You are currently viewing बाल और त्वचा के लिए कपूर के चमत्कारी फायदे

बाल और त्वचा के लिए कपूर के चमत्कारी फायदे

Spread the love

हमारे भारत में कपूर का इस्तेमाल काफी पुराने समय से ही औषधिय रूप में चिकित्सा के क्षेत्र में होता आया है। अपने सुंगधित और औषधिय गुणों के कारण इसका उपयोग पूजा पाठ के अलावा घरों पर पाई जाने वाली नाकार्त्मक उर्जा को दूर करने में किया जाता है और घर के वातावरण को स्वच्छ रखने में कपूर काफी अच्छा माना जाता है। ज्यादातर कपूर के पेड़ मुख्य रूप से वियतनाम, चीन और जापान में उगाये जाते है और इन्हीं पेड़ो के तेल से कपूर को बनाया जाता है। कपूर के पेड़ की उम्र 50 वर्ष की आयु से अधिक होती है। ऊंचा होने के कारण इसके तेल को हर पेड़ से निकाला जा सकता है। यह शरीर को कई बीमारियों से दूर करने के साथ साथ त्वचा एंव बाल से सबंधित समस्याओं को दूर करने के लिये उपयोगी होता है। इसलिये आज कपूर अपनी प्राकृतिक चिकित्सा गुणों के कारण ही व्यापक रूप से जाना जाता है। जो कि आयुर्वेद का एक महत्वपूर्ण हिस्सा भी माना गया है। आज हम आपको कपूर से होने वाले ऐसे कई फायदों के बारे में बता रहे है जो आपके स्वास्थ को ठीक रखने के साथ साथ बालों एंव त्वचा के लिये भी उपयोगी है।

कपूर (Camphor) का मुख्य इस्तेमाल पूजा के दौरान आरती में किया जाता है। कपूर में काफी तेज गंध होती है और यह एक अत्यंत ज्वलनशील पदार्थ है। निर्माण की प्रक्रिया के आधार पर और अलग अलग देशों में कपूर के अलग प्रकार मिलते हैं। कपूर रंगहीन, सफेद या पारदर्शी स्वरुप में चूर्ण या चौकोर आकृति का होता है। बहुत कम लोग जानते हैं कपूर का इस्तेमाल कई दवाइयां बनाने में भी किया जाता है। यहां कपूर (Bhimseni Kapoor Patanjali) के फायदे और गुणों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

आप अपने घरों में कपूर जरूर जलाते होंगे क्योंकि कपूर जलाने के फायदे बहुत हैं। कई घरों में नारियल तेल और कपूर का एक साथ इस्तेमाल किया जाता है। यह आपकी सेहत के लिए भी फायदेमंद भी होता है। आयुर्वेदिक दृष्टि से देखें तो कपूर कटु, तिक्त, मधुर और तीक्ष्ण स्वभाव का होता है। यह पाचक की तरह काम करता है और आंखों के लिए फायदेमंद है। हल्का तीखा, सुगन्धित और अधिक पराग वाला कपूर (Bhimseni Kapoor Patanjali) सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। आइये कपूर के फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

1. संक्रमणों को दूर करने में –

अक्सर हम देखते है कि जब हमारे पैर पानी में ज्यादा रहते है तो उनमें अत्याधिक नमी होने से पैरों में सफेद फफूंद सी पड़ जाती है यह पैरो में बढ़ते संक्रमण के कारण होता है। जिससे पैरों में फंगल संक्रमण बढ़ने लगता है। इस संक्रमण को दूर करने के लिये आप कपूर का इस्तेमाल कर इस समस्या से छुटकारा पा सकती है।

2. त्वचा की खुजली को दूर करने में –

हमारी त्वचा पर किसी भी प्रकार की जलन या खुजली हो तो आप तुरंत ही कपूर को पानी के साथ मिलाकर उस प्रभावी क्षेत्र पर लगा दे इसके अलावा कपूर को आप तेल के साथ मिलाकर लगायेगे तो और भी ज्यादा असरदार साबित होगा। इससे आपको खुजली जैसी समस्या से जल्द ही छुटकारा मिल जायेगा।

3. जले या कटे के निशान को दूर करने के लिये-

त्वचा पर किसी भी प्रकार के दाग व धब्बे को दूर करने के साथ कपूर का उपयोग कटे व जले हुए निशान को ठीक करने के लिए भी किया जा सकता है। इसका उपयोग करने के लिये आप थोड़े से पानी में कपूर के टुकड़े को मिलाकर उस जगह पर लगाये जहां का हिस्सा आपका जल या कट गया है। ये सूजन को दूर करने के साथ उस स्थान पर तुरंत राहत पहुंचाने का काम करता है।

4. बालों की ग्रोथ के लिये-

कपूर का तेल बालों की जड़ों को और उनकी ग्रोथ को मजबूत करने का सबसे बढ़िया प्रभावी उपाय माना जाता है। इसके लिये आप कपूर के तेल में, दही और अंडे को मिलाकर उसका मिश्रण तैयार कर बालों की जड़े पर लगाएं ये झड़े हुये बालों में दुबारा ग्रोथ करने की शक्ति प्रदान करता है। साथ ही इसकी मालिश करने से तनाव कम होता है और बालों को मजबूत कर उनका झड़ना रोकता है।

5. टूटते बालों को रोकने में-

बालों का झड़ना आजकल एक बहुत ही आम समस्या बन गई है। जो हर घरों पर सुनने को मिल सकती है। बालों के जड़ो को मजबूती प्रदान करने में कपूर अहम भूमिका निभाता है। कपूर को नारियल के तेल के साथ मिलाकर मालिश करने से रक्त का संचार तीव्र गति से होता है जिससे बालों में जान जाती है और बालों का झड़ना रूक जाता है बालों को मजबूती मिलती है।

6. कपूर के फायदे सिर दर्द में (Kapoor Benefits in Relief from Headache in Hindi)

सिरदर्द होना एक आम समस्या है, और हर उम्र के लोग इससे परेशान हैं। कपूर के फायदे से सिरदर्द से आराम मिल सकता है। शुण्ठी, लौंग, कर्पूर, अर्जुन की छाल और सफेद चंदन को समान मात्रा में लेकर पीस लें। इसे सिर पर लेप करने से सिरदर्द जल्दी ठीक हो जाता है।

आंखों की समस्याओं में कपूर के फायदे (Camphor Uses for Eyes Dissease in Hindi)

कपूर के चूर्ण को बरगद (वट) के दूध में पीसकर आंखों में काजल की तरह लगाने से आंखों से जुड़े रोगों में लाभ होता है।

कपूर का तेल मुँहासे करे दूर (Benefit of Camphor Oil to Treat Pimples in Hindi)

कपूर का प्रयोग त्वचा संबंधी रोगों से राहत दिलाने में किया जाता है, जैसे कि मुँहासे । कपूर में रोपण यानि  हीलिंग का गुण होता है जो कि मुहांसों को जल्दी ठीक करने में सहायता करता है। साथ हि कपूर में शीतल और शोथ को कम करने वाला गुण होने के कारण यह मुँहासे वाली जगह की शोथ  को कम कर मुहांसों को आने से भी रोकता है।

चेहरे से दाग मिटाने में कपूर के फायदे (Benefit of Camphor to Get Rid from Dark Spot and Pigmentation in Hindi)

चेहरे के दागों  को कम करने के लिए भी कपूर का प्रयोग किया जाता है। त्वचा में अधिक रूखापन होने की वजह से त्वचा शुष्क और दाग-धब्ब़ों वाली हो जाती है। कपूर को नारियल तेल में मिलाकर लगाने से त्वचा का रूखापन दूर हो जाता है साथ ही  चेहरे की त्वचा खिलने लगती है।  

फोड़े-फुंसी ठीक करने में कपूर फायदेमंद (Camphor Beneficial to Treat Boil in Hindi)

कपूर को फोड़े -फुंसी को  ठीक करने में भी प्रयोग करते है क्योंकि कपूर में एंटी -बैक्टिरीयल गुण होता है, जो कि फोड़े -फुंसियों को बढ़ने से रोकता है साथ ही उनको जल्दी ठीक करने भी सहायक होता है।

शरीर में सूजन कम करने के लिए कपूर के लाभ (Camphor Beneficial in Swelling in Hindi)

शरीर पर चोट लगने के करना या किसी अन्य कारण से सूजन आ गयी हो तो उसको कपूर के प्रयोग से इसे  कम किया जा सकता है, क्योंकि कपूर में शोथहर गुण होता है।इसके लिए कपूर को नारियल या किसी तेल में मिलकर लगाने से सूजन कम होती है।

लू लगने पर कपूर के फ़ायदे (Camphor Beneficial in Heatstroke in Hindi)

लू लगने पर कपूर का उपयोग फ़ायदेमंद होता है। लू लगने पर कपूर और नारियल के तेल के मिश्रण को शरीर पर लगाने या मसाज करने से जलन कम होती है साथ हि कपूर के इस्तेमाल से शरीर को शीतलता का एहसास होता है, जिससे लू के लक्षणों  से राहत मिलती है। 

कपूर और नारियल का तेल रूसी और बाल झड़ना रोकने में फायदेमंद (Camphor and Coconut Oil Beneficial to Treat Dandruff and Hair Loss in Hindi)

बालों में रूसी होने और बाल झड़ने के लिए नारियल तेल और कपूर का मिश्रण एक कारगर उपाय है।  कपूर में एंटी फंगल यानि एंटी डैंड्रफ का गुण पाया जाता है जो कि रूसी को कम करने के साथ -साथ बालों को झड़ने से भी रोकता है।  कपूर को नारियल तेल के साथ मिलाकर प्रयोग करने से ज्यादा लाभ मिलता है। 

खाँसी से राहत पाने में कपूर के फायदे (Benefit of Camphor in Cough in Hindi)

खाँसी की समस्या में कपूर का उपयोग फायदेमंद होता है। खाँसी यदि रात की नींद ख़राब कर रही है तो इसे शांत करने के लिए कपूर को सरसों या तिल के तेल में डाल कर कुछ समय के लिए रख दें। फिर इस तेल से पीठ और छाती पर हल्के हाथ से मालिश करें जिससे खाँसी शांत होती है, क्योंकि कपूर में कफ को शांत करने का गुण होता है। 

मच्छरों को भगाने के लिए कपूर का उपयोग (Use of Camphor to Remove Mosquitoes in Hindi)

मच्छरों को भागने में कपूर एक अचूक उपाय है क्योंकि  कपूर के जलने से एक प्रकार की सुगन्धित गंध निकलती है, जो कि मच्छरों को दूर भगाने में सहायक होती है। 

बवासीर के इलाज में कपूर का प्रयोग (Use of Camphor to Treat Piles in Hindi)

बवासीर के इलाज में कपूर का उपयोग किया जाता है विशेष तौर पर जब बवासीर के कारण गुदा मार्ग में दर्द या पीड़ा होती है। दर्द से राहत पाने के लिए कपूर को नारियल के तेल में मिलाकर बवासीर वाली जगह पर लगाने से वहां की सूजन में भी कमी आती है, साथ ही शीतलता का अनुभव होने से मलत्याग के होने वाली जलन और तकलीफ में भी आराम मिलता है।

कपूर के फायदे जुकाम में (Bhimseni Kapoor Benefits for Cold in Hindi)

मौसम के बदलने पर अधिकांश लोग सर्दी-जुकाम की चपेट में आ जाते हैं। जुकाम ऐसी समस्या है जिसमें नाक बहने, सिरदर्द की वजह से कोई भी काम करने का मन नहीं करता है। कपूर के सेवन से जुकाम को जल्दी ठीक किया जा सकता है। भीमसेनी कपूर के फायदे यहां भी मिलते हैं। कपूर को गर्म पानी में डालकर उससे निकलने वाली भाप को सूंघने से कफ से जुड़े रोगों और जुकाम में लाभ होता है।

नाक से खून बहने की भीमसेनी कपूर के फायदे  (Uses of Kapoor in Nasal Bleeding in Hindi)

अगर अक्सर बेवजह आपके नाक से खून निकलने लगता है तो कपूर के फायदे लेकर इस समस्या से राहत पा सकते हैं। इसके लिए कपूर को गुलाब जल में पीसकर 1-2 बूंद नाक में डालें। जल्दी ही नाक से खून निकलने की समस्या ठीक हो जाती है।

दांत दर्द से आराम पाने के लिए कपूर का उपयोग (Camphor Benefits for Toothache in Hindi)

आप पिछले कुछ दिनों से दांत के दर्द से परेशान हैं तो कपूर की मदद से दर्द से आराम पा सकते हैं। इसके लिए सोंठ चूर्ण में कर्पूर चूर्ण मिलाकर दांतों पर रगड़ें।

आप कपूर को दांतों के बीच दर्द वाले स्थान पर रखकर कुछ देर तक दबाएँ रखें। ऐसा कुछ दिन करने से दांत के दर्द से राहत मिलती है।

कपूर के गुण से मुंह के छालों में लाभ (Camphor Benefits in Mouth Ulcer Treatment in Hindi) 

कई बार ज्यादा मीठा खा लेने से या पेट की गर्मी की वजह से मुंह में छाले पड़ जाते हैं। 125 मिग्रा कपूर (Bhimseni Kapoor Patanjali) को मिश्री के साथ पीसकर लगाने से मुंह पकने की समस्या में लाभ होता है।

उल्टी से राहत पाने के लिए कपूर का सेवन (Beneftis of Camphor to Stop Vomiting in Hindi)

उल्टी या मिच्ल्ली आने पर अधिकांश लोग तुरंत दवाइयां खाकर राहत पाने की कोशिश करते हैं, लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आप कपूर कि मदद से भी उल्टियों से आराम पा सकते हैं। उल्टियां होने पर कपूर मिश्रित जल का सेवन करने से उल्टियां रुक जाती हैं।

हैजा (कॉलरा) में भीमसेनी कपूर के फायदे (Benefits of Camphor in Cholera in Hindi)

बरसात के मौसम में अक्सर लोग हैजा (कॉलरा) की चपेट में आ जाते हैं। खासतौर पर बच्चों को यह समस्या ज्यादा होती है। इस रोग से बचाव में कपूर (Bhimseni Kapoor Patanjali) काफी फायदेमंद है। पतंजलि के अनुसार, 125 मिग्रा कपूर का सेवन करने से कॉलरा में लाभ होता है।

मूत्र संबंधी रोग में कपूर के भीमसेनी कपूर के फायदे (Benefits of camphor for Urine Related problems in Hindi)

अगर पेशाब करते समय जलन या दर्द की परेशानी है तो कपूर के फायदे लेकर दर्द से राहत पा सकते हैं। इसके लिए कर्पूर चूर्ण की वर्ती बना लें। इसे लिंग के रास्ते (Urethra) में रखें। इससे पेशाब न आना और  पेशाब करते समय दर्द होने आदि समस्याओं में लाभ होता है।

योनि की जलन में कपूर का उपयोग (Camphor Benefits for vaginal Irritation in Hindi)

जिन महिलाओं को योनि में जलन या खुजली महसूस होती है उनके लिए कपूर काफी उपयोगी होता है।  इसके लिए 125 मिग्रा कपूर की गोली बनाकर योनि में रखें। ऐसा करने से योनि में होने वाली जलन और खुजली दोनों शांत हो जाती है।

गठिया के दर्द से आराम के लिए कपूर का उपयोग (Benefits of Kapoor for Arthritis in Hindi)

बढ़ती उम्र में घुटनों और जोड़ों में दर्द होना एक आम समस्या है। अधिकांश लोगों को यह समस्या गठिया रोग के कारण होती है। कपूर (Bhimseni Kapoor Patanjali) के प्रयोग से आप गठिया में होने वाले दर्द को कम कर सकते हैं। अपांप्म व कपूर को राई के तेल में मिलाकर मालिश करें। इससे गठिया के दर्द से आराम मिलता है।

जल जाने पर कपूर का गुण लाभदायक (Uses of Camphor in Burning in Hindi)

किचन में काम करते समय हल्का-फुल्का जल जाना आम बात है। जलन को कम करने के लिए और जले हुए हिस्से को जल्दी ठीक करने में कपूर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए सफेद चन्दन, कर्पूर और सुंगधबाला को समान मात्रा में लेकर पीस लें। जले हुए हिस्से पर इसका लेप लगाएं।

बिच्छू के काटने पर कपूर का गुण फायदेमंद (Benefits of Kapoor in Scorpion Bite in Hindi)

कपूर में ऐसे गुण होता है जो बिच्छू के विष के असर को कम कर देता है। अगर आपको या किसी परिचित को बिच्छू ने काट लिया है, तो कपूर को सिरके में पीसकर उस जगह पर लगाएं। इससे विष का असर जल्दी खत्म हो जाता है।

कपूर का इस्तेमाल कैसे करें? (How to Use Camphor in Hindi?)

अनेक जगह नारियल तेल और कपूर का उपयोग खजुली आदि की रोकथाम के लिए किया जाता है, तो कई स्थानों पर कपूर को जलाकर फायदे लिए जाते हैं, लेकिन  किसी भी रोग के इलाज में कपूर की कोई विशेष मात्रा निर्धारित नहीं है। हमेशा कपूर का उपयोग चिकित्सक की सलाह के अनुसार ही करें।

कपूर कहां पाया या उगाया जाता है? (Where is Camphor Found or Grown in Hindi?)

अधिकांश लोग नहीं जानते हैं कि कपूर कैसे बनाया जाता है। आप भी नहीं जानते हैं तो जान लीजिए कि भारत में अब ज्यादातर कपूर रासायनिक विधि द्वारा बनाया जाता है। प्राकृतिक कपूर पश्चिम बंगाल, उत्तराखण्ड, कर्नाटक, तमिलनाडू, केरल, नीलगिरी तथा कर्नाटक में पाया जाता है।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

50 से ज्यादा बिमारियों का इलाज है हरसिंगार (पारिजात)

गहरी और अच्छी नींद लेने के लिए घरेलू उपाय !!

गेंहू जवारे का रस, 300 रोगों की अकेले करता है छुट्टी

मात्र 16 घंटे में kidney की सारी गंदगी को बाहर निकाले

किसी भी नस में ब्लॉकेज नहीं रहने देगा यह रामबाण उपाय

Babool Fali ke Fayde, बबूल की फली घुटनों के दर्द का तोड़

पुरुषों के लिए वरदान है इलायची वाला दूध

बुढ़ापे तक रहना है जवान तो मेथीदाना खाना शुरू कर दीजिये

खाली पेट गर्म पानी के साथ काली मिर्च खाने से होगा ऐसा असर

कमर दर्द (Back Pain) का कारण और राहत के लिए घरेलू उपाय

तेजपत्ता हैं शरीर के लिए काफी लाभदायक

मांस से भी १०० गुना ज्यादा ताकतवर है ककोरा की सब्जी

विटामिन K की कमी को दूर करने के घरेलू उपाय

सहजन खाने से होती है 300 से ज्यादा बड़ी बीमारिया दूर

धतूरे के फायदे और घरेलू आयुर्वेदिक उपचार

चूना खाने के आश्चर्यजनक फायदे, जो शायद आप न जानते हों

सोते समय सिर किधर रखें और पैर किधर, ध्यान रखें ये बातें

रोज सुबह पिए 1 ग्लास लौंग का पानी, 21 दिनों में १० किलो वजन घटाएं

लहसुन वाला दूध 1 महीने तक सोने से पहले पी लें, 7 बीमारियां होगी दूर

मुनाफे के 30 बिजनेस जिन्हें आप शुरू कर सकते हैं कम पूँजी में

कोरोना से भी खतरनाक होगा चिकन से फैलने वाला ये वायरस

दिल्ली से बिहार के बीच बड़े भूकंप का खतरा? 8.5 हो सकती है तीव्रता

थायराइड को जड़ से खत्म करेगा इस औषधि का प्रयोग

चुपचाप काले कपड़े में फिटकरी बांधकर यहाँ रख दे

50 अलग अलग बीमारियों के लिए जानिए रामबाण घरेलू उपाय

ज्योतिष के अनुसार कोरोनावायरस का अंत कैसे और कब होगा?

कब्ज का रामबाण इलाज हैं ये घरेलू उपाय

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

This Post Has 3 Comments

  1. Shakil ahmad

    I have ring worm and also psoriasis

    1. admin

      You will get remedy for Both problems tomorrow.
      please visit our website again tomorrow for remedies.

    2. admin

      we will upload remedies for both problems tomorrow.
      please visit our website again tomorrow to see remedies.

Leave a Reply