You are currently viewing फूड पॉइजनिंग के घरेलू इलाज !!

फूड पॉइजनिंग के घरेलू इलाज !!

Spread the love

सेब का सिरका –

एक गिलास गुनगुने पानी में दो चम्मच सेब का सिरका डालें। इसे अच्छी तरह मिलाकर पी लें।सेब के सिरके में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो ई-कोलाई बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं। इसके अलावा, इसमें कई मिनरल्स और एंजाइम होते हैं, जो फूड पॉइजनिंग के बाद आपके शरीर को ठीक करने में मदद करते हैं।

नींबू का रस –

एक गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़ लें और इस पानी को पी लें। आप इसमें स्वाद के लिए शहद मिला सकते हैं। आप दिन में दो से तीन बार नींबू पानी पी सकते हैं। नींबू में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो आपके पूरे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

तुलसी –

तुलसी के पत्तों को पीसकर उसका रस निकाल लें। इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं और पी लें। इसके अलावा, आप एक कप पानी में तुलसी के तेल की एक बूंद भी डाल सकते हैं और इसका सेवन कर सकते हैं। तुलसी में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं, जो फूड पॉइजनिंग में राहत पहुंचाते हैं।

लहसुन – 

आप लहसुन की कलियों को चबा लें। आप लहसुन की कलियों में शहद मिलाकर भी खा सकते हैं। जब तक आराम न मिले, आप दिन में कम से कम एक बार इसका सेवन करें। लहसुन में एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो खाने से हुए रोगों को दूर करने में मदद करते हैं।

अदरक  –

एक पैन में पानी डालकर उसमें अदरक का टुकड़ा डालें और उबाल लें। पांच मिनट अदरक को पानी में ही रहने दें, फिर पानी को छान लें। अब इसे हल्का-सा ठंडा करें और फिर शहद मिलाकर तुरंत पी जाएं। आप चाहें तो अदरक के टुकड़े को चबा भी सकते हैं।अदरक में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं, जो खाने से हुई समस्या को ठीक करने में मदद करते हैं।

एसेंशियल ऑयल –

थोड़े-से पानी में एक बूंद ऑरेगैनो ऑयल डालकर अच्छी तरह से मिलाएं। फिर इस मिश्रण को पी लें। फर्क न पड़ने तक आप इसे दिन में एक से दो बार पी सकते हैं। ऑरेगैनो तेल में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं, जो फूड पॉइजनिंग जैसी समस्या में राहत दिलाते हैं।

विटामिन-सी –

आपको विटामिन-सी के अनुपूरक खाने होंगे। जब तक आराम न मिले, आप विटामिन-सी के सप्लीमेंट्स दिन में तीन से चार बार ले सकते हैं।विटामिन-सी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो आपके शरीर से बैक्टीरिया और टॉक्सिन दूर करने में मदद करते हैं।

केला या सेब –

आप एक कटोरी दही में केले को मैश करके मिलाएं और इसे खा लें। आप दिन में दो बार केला और दही खा सकते हैं। केले में भरपूर मात्रा में पोटैशियम होता है। भोजन विषाक्तता के कारण होने वाले दस्त में केले और दही का मिश्रण काफी फायदा करता है। अगर आपको केला नहीं पसंद, तो आप सेब खा सकते हैं।

आंवला –

आप थोड़े-से आंवले के रस को पानी में मिलाकर पी लें। फूड पॉइजनिंग के दौरान होने वाली जी-मिचलाने और उल्टी आने की समस्या से राहत दिलाने में आंवला आपको फायदा पहुंचा सकता है। इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी होता है। यह पेट की समस्याओं को भी दूर करता है।

पानी –

फूड पॉइजनिंग होने पर आप भरपूर मात्रा में पानी पिएं। यह आपको हाइड्रेट रखेगा और आप में ऊर्जा भी लाएगा। जब फूड पॉइजनिंग में उल्टी, दस्त लगते हैं, तो शरीर में पानी की कमी होने लगती है। अगर शरीर में पानी की कमी हुई, तो समस्या और बढ़ सकती है। ऐसे में जरूरी है कि आप तरल पदार्थ का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें। इसके अलावा, आप नारियल पानी भी पी सकते हैं।

Leave a Reply