You are currently viewing किसी भी नस में ब्लॉकेज नहीं रहने देगा यह देसी फार्मूला

किसी भी नस में ब्लॉकेज नहीं रहने देगा यह देसी फार्मूला

Spread the love

आजकल लोगों का खान-पान इतना बिगड़ गया है कि इसके कारण वो किसी ना किसी बीमारी की चपेट में हैं। इन्हीं में से एक समस्या है नस ब्लॉकेज की, जो युवाओं में भी काफी देखने को मिल रही थी। हालांकि इसका एक कारण काफी हद तक बढ़ता प्रदूषण भी है।

पहले जहां यह समस्या 60-70 की उम्र में दिखाई देती थी वहीं आजकल लोग 30-35 की उम्र में भी इस परेशानी को झेल रहे हैं। नस ब्लॉकेज होने पर धमनी रोग, परिधीय धमनी रोग, लकवा, और हार्ट अटैक का खतरा काफी बढ़ जाता है। ऐसे में बहुत जरूरी है कि इस समस्या को समय रहते दूर किया जाए।

शोध के अनुसार, करीब 40-60% लोगों की धमनियां कमजोर है। वहीं 20% महिलाओं को गर्भावस्था के बाद यह परेशानी होती है। इसकी पहचान सही समय पर नहीं हो पाती, जिसका असर वैरिकाज वेंस (varicose veins) के रूप में सामने आता है।

दरअसल, बुरे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से नसों में खून का प्रवाह अच्छे से नहीं होता, जिससे पैरों में सूजन व नसों के गुच्छे बनने शुरू हो जाते हैं, जो बाद में ब्लॉकेज का रूप ले लेता है।

PunjabKesari

ब्लॉक नसों को खोलने के लिए सर्जरी व दवाओं का सहारा लिया जाता है जो काफी महंगा इलाज है। वहीं इस बात की गंरटी भी नहीं होती कि इससे आपको इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। ऐसी स्थिति में आप किचन में मौजूद चीजों के मिश्रण से अपने शरीर की कोई भी नस खोल सकते हैं। आइए जानते हैं एक ऐसा घरेलू नुस्खा, जो आपकी बंद नसों को खोलने में मदद करेगा।

1 ग्राम – दालचीनी
10 ग्राम – काली मिर्च (साबुत)
10 ग्राम – तेज पत्ता
10 ग्राम – मगज सीड्स (खरबूजे के बीज)
10 ग्राम – मिश्री- दस ग्राम।
10 ग्राम – अखरोट (टूटा हुआ)
10 ग्राम – अलसी के बीज

PunjabKesari

इसके लिए आप सारी सामग्री को मिक्स में डालकर एक दम स्मूद ब्लैंड कर लें। पिसे हुए मिश्रण को एक सामान दस हिस्सों में बांटकर किसी कागज या पन्नी में रख लें। अब यह मिश्रण इस्तेमाल के लिए बिल्कुल तैयार है।

रोजाना खाली पेट इस मिश्रण के एक पुड़िया को हल्के गुनगुने पानी के साथ लगातार 10 दिनों तक लें। ध्यान रखें कि दवा खाने के आधे घंटे तक किसी भी चीज का सेवन ना करें, चाय तो बिल्कुल ना पिएं। नाश्ता भी 2-3 घंटे तक ही पिएं। नियमित रूप से इसका सेवन करने पर आप खुद फर्क महसूस करें।

रोजाना इस मिश्रण को लेने से ब्लॉक नसें खुल जाएगी, जिससे दिल के रोग के साथ लकवे का खतरा भी काफी हट तक कम हो जाएगा। दिल के रोग और लकवे से व्यक्ति की जान भी जा सकती हैं। ऐसे में बेहतर तो यही है कि पहले इस अपनी स्थिति को कंट्रोल में रखें।

अगर आपको एंजिओयोप्लास्टिक की समस्या से जूझ रहे हैं तो, यह नुस्खा आपके काफी काम आ सकता है। अगर आप की बाई पास सर्जरी हुई है तो स्टंट डलवाने के बाद स्टंट के अगल-बगल कैल्शियम का जमाव होने लगता है जिसके कारण नसें ब्लॉक हो जाती है। कैल्शियम के अलावा कोलेस्ट्रॉल भी हमारी नसों को बहुत अधिक प्रभावित करता है।

ऐसी अवस्था हो जाने पर हमारे दोबारा ऑपरेशन करके स्टंट डलवाने की जरूरत होती है। बार-बार ऑपरेशन करवाने से खर्चा तो आता ही है साथ ही यह हमारे शरीर के मेंटल और फिजिकल कार्यों में भी अपना बुरा नुकसान पहुंचाता है। मगर ऊपर बताए गए नुस्खे को प्रयोग में लाने से, जिन नसों में कैल्शियम और कोलेस्ट्रॉल का जमाव हुआ था वह 10 दिन के भीतर बिल्कुल खत्म हो जाएगा और आपकी ब्लॉक नसें पहले जैसे काम करने लगेंगी।

हार्ट अटैक और लकवे की समस्या से छुटकारा

जब शरीर की नसें ब्लॉक हो जाती है तो हार्ट ब्लॉकेज की संभावना बहुत बढ़ जाती है। इसके अलावा लकवा भी अपने चरम सीमा पर पहुंच जाता है। ऐसी स्थिति आ जाने पर, देरी करके, आपके जान पर बन सकती है। ऐसी अवस्था में ऊपर बताए गए नुस्खे को प्रयोग में लाना चाहिए। यह शरीर कि, प्रत्येक ब्लॉक नसों को खोलकर हार्ट अटैक और लकवे के खतरे को कम कर देता है।

PunjabKesari

आजकल सबसे ज्यादा दिल की बिमारियों से जुड़ी तकलीफ होती है। इसके अंतर्गत नसों के ब्लॉकेज की समस्या बहुत देखी जा रही हैं जो आगे चलकर हार्ट स्टोक का खतरा बन सकता हैं। इसलिए आज हम आपके लिए कुछ ऐसे उपाय लेकर आए है जिनकी मदद से नसों के ब्लॉकेज की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता हैं। तो आइये जानते है इन उपायों के बारे में।

एवोकाडो

एवोकाडो में मौजूद मिनरल्स, विटामिन्स रक्त कोशिकाओं में कोलेस्ट्रॉल जमा नहीं होने देते। इससे नस ब्लॉकेज की समस्या से बचे रहते है।

ड्राई फ्रूट्स

रोजाना कम से कम 50-100 ग्राम बादाम, अखरोट और पेकन (Pecan) का सेवन आपकी रक्त कोशिकाओं में कोलेस्ट्रॉल जमा नहीं होने देता। इससे आप ब्लाकेज की समस्या से बचे रहते है।

हल्दी

एक गिलास गुनगुने दूध में 1 चम्‍मच हल्‍दी पाउडर और थोड़ा-सा शहद मिलाकर पीने से भी बंद नसें खुल जाती है।

अलसी के बीज

रात को अलसी के बीज पानी में भिगों दें। सुबह इसे पीसकर पानी में उबाल कर काढ़ा बनाकर पीएं। इससे कुछ दिनों में ही ब्लॉक नसें खुल जाएगी

लहसुन

बंद धमनियों की समस्या होने पर 3 लहसुन की कली को 1 कप दूध में उबाल कर पीएं। इसके अलावा अपने आहार में लहसुन का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल और हार्ट स्टोक का खतरा कम हो जाता है।

अनार का जूस

एंटीऑक्सीडेंट, नाइट्रिक और ऑक्साइड के गुणों से भरपूर अनार के 1 गिलास जूस का रोजाना सेवन आपको धमनियों की ब्लोकेज के साथ कई हेल्थ प्रॉब्लम से दूर रखता है।

ध्यान रखें कि यह सिर्फ एक नुस्खा है, जरूरी नहीं की यह हर किसी को फायदा पहुंचाए इसलिए इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

This Post Has 9 Comments

  1. NIBHA RANI

    Very nice.
    Home made medicine.

Leave a Reply