You are currently viewing बबूल के फायदे और स्वास्थ्य लाभ !!

बबूल के फायदे और स्वास्थ्य लाभ !!

Spread the love

दस्त को ठीक करने के लिए बबूल का उपयोग  कर सकते है बबूल की पत्तियो का लगभग 12 ग्राम मिश्रण बनाकर इस मिश्रण का दिन में तीन बार सेवन करें। साथ ही साथ इसकी छाल से बने अर्क को भी  दिन में तीन बार लिया जा सकता है।


Babool बबूल के पत्तियां को घाव भरने में बहुत ही फायदे मंद माना जाता है बबूल के पत्तो का इस्तमाल रक्त रिसाव एवं संक्रमण रोकने में किया जा सकता है बबूल से घावों को ठीक किया जाता है।

इसके पत्तो से बालों को काफी फायदा होता है बालों के झड़ने से रोकने के लिए इसके पत्तो का बालों पर पेस्ट लगाएं और अच्छे गुणवत्ता वाले शैम्पू के साथ 30 मिनिट बाद बालो को धो ले एवं हमेशा अपने बालों को धेाने के लिए गुनगुने पानी का उपयोग करें।

Babool बबूल की छाल चवाने से मसूडो में आने वाले खून को ठीक किया जा सकता है एवं मसूड़ो केा मजबूत करने में इससे मदद मिलती है इस पाउडर का निर्माण करने के लिए 60 ग्राम बबूल की लकड़ी का कोयला एवं 34 ग्राम भुनी हुई फिटकरी साथ ही 12 ग्राम सेंधा नमक का उपयोग किया जाता है।

आँखों का आना एक आम समस्या है इसे ठीक करने के लिए आप बबूल की पत्ती का इस्तेमाल कर सकते है रात में आने वाली ऑख पर बबूल के पत्ते पीस कर लगा कर एवं किसी साफ कपडे से बॉध दे और आप सुबह देखगें तो आपकी ऑख का दर्द खत्म हो जाएगां।

टॉन्सिल को ठीक करने में बबूल का उपयोग किया जा सकता है इसके लिए आप बबूल की छाल से गरम काढा बनाये एवं उसमें काला नमक मिला कर गरारा करे इससे आपके टॉन्सिल जल्द ही ठीक हो जाएगे।

यदि आपके शरीर से बहुत ज्यादा पसीना आता है और आप पोंछ-पोछ कर बेहाल हो रहे है तो बबूल आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है इसके लिए आप बबूल की पत्तियॉ पीसकर पूरे शरीर पर मसलें और कुछ ही देर बाद नहा लें ऐसा करने पर कुछ दिन बाद आपको बहुत पसीना आना बंद हो जाऐगा।

Babool बबूल का उपयोग घुटनो के दर्द मिटाने के काम आता है इसका उपयोग करने के लिए आप बबूल की फली को धूप में सुखाकर पाउडर बना लें एवं दिन में 2 से 3 बार घुटनो पर लगाये अतः ऐसा करने पर घुटनो का दर्द स्वतः ही समाप्त हो जायेगां।

Babool बबूल के पेड़ के तने से एक फोडा सा निकलता है जिसे बांदा भी कहा जाता है इसे पीसकर और छाया में सुखाकर चूर्ण बना ले एंव इस चूर्ण को तीन ग्राम की मात्रा में माहवारी के खत्म होने के अगले दिन से तीन दिनो तक सेवन करे।

Babool बबूल का उपयोग मुंह में छाले मिटाने के लिए किया जाता है इसके लिए आपको बबूल की छाल को सूखाकर चूर्ण बनाना होगो एवं छाले वाली जगह पर यह चूर्ण लगा ले ऐसा करने पर छाले कुछ ही दिनों में समाप्त हो जाऐगे।

सीने में जलन को कम करने के लिए आप बबूल की पत्ती का उपयोग कर सकते है इसके लिए आप बबूल की पत्तियो को उबाल कर दिन में 3 से  बार पीने से  सीने की जलन मिटाने में उपयोग किया जाता है ।

Babool बबूल की छाल का उपयोग लिकोरिया को ठीक करने के लिए किया जाता है इसका उपयोग करने के लिए आपको बबूल की छाल का काढा बानकर दिन में 2 से 3 बार पीना होगा।

Leave a Reply