You are currently viewing चर्बी की गांठ (लिपोमा) क्या है और उसका इलाज !!

चर्बी की गांठ (लिपोमा) क्या है और उसका इलाज !!

Spread the love

लिपोमा होने का सही कारण स्पष्ट नहीं किया जा सकता है। यह एक पारिवारिक विकार है, इसलिए आनुवांशिक कारक इसके विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। यह मध्यम आयु वर्ग के पुरुष और महिलाएं को अधिक प्रभावित करता है। चर्बी की गांठ या लिपोमा ज्यादातर चोट के बाद देखे जा सकते है। लेकिन यह कैसे निर्मित होते हैं, इसका पता अभी तक नहीं लगाया जा सका है।

1. यह शरीर के विभिन्न विकारों को हटाने के लिए अत्यधिक उपयोगी है। इसका उपयोग लाइपोमा से प्रभावित क्षेत्रों पर मालिश करने में करना चाहिए। अरंडी का तेल  बहुत चिकना होता है। इसलिए जब भी इसे प्रभावित क्षेत्र पर लगाया जाये, तो पुराने कपड़े और चादरों का उपयोग करें, जिससे की कपड़ों को ख़राब होने से बचाया जा सके।

2. गांठ को कम करने के या हटाने के लिए कच्चे शहद और आटे जैसे प्राकृतिक उत्पादों का उपयोग किया जा सकता है। शहद और आटे की पेस्ट बनाकर सीधे लिपोमा पर कम से कम 36 घंटे तक लगा रहने दें।

3. ताजे नींबू का रस  शरीर से विषाक्त पदार्थों को, जो फैटी कोशिकाओं का उत्पादन करते हैं, हटाने में मदद कर सकता है। लिपोमा के आकार को कम करने के लिए इसे एक गिलास पानी के साथ या भोजन में स्वाद के रूप में सेवन कर सकते हैं।

4. ग्रीन टी लिपोमा (चर्बी की गांठ) नामक फैटी ऊतकों के जमाव को कम करने में मदद करती है। वसा जमाव को कम करने के लिए तथा मेटाबोलिज्म को बढ़ावा देने के लिए प्रति दिन एक कप  ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए।

5. अलसी के तेल  में पाई जाने वाली ओमेगा -3 फैटी एसिड की अधिक मात्रा का उपयोग लिपोमा को ख़त्म करने के लिए भी किया जा सकता है। खाद्य पदार्थों में मुख्य रूप से अलसी का तेल  का प्रयोग कारण चाहिए।

6. लिपोमा का प्राकृतिक उपचार के लिए एप्पल साइडर विनेगर  बेहद ही आसान और लाभकारी इलाज है। इसका उपयोग करने के लिए एक गिलास पानी के साथ 1से 3 चम्मच कच्चे सेब का सिरका को दिन में 1 से 3 बार पीना चाहिए।

This Post Has 3 Comments

  1. AshishJohari

    Mujhe pet ke uper Kai dino se ek gaath ho gai hai. Use hathane ka upaye bataye

  2. Kailashshukla

    Bahut achchha lga.mere yahan mises ko hanthon me bandhan hai.parayog krke zaroor dekhunga.thnks

Leave a Reply