एमिनोट्रांसफरेज (एएलटी) और एस्पार्टेट एमिनोट्रांसफरेज (एएसटी) में कमी आई, एसओ डी में बढ़ोतरी हुई और लिवर की चोट में उल्लेखनीय सुधार दर्ज हुआ।

अमरबेल है आंखों के लिए लाभकारी

अमरबेल का सेवन आँखों के लिए भी लाभकारी होता है। इसके सेवन से क्रिस्टेलिन लेंस की अपारदर्शिता कम करने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा यह मोतियाबिंद के इलाज में भी लाभकारी है। और सबसे बड़ी बात यह है कि इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है। इसलिए यदि अपने चश्मे का नंबर कम करना हो या आँखों की रोशनी बढ़ाना चाहते हों तो आज से ही अमरबेल का सेवन शुरू कर दें।

अमरबेल रोके बालों का गिरना –

अमरबेल को बारीक पीस कर इसमें थोड़ा तिल का तेल मिला लें। अब इस मिश्रण को अपने बालों पर लगाएं। यह उपाय बालों के गिरने की समस्या को कम कर सकता है। इसके अलावा बालों को गिरने से रोकने के लिए एक लीटर पानी में 50 ग्राम अमरबेल को काट कर उबाल लें और इससे अपने बाल धोएं।

बालों को मजबूत बनाती है अमरबेल (Benefits of Amarbel in Hair Loss in Hindi)

अमरबेल (amar bail) को तिल या शीशम के तेल में पका लें। इसे सिर पर लगाने से बालों की जड़ें मजबूत बनती हैं। इससे गंजेपन में लाभ होता है।

लगभग 50 ग्राम अमरबेल को कूटकर एक लीटर पानी में पका लें। इससे बालों को धोने से बाल में चमक आती है और बाल सुनहरे होते हैं। इससे बालों का झड़ना तो रुकता ही है साथ ही रूसी भी खत्म होती है।

पेट के रोग में अमरबेल के इस्तेमाल से फायदा

अमरबेल (dodder) को उबालकर पीसकर पेट पर लेप करने से पेट के रोग ठीक होते हैं। आकाश बेल का रस आधा लीटर और एक किलोग्राम मिश्री को मिलाकर धीमी आँच पर उबालते हुए शर्बत तैयार कर लें। इसे सुबह और शाम 2 मि.ली. की मात्रा में पानी मिलाकर पीने से पेट की गैस और पेट के दर्द की समस्या ठीक होती है। अमरबेल (Cuscuta (Amarbel) पञ्चाङ्ग का काढ़ा बनाकर उससे पेट पर सेंक करने से उलटी बंद होती है तथा पेट का दर्द ठीक होता है।

अमरबेल है बवासीर में फायदेमंद –

अमरबेल के 10 मिलीलीटर रस में 3 ग्राम काली मिर्च का चूर्ण मिलाएं। सुबह खाली पेट इस मिश्रण का सेवन करें। इससे बवासीर पूरी तरह ठीक हो सकता है।

अमरबेल के नुकसान –

अमरबेल के बीज का अर्क आम तौर पर सुरक्षित होता है। लेकिन यह बूटी बहुत शक्तिशाली होती है इसलिए उचित लाभ के लिए इसका उपयुक्त खुराक में सेवन करना आवश्यक है। इसके सेवन से अब तक किसी किस्म के दुष्प्रभाव का पता नहीं चला है लेकिन किसी चिकित्सक की निगरानी में ही इसका सेवन किया जाना उचित और सुरक्षित होगा।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

50 से ज्यादा बिमारियों का इलाज है हरसिंगार (पारिजात)

गहरी और अच्छी नींद लेने के लिए घरेलू उपाय !!

गेंहू जवारे का रस, 300 रोगों की अकेले करता है छुट्टी

मात्र 16 घंटे में kidney की सारी गंदगी को बाहर निकाले

This Post Has One Comment

  1. Khushbu

    nice

Leave a Reply