You are currently viewing चूना के आयुर्वेद में महत्त्व !!

चूना के आयुर्वेद में महत्त्व !!

Spread the love

1. चूना (lime) जो आप पान में खाते  हैं वो कई बीमारी ठीक कर देता है। किसी को पीलिया जो जाये तो चूना उसकी सबसे अच्छी दवा है। गेहूँ के दाने के बराबर चूना, गन्ने के रस में मिलाकर पिलाने से बहुत जल्दी पीलिया ठीक कर देता है।

 2. ये ही नपुंसकता की सबसे अच्छी दवा है, अगर किसी के शुक्राणु नही बनता तो उसको अगर गन्ने के रस के साथ चूना पिलाया जाये तो साल भर में भरपूर शुक्राणु बनने लगेंगे।

3. विधार्थियों के लिए चूना बहुत अच्छा है जो लम्बाई बढाती है , गेहूँ के दाने के बराबर चूना रोज दही में मिला के खाना चाहिए, दही नही है तो दाल में मिला के खाया जा सकता है , दाल नही है तो पानी में मिलाके पिया जा सकता है।  इससे लम्बाई बढने के साथ साथ स्मरण शक्ति भी बहुत अच्छी होता है।

4. जिन बच्चों की बुद्धि कम काम करती है, उनकी सबसे अच्छी दवा है चूना, जो बच्चे बुद्धि से कम है, दिमाग देर में काम करता  है, देर में सोचते है हर चीज उनकी धीमे है। उन सभी बच्चे को चूना खिलाने से ठीक  हो जायेंगे।

5. बहनों को अपने मासिक धर्म के समय अगर कुछ भी तकलीफ होती हो तो, उसका सबसे अच्छी दवा है। और हमारे घर में जो माताएं है, जिनकी उम्र पचास वर्ष हो गयी और उनका मासिक धर्म बंद  हो गया हो।  , गेहूँ के दाने के बराबर चूना हर दिन खाना दाल में, लस्सी में, नही तो पानी में घोल के पीने से लाभ होगा। ।

6. जब कोई माँ गर्भावस्था में है तो चूना रोज खाना चाहिए, क्योंकि गर्भवती माँ को सबसे जादा कैल्शियम की जरुरत होती है. और  कैल्शियम का सबसे बड़ा भंडार है।

 7. अनार का रस एक कप और चूना गेहूँ के दाने के बराबर  मिलाके रोज पिलाइए नौ महीने तक लगातार देने से चार फायदे होते है।

 8. चूना घुटने का दर्द ठीक करता है, कमर का दर्द  ठीक करता है, कंधे का दर्द ठीक करता है, एक खतरनाक बीमारी है कशेरुका-संधियों का प्रदाह (Spondylitis) वो चूना से ठीक होता है।

9. कई बार हमारी रीड़ की हड्डी में जो मनके होते है उसमे दूरी बढ़ जाती है, गैप आ जाता है। ये चूना उसको ठीक करता है, रीड़ की हड्डी की सब बीमारिया चूना से ठीक होती है। अगर आपकी हड्डी टूट जाये तो टूटी हुई हड्डी को जोड़ने की ताकत सबसे ज्यादा चूना में है, चूना खाइए सुबह को खाली पेट। चूना पीते रहो गन्ने के रस में, या संतरे के रस में नही तो सबसे अच्छा है अनार के रस में। अनार के रस में चूना पीने से खून बहुत बढता है, बहुत जल्दी खून बनता है। एक कप अनार का रस गेहूँ के दाने के बराबर चूना सुबह खाली पेट लेना चाहिए।

Leave a Reply