You are currently viewing डिहाइड्रेशन के घरेलू उपाय !!

डिहाइड्रेशन के घरेलू उपाय !!

Spread the love

छाछ –

एक कप छाछ में सोंठ मिलाएं। इस ताजे पेय का सेवन करें। डिहाइड्रेशन का उपाय करने के लिए आप दिन में कम से कम तीन से चार बार छाछ पिएं। छाछ एक प्राकृतिक प्रोबायोटिक है। यह पोटैशियम और मैग्नीशियम जैसे खनिजों से समृद्ध है। डिहाइड्रेशनसे बचने के लिए इसका सेवन किया जा सकता है। यह डायरिया जैसी पेट की समस्या से छुटकारा दिलाने का काम करता है।

नारियल पानी –

दिनभर में तीन से चार गिलास नारियल पानी पिएं। नारियल पानी सोडियम और पोटैशियम जैसे पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत है। डिहाइड्रेशन की अवस्था में शरीर में इन दोनों की मात्रा कम हो जाती है। नारियल पानी इन पोषक तत्वों की पूर्ति करने का काम करता है। डिहाइड्रेशन के इलाज का यह सबसे प्रभावी तरीका है।

सूप –

डिहाइड्रेशन का उपाय करने के लिए आप सूप का सेवन कर सकते हैं। सूप पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत है, जो डिहाइड्रेशनऔर इसके लक्षणों से लड़ने का काम कर सकता है। सूप में पोटैशियम जैसे कई खनिजों की मात्रा होती है, जिससे शरीर में इसकी पूर्ति हो सकती है। अच्छे परिणामों के लिए आप कसरत से पहले सूप का सेवन कर सकते हैं। आप हरी सब्जियों का सूप बना सकते हैं, इसके अलावा चिकन या मीट का सूप का सेवन भी कर सकते हैं।

केला –

व्यायाम या अन्य कठीन शारीरिक कार्य करने से पहले केला खाएं। ऐसा रोजाना दो बार करें। डिहाइड्रेशनका एक कारण शरीर में पोटैशियम की कमी होना है। केले में पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है और शरीर में इसकी मात्रा को संतुलित करने व डिहाइड्रेशनके इलाज में केला मदद कर सकता है।

घर का बना ओआरएस –

पानी में नमक व चीनी को डालकर अच्छी तरह मिलाएं। इस घोल को तब तक पिएं, जब तक कि डिहाइड्रेशनके लक्षण खत्म न हो जाएं। इस घोल को एक दिन में कम से कम 3 लीटर पिया जा सकता है।ओआरएस का मतलब ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन है। डिहाइड्रेशनके इलाज का यह कारगर विकल्प हो सकता है। ओआरएस डायरिया और उल्टी जैसी समस्याओं के दौरान शरीर द्वारा खोए तरल की पूर्ति करने का काम करता है। ओआरएस शरीर में सोडियम और पानी के स्तर को बढ़ाता है, जो डिहाइड्रेशनके कारण कम हो जाते हैं।

जौ का पानी –

पानी में एक कप जौ डालें और सॉस पैन में 30-40 मिनट के लिए उबालें। पानी को ठंडा होने दें और स्वाद के लिए नींबू का रस व शहद मिलाएं। दिनभर में इसे थोड़ा-थोड़ा करके पिएं। ऐसा दिन में 3 से 4 बार करें। डिहाइड्रेशनके उपाय के रूप में जौ का पानी स्वस्थ पेय है। यह कई एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन और खनिजों से समृद्ध होता है, जो डिहाइड्रेशन द्वारा खोए हुए तरल पदार्थों को पूरा करने और शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद करता है।

अचार का रस –

कसरत से पहले या बाद में अचार का रस पिएं। दिन में एक बार ऐसा करें। शरीर से अत्यधिक पसीना निकलने से अधिक मात्रा में पोटैशियम व सोडियम भी निकल जाता है, जो डिहाइड्रेशनका कारण बनता है। अचार का रस सोडियम और पोटैशियम से समृद्ध होता है। इस प्रकार, यह डिहाइड्रेशनके इलाज के लिए अच्छा विकल्प बन सकता है, क्योंकि यह शरीर में इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाने में मदद करता है।

नींबू पानी –

एक गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़ें। स्वाद के लिए शहद मिलाएं और पिएं। दिन में दो से तीन बार नींबू पानी पिएं। नींबू का पानी न केवल आपको तरोताजा करता है, बल्कि शरीर में पोटैशियम, सोडियम और मैग्नीशियम के स्तर को बढ़ाकर डिहाइड्रेशनको दूर करने में मदद करता है।

सेब का रस –

आधे गिलास पानी के साथ एक सेब को ब्लेंड करें। अब इस जूस का सेवन करें। इस रस को रोजाना दो बार पिएं। सेब मैग्नीशियम का समृद्ध स्रोत हैं। इसमें पोटैशियम की मात्रा भी होती है, इसलिए यह शरीर में खोए हुए खनिजों और इलेक्ट्रोलाइट्स की पूर्ति कर डिहाइड्रेशनका इलाज कर सकता है।

संतरे का रस –

कसरत से पहले या बाद में संतरे का जूस पिएं। दिन में एक या दो बार जरूर पिएं। संतरा विटामिन्स और खनिजों से भरपूर होता है। यह पोटैशियम जैसे इलेक्ट्रोलाइट्स और मैग्नीशियम से भी समृद्ध होता है। संतरे का रस शरीर में इलेक्ट्रोलाइट का संतुलन बनाए रखने और डिहाइड्रेशनको दूर करने की क्षमता रखता है।

Leave a Reply