You are currently viewing भिंडी के 10 फायदे !!

भिंडी के 10 फायदे !!

Spread the love

1. मधुमेह (daibetes): 

भिंडी कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, प्रोटीन और प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध है। इसके अंदर पाए जाने वाले एंटीडायबिटिक और एंटीहाइपरलिपिडेमिक गुणों के कारण यह मधुमेह को नियंत्रित कर सकती है। इसलिए, मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए भिंडी उत्तम आहार हो सकती है।

2. उत्तम पाचन शक्ति के लिए

भिंडी में फोलेट, थियामिन, पायरीडॉक्सीन, विटामिन-ए व विटामिन-सी जैसे पोषक तत्वों के साथ ही उच्च मात्रा में फाइबर भी पाया जाता है। फाइबर हमारे पाचन तंत्र के लिए बहुत लाभकारी होता है। भिंडी के सेवन से पाचन तंत्र में सुधार के साथ ही कब्ज व गैस जैसी कई समस्याओं से छुटाकरा मिलता है। अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित करना भिंडी के गुण में शुमार है।

3. हृदय के लिए स्वास्थ्यवर्धक

भिंडी में दो प्रकार के फाइबर पाए जाते हैं, घुलनशील और अघुलनशील फाइबर। घुलनशील फाइबर कोलेस्ट्रॉल सीरम को कम करने और हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद करता है। साथ ही यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़कर हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है। अघुलनशील फाइबर मल को आंतों के रास्ते आसानी से निकालने में मदद करता है।

4. कैंसर में फायदेमंद

कैंसर से बचने के लिए भी आप भिंडी का सेवन कर सकते हैं। खासकर, कोलोरेक्टल कैंसर से बचने के लिए आप भिंडी को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। वैज्ञानिक अध्ययन ने खुलासा हुआ है कि भिंडी में एंटीऑक्सीडेंट, न्यूरोप्रोटेक्टिव, एंटीडायबिटिक, एंटीहाइपरलिपिडेमिक और थकावट रोधी गुण होते हैं। ये सभी गुण आपको कैंसर से बचाने में मदद करते हैं। भिंडी में मौजूद लेक्टिन से स्तन कैंसर का इलाज भी किया जा सकता है।

5. कब्ज के लिए है रामबाण इलाज

भिंडी के फायदे बीमारियों के इलाज के लिए भी हैं। भिंडी फाइबर से समृद्ध है, जो पानी को अवशोषित करके मल को मुलायम बनाती है। इसलिए, कब्ज की समस्या होने पर भिंडी का सेवन किया जा सकता है। भिंडी में एक प्रकार का चिकना पदार्थ भी पाया जाता है, जो मल को आसानी से बाहर निकालने के लिए आंतों में ल्यूब्रीकेंट की तरह काम करता है।

6. आंखों के विकार को दूर करें

भिंडी को विटामिन-ए का मुख्य स्रोत माना गया है। जहां यह पोषक तत्व सफेद रक्त कोशिकाओं के निर्माण में सहायक होता है, वहीं आंखों की सेहत और अच्छी रोशनी के लिए भी जरूरी हैं। भिंडी के सेवन से आंखों से जुड़ी मोतियाबिंद जैसी बीमारी से भी बचा जा सकता है।

7. बड़ते वजन के लिए है कारगर

भिंडी कम कैलोरी और उच्च घुलनशील फाइबर के लिए जानी जाती है। अपने आहार में भिंडी को शामिल करने से पाचन तंत्र मजबूत होगा। जो लोग अपना वजन करना चाहते हैं, उनके लिए फाइबर की मात्रा बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है। फाइबर भोजन को आराम से पचाता और भरपूर ऊर्जा प्रदान करता है। इससे भूख कम लगती है और वजन को कम करने में मदद मिलती है। इसलिए, भिंडी को उन सब्जियों में से एक माना जाता है, जिन्हें आप अपने वजन घटाने के लिए आहार में शामिल कर सकते हैं।

8. रक्तचाप को करे नियंत्रित

भिंडी में पाया जाने वाला साेडियम रक्तचाप को नियंत्रित कर शरीर को रक्तचाप से होने वाले जोखिम से बचाता है। सोडियम के अंदर इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं, जो शरीर में रक्तचाप को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाते हैं।

9. गर्भावस्था में फायदेमंद

भिंडी में फोलेट पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। वहीं, गर्भावस्था के दौरान भ्रूण के स्वस्थ विकास के लिए फोलेट की जरूरत होती है। गर्भवती महिला के शरीर में फोलेट की कमी होने से शिशु को न्यूरल ट्यूब दोष हो सकता है। इसमें शिशु का मस्तिष्क व रीढ़ की हड्डी प्रभावित हो सकती है। इसलिए, भ्रूण और गर्भवती मां दोनों के लिए फोलेट फायदेमंद है। गर्भावस्था के पहले और दौरान फोलिक एसिड की सही मात्रा लेने से शिशु को स्पाइना बिफिडा यानी न्यूरल ट्यूब दोष (रीढ़ की हड्डी का जन्मजात दोष) से बचाया जा सकता है।

गर्भावस्था के दौरान आयरन की भी खासी जरूरत होती है। ऐसे में भिंडी में पाया जाने वाला आयरन बच्चे के विकास में सहायक होता है। इसके अलावा, लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में भी मदद करता है ।

10. स्वस्थ त्वचा के लिए उपयोगी

भिंडी खाने से आपकी त्वचा स्वस्थ और चमकदार हो सकती है। इसमें विटामिन-सी और विटामिन-ए जैसे पोषक तत्व होते हैं, जो स्वस्थ त्वचा कोशिकाओं को बढ़ने में मदद करते हैं। आप अपने चेहरे पर भिंडी लगा भी सकते हैं। इससे त्वचा की कोशिकाओं में मॉइस्चराइजर बना रहता है, जिससे त्वचा नरम व कोमल बनी रहती है।

Leave a Reply