All Ayurvedic

दमा, अस्थमा, खांसी जुकाम और साँस की बीमारियों में फायदेमंद होता है दालचीनी

वातावरण में इतना प्रदुषण फ़ैल गया है  जिसके कारण कभी कभी सांस लेने में भी तकलीफ होने लगती है, कभी कभी ये समस्या इतनी बढ़ जाती है की अस्थमा की…

Continue Reading दमा, अस्थमा, खांसी जुकाम और साँस की बीमारियों में फायदेमंद होता है दालचीनी

पेट की चर्बी मक्खन की तरह पिघल जाएगी, 30 साल पुराना मोटापा भी चला गया

वजन घटाने के लिए त्रिफला चूर्ण का ऐसे करें इस्तेमाल, हफ्तेभर में कम होगा मोटापा

त्रिफला चूर्ण (Triphala For Weight Loss) से आप हफ्तेभर में अपना वजन कम (Weight Loss Tips) कर सकते हैं। इसे आप कई तरीकों से इस्तेमाल कर सकते हैं। जानिए कैसे बस एक चूर्ण से आप पा सकते हैं फिट बॉडी। वजन घटाने (Weight Loss Tips) के लिए कई बेहतरीन घरेलू उपाय (Home Remedies For Weight Loss) आपको मिल जाएंगे। ये तरीके ना सिर्फ आपका मोटापा और वजन कम करेंगे, बल्कि इससे आप फिट और हेल्दी भी रहते हैं। आपके घर में ही ऐसी कई चीजें मिल जाएंगी, जो तेजी से वजन कम करने में मददगार होती हैं। इन्हीं में से एक है त्रिफला।

आंवला, हरद और बहेड़ा से मिलकर बना त्रिफला चूर्ण (Triphala For Weight Loss) आपके पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है। इससे ना सिर्फ खाना अच्छी तरह पचता है, बल्कि आपके बॉडी में फ्लूयड की मात्रा नॉर्मल रखता है और साथ ही आपको ओवरइंटिंग से भी बचता है। ये आपके शरीर से गंदगी और एक्सट्रा फैट खत्म करने में भी असरदार होता है। इन सब वजहों से ये वजन घटाने में मदद करता है। जानिए इसे कैसे करें इस्तेमाल।

त्रिफला एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका उपयोग प्राचीन काल से विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है। यह तीन ड्राई फ्रूट्स आंवला, बहेड़ा और हरड़ से मिलकर बनाया जाता है जिसका बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है। सेहत के लिए कई फायदों से भरपूर होने के कारण त्रिफला को पॉलीहर्बल औषधि भी कहा जाता है। माना जाता है कि त्रिफला का सेवन करने से उम्र बढ़ती है और शरीर के पुराने विकार दूर हो जाते हैं। इसके अलावा त्रिफला शरीर के अनचाहे फैट को दूर करने में मदद करता है। अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो आपको त्रिफला का सेवन जरूर करना चाहिए।

नोट- इसके लिए आपको त्रिफला चूर्ण की जरूरत पड़ेगी, जो आपको मार्केट में मिल जाएगा। आप चाहे तो इसे ऑनलाइन भी मांगा सकते हैं।

जानिए इसे कैसे करें इस्तेमाल-

तरीका 1-
एक चम्मच त्रिफला पाउडर करीब 200 ml पानी में रातभर के लिए भिगोकर रख दें। अगले दिन सुबह इस मिश्रण को तब तक उबलते रहें जब तक इसका पानी आधा ना हो जाए। फिर इसे ठंडा होने के लिए रख दें। इससे चूर्ण नीचे बैठ जायेगा। इसके बाद पानी को छानकर उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करें।

तरीका 2-
एक गिलास पानी में एक बड़ा चम्मच त्रिफला पाउडर और चुटकीभर दालचीनी की मिलाकर रात भर के लिए छोड़ दें। सुबह में इसमें एक बड़ा चम्मच शहद मिलाकर पिएं। कुछ दिनों तक ऐसा हर रोज करें और पेट की चर्बी से छुटकारा पाएं।

तरीका 3-
रातभर के लिए दो बड़े चम्मच त्रिफला पाउडर एक ग्लास ठंडे पानी में भिगोकर छोड़ दें। कुछ दिनों तक रोजाना सुबह खाली पेट इसे पिएं।

तरीका 4-
एक कप पानी में दो छोटे चम्मच त्रिफला पाउडर मिलाकर करीब 30 सेकेंड तक उबालें। फिर इसे छान लें और ठंडा होने दें। इसे चाय की तरह पिएं। इसमें आप चाहें, तो नींबू का रस और अलसी के बीज भी मिला सकते हैं।

पेट और कमर की चर्बी को मक्खन की तरह पिघलाएगा यह नुस्खा, आजमाएं और देखे कमाल

मोटापा अधिक होने के कारण हमारा शरीर बेडौल दिखने लगता है. खासकर तब जब पेट व कमर पर चर्बी जमा हो जाती है. ऐसे में महिला हो या पुरुष खुद से उदास रहने लगते हैं. उनके मन में यह बात हमेशा चलने लगती है कि सामने वाला हमें देखकर क्या कहता होगा. हालांकि मोटापा किसी एक के लिए नहीं बल्कि काफी लोगों में देखा जाता है ऐसे में शर्मिंदा होने की कोई बात नहीं है लेकिन मोटापा कई रोगों का कारण भी बन सकता है. इसलिए इसे कम करना जरूरी हो जाता है.

आज हम आपको एक ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं. जिसकी मदद से आप मोटापे की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं. बढ़ी हुई पेट व कमर की चर्बी को आसानी से घटा सकते हैं. चलिए जानते हैं उस नुस्खे के बारे में-
मोटापा को कम करने में त्रिफला चूर्ण आपकी मदद कर सकता है. त्रिफला चूर्ण हरे, बहरा और आंवले से बना हुआ चूर्ण होता है जो आप आसानी से घर पर भी कूट पीसकर तैयार कर सकते हैं. मोटापे की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप एक चम्मच त्रिफला चूर्ण में चुटकी भर खाने का सोडा को अच्छी तरह से मिलाकर चबा- चबाकर रात को सोने से पहले खाएं और गुनगुना पानी पी लें. साथ ही सुबह के समय एक गिलास गुनगुने पानी में एक नींबू निचोड़ कर प्रतिदिन पिएं. नियमित ऐसा करने से आप की बढ़ी हुई चर्बी कम होने लगेगी.

त्रिफला शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर पेट, छोटी आंत और बड़ी आंत को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह कोलोन टोनर के रूप में भी काम करता है। कोलोन के ऊतकों को मजबूत बनाने और टोनिंग में मदद करता है जिससे शरीर का वजन कम होता है। इसके अलावा यह आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी पाचन तंत्र के कब्ज और सूजन को भी कम करने में प्रभावी है। सिर्फ यही नहीं, त्रिफला कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है और शरीर को फूलने से रोकता है।

इन तीन चीजों से बनता है त्रिफला

आंवला-

इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालने में मदद करता है। आंवला अग्नाश्य को स्वस्थ रखता है और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखने के साथ ही हड्डियों को मजबूत बनाता है।

​बहेड़ा-

यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है और मांसपेशियों एवं हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत बनाता है।

​हरड़-

यह अखरोट के आकार का एक फल है जो सेहत के लिए फायदेमंद होता है। हरड़ एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है। यह गले के दर्द, एलर्जी, कब्ज और अपच सहित अन्य स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करता है।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

(more…)

Continue Reading पेट की चर्बी मक्खन की तरह पिघल जाएगी, 30 साल पुराना मोटापा भी चला गया

पेट की गैस की दिक्कत से रहते हैं परेशान, तो अपनाएं यह घरेलू नुस्खे

भारतीयों में फूडी होना एक आम बात है और इसलिए गैस्ट्रिक समस्याएं भी उत्पन्न होना लाज़मी है। अपच, गैस, सूजन, हिचकी, पेट दर्द, अल्सर, और मतली, गैस्ट्रिक समस्याओं की कुछ…

Continue Reading पेट की गैस की दिक्कत से रहते हैं परेशान, तो अपनाएं यह घरेलू नुस्खे

खराब किडनी को ठीक कर सकता है यह पौधा

किडनी खराब होने की शिकायतें बढ़ रही हैं. क्रॉनिक किडनी डिजीज (CKD) वास्तव में किडनी के फेल होने का मेडिकल नाम है. हमारा शरीर एक अनोखे मशीन की तरह काम…

Continue Reading खराब किडनी को ठीक कर सकता है यह पौधा

थायराइड के लक्षण, कारण, घरेलू उपचार और परहेज

  थायरॉइड से सम्बन्धित बीमारी अस्वस्थ खान-पान और तनावपूर्ण जीवन जीने के कारण होती है। आयुर्वेद के अनुसार, वात, पित्त व कफ के कारण थायरॉइड संबंधित रोग होता है। जब शरीर…

Continue Reading थायराइड के लक्षण, कारण, घरेलू उपचार और परहेज

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण, कारण और घरेलू उपाय

आपके शरीर की किडनी जब किसी वजह से अपना काम सही तरह से नहीं कर पाती है तो यूरिक एसिड की समस्या होने लगती है। किडनी का काम है हानिकारक…

Continue Reading यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण, कारण और घरेलू उपाय

सरसों के तेल से तलवों पर कीजिये मालिश – फायदे जान कर चौंक जायेंगे

सरसों का तेल हर भारतीय महिला की रसोई का हिस्सा है. लेकिन इसका इस्तेमाल खाने तक ही सीमित नहीं है बल्कि पूरे शरीर की सेहत के लिए बढ़िया है. मालिश…

Continue Reading सरसों के तेल से तलवों पर कीजिये मालिश – फायदे जान कर चौंक जायेंगे

गुलाब के फूल – कई रोगों की रामबाण दवा

गुलाब का नाम सुनते ही होंठो पर एक हल्की  मुस्कान आ जाती है, हैं न। यह एक ऐसा फूल है जिसका पौधा कंटीला होने के बावजूद  फूल इतना मनमोहक होता…

Continue Reading गुलाब के फूल – कई रोगों की रामबाण दवा

घुटनों के दर्द से आराम दिलाएं ये घरेलू नुस्खे

सबसे सामान्य तरह का गठिया हड्डी का गठिया होता है। इस तरह के गठिया में, लंबे समय से उपयोग में लाए जाने अथवा व्यक्ति की उम्र बढ़ने की स्थिति में…

Continue Reading घुटनों के दर्द से आराम दिलाएं ये घरेलू नुस्खे

एनीमिया के कारण और घरेलू उपचार

रस-रक्तादि धातुओं में पित्त प्रधान त्रिदोष के कारण धातुओं के पोषण क्रम में शिथिलता उत्पन्न हो जाती है। दोषों के कारण बल, वर्ण और ओज के गुणों का क्षय होने…

Continue Reading एनीमिया के कारण और घरेलू उपचार