You are currently viewing बिच्छू बूटी (बिछुआ पत्ती) के 10 फायदे !!

बिच्छू बूटी (बिछुआ पत्ती) के 10 फायदे !!

Spread the love

1. ह्रदय और लिवर के लिए बिच्छू बूटी के फायदे

अगर बिच्छू बूटी के फायदे की अगर बात करें, तो यह ह्रदय और लिवर दोनों के लिए लाभकारी है। बिच्छू बूटी के इथेनॉलिक एक्सट्रैक्ट (Ethanolic extract) का प्रयोग करने से एथेरोस्क्लोरोटिक से बचा जा सकता है। एथेरोस्क्लोरोटिक एक प्रकार की ह्रदय की धमनियों से जुड़ी समस्या होती है। इसमें दिल का दौरा या अन्य ह्रदय संबंधी रोग होने का खतरा रहता है। इतना ही नहीं बिच्छू बूटी में हेपटोप्रोटेक्टिव (hepatoprotective) असर भी होता है, जिससे लिवर संबंधी समस्या से बचाव हो सकता है।

2. प्रोस्टेट के लिए बिच्छू बूटी के फायदे

अगर गंभीर बीमारियों की बात करें, तो प्रोस्टेट बढ़ना भी उन्हीं में से एक है। प्रोस्टेट बढ़ना या प्रोस्टेट कैंसर दोनों ही घातक हो सकते हैं। यह एक ग्रंथि होती है, जो पुरुष की आयु के साथ-साथ बढ़ती रहती है, लेकिन जरूरत से ज्यादा बढ़ने पर प्रोस्टेट कैंसर का खतरा हो सकता है। ऐसे में वक्त रहते इस पर ध्यान देना जरूरी है। अगर प्रोस्टेट कैंसर से बचाव करना है, तो बिच्छू बूटी से काफी लाभ हो सकता है। यह बूटी प्रोस्टेट को जरूरत से ज्यादा बढ़ने से रोक सकता है, लेकिन इस पर अभी और शोध होना बाकी है।

3. बुखार, दमा और एलर्जी के लिए बिच्छू बूटी के फायदे

आजकल मौसम बदलते ही बुखार या एलर्जी की समस्या आम है। इस स्थिति में बिच्छू बूटी का उपयोग काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। मौसम बदलने से होने वाली एलर्जी जैसे -रायनाइटिस और उससे होने वाली समस्याएं यानी नाक बहना, नाक में खुजली की समस्या व बुखार इन सबसे राहत मिल सकती है। इतना ही नहीं बिच्छू बूटी में मौजूद एंटी-अस्थमैटिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण दमा की परेशानी से भी राहत दिला सकते हैं ।

4. मासिक धर्म, पीसीओएस और प्रजनन संबंधी समस्याओं के लिए बिच्छू बूटी

मासिक धर्म यानी पीरियड्स महिलाओं को हर महीने होने वाली एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। हालांकि, यह किसी को ज्यादा और किसी को कम होती है, लेकिन कई बार कुछ महिलाओं को अनियमित पीरियड्स और कुछ को जरूरत से ज्यादा रक्त बहाव होता है। ऐसे में डॉक्टर की सलाह के बाद दवा के रूप में बिच्छू बूटी का उपयोग किया जा सकता है। इससे अत्यधिक रक्त स्राव की समस्या से राहत मिल सकती है।

5. घावों को भरने और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के लिए बिच्छू बूटी

चोट लगने या घाव होने पर लोग घरेलू उपायों व आयुर्वेदिक औषधियों का उपयोग किया जाता है। अगर औषधि की बात करें, तो घावों और चोट के लिए बिच्छू बूटी अच्छा उपाय है। बिच्छू बूटी में पाया जाने वाला हाइड्रोअल्कोहलिक एक्सट्रैक्ट (hydroalcoholic extract) घावों को भरने में मददगार साबित हो सकता है। साथ ही इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी व एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो घावों को भरने में लाभकारी साबित हो सकते हैं। इतना ही नहीं यह जलने के घाव से भी राहत दिला सकता है।

6. ब्लड प्रेशर के लिए बिच्छू बूटी के फायदे

अधिकतर लोगों को उच्च रक्तचाप यानी हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है। कुछ लोग तो हाई ब्लड प्रेशर के लिए दवाइयां तक लेते हैं। ऐसी स्थिति में डॉक्टर की देखरेख में नेटल लीफ यानी बिच्छू बूटी का उपयोग फायदेमंद हो सकता है। इसमें एंटी-हाइपरटेंसिव गुण (antihypertensive) यानी ब्लड प्रेशर को कम करने का गुण होता है। फिर भी इसका इस्तेमाल डॉक्टर से पूछकर ही करें और जिन्हें निम्न रक्तचाप यानी लो ब्लड प्रेशर की समस्या है, वो इसका सेवन न ही करें।

7. एंटी-अल्सर गुण के साथ बिच्छू बूटी

पेट की समस्या जैसे – एसिडिटी, पेट दर्द और ऐसी अन्य कई परेशानियां आम हैं और उन्हीं में से एक है अल्सर की समस्या। यह समस्या गलत खान-पान के कारण होती है, जो कई बार गंभीर रूप ले लेती है। इस स्थिति में नेटल लीफ के सेवन से कुछ हद तक आराम मिल सकता है। बिच्छू बूटी में एंटी-अल्सर गुण मौजूद होते हैं, इसके अलावा यह एसिडिटी से भी राहत दिला सकता है। इतना ही नहीं इसमें दर्दनाशक गुण (analgesic) भी है, जिससे दर्द संबंधी समस्या से राहत मिल सकती है ।

8. ऑस्टियोअर्थराइटिस के लिए नेटल लीफ

उम्र के साथ-साथ कुछ शारीरिक समस्याएं होना आम है और ऑस्टियोअर्थराइटिस भी उन्हीं में से एक है। यह एक प्रकार का गठिया है और कई लोग इससे परेशान रहते हैं। इसमें जोड़ों में खासकर, घुटनों, कलाई और शरीर के अन्य जोड़ों में दर्द व सूजन की समस्या होती है। इस स्थिति में नेटल लीफ लाभकारी हो सकता है। इसका एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण गठिया से राहत दिला सकता है, लेकिन अभी भी ठोस प्रमाण की जरूरत है।

9. त्वचा के लिए बिच्छू बूटी

जब बिच्छू बूटी के पत्ते त्वचा के संपर्क में आते हैं, तो इससे त्वचा पर जलन, रैशेज, चुभन या खुजली की समस्या हो सकती है। आपको सुनकर आश्चर्य हो सकता है कि इसके बावजूद नेटल लीफ को त्वचा संबंधी परेशानियां जैसे – एक्जिमा व दाद में भी उपयोग किया जा सकता है। फिर इसे उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें, क्योंकि हर किसी की त्वचा एक जैसी नहीं होती है। जरूर नहीं कि यह किसी को त्वचा को सूट करे।

10. बालों के लिए बिच्छू बूटी के फायदे

स्वस्थ, सुन्दर और घने बालों की इच्छा लगभग हर किसी को होती है। वहीं, प्रदूषण और देखभाल की कमी के कारण बाल रूखे व बेजान होकर टूटने लगते हैं। ऐसे में कई लोग आयुर्वेदिक औषधि और कुछ नुस्खों का भी सहारा लेते हैं। इन्हीं में से एक है बिच्छू बूटी, इसे बालों के लिए पारंपरिक चिकित्सा के तौर पर उपयोग किया जा सकता है। एक शोध के अनुसार, बिच्छू बूटी के साथ कुछ अन्य हर्बल चीजों को मिलाकर उपयोग में लाया जा सकता है। इससे बालों का झड़ना कम हो सकता है। इसके अलावा, नेटल लीफ से गंजेपन की समस्या से भी बचाव हो सकता है ।

Leave a Reply