You are currently viewing घुटनो के दर्द के 13 घरेलु नुस्खे  इस प्रकार हैं !!

घुटनो के दर्द के 13 घरेलु नुस्खे इस प्रकार हैं !!

Spread the love

घिसे हुए जोड़ों घुटनों में दोबारा नेचुरल ग्रीस डालें और घोडे की तरह दौड़ें बुढ़ापे में भी

आपके घुटनों में हद से ज्यादा दर्द होता है. क्या आपके घुटनों में अब टक टक की आवाज आती है. अगर हाँ तो इसका मतलब है की आपके घुटनों के जोड़ों में जो ग्रीस होता है वो ख़तम हो गया है और घुटने अब घिसने लगे है जिसके कारण असहनीय दर्द होता है, जो 90% लोगों में 40 की उम्र पार करते करते हो जाता है. जिससे वो एक बार बैठ जाए तो उठ भी नहीं पाते और अगर उठ जाते है तो फिर चलने में दिक्कत होती है.

घिसे हुए जोड़ों घुटनों में दोबारा नेचुरल ग्रीस डालें और घोडे की तरह दौड़ें बुढ़ापे में भी घिसे हुए जोड़ों घुटनों में दोबारा नेचुरल ग्रीस डालें और घोडे की तरह दौड़ें बुढ़ापे में भी

दोस्तों आपने हरा वाला नारियल देखा होगा, उसका पानी लोग पड़े चाव से पिते है. आप वो नारियल का पानी सुबह खाली पेट पियें. आप चाहे तो जब पीना शरू करें तब एक्स-रे करवा लें अपने घुटनों का. और एक महीने बाद फिर से एक्स-रे करवा कर परिणाम चेक कर सकते है.

दूसरी खुराक दोस्तों, आप शुद्ध पनीर घर पर ही बनाएं दूध से. सुबह सुबह कम से कम 100ग्राम पनीर या अधिक जितना पचा सकते है उतना प्रतिदिन खाएं. और बस एक महीने में ही आपको हैरान कर देने वाला परिणाम दिखाई देगा. आपके घुटनों में से दर्द एक दम से गायब हो जायेगा दोस्तों.

तीसरी नुस्खा दोस्तों, घुटनों के दर्द में आप कनेर के पत्तों के तेल की मालिश करें. अगर आप अभी बताई गयी किसी एक खुराक के साथ -२ ये मालिश भी करते है तो आपको 100% फायदा मिलेगा.

घुटने दर्द के 13 घरेलु नुस्खे इस प्रकार हैं:

नमक और पानी – पानी में जरा-सा नमक डालकर गरम कर लें| फिर उस पानी में कपड़ा भिगोकर लगभग 10 मिनट तक नित्य सेंकाई करें|

अदरक, सोंठ, कालीमिर्च, बायबिड़ंग, सेंधा नमक और शहद
अदरक या सोंठ, कालीमिर्च, बायबिड़ंग तथा सेंधा नमक – सबको बराबर की मात्र में कूट-पीसकर चूर्ण बना लें| इस चूर्ण की 4 ग्राम की मात्रा शहद के साथ मिलाकर चाटें|

आलू घुटनों पर कच्चे आलुओं को पीसकर उनका लेप लगाएं|

खीरा और लहसुन भोजन में खीरा तथा लहसुन का सेवन नित्य दो माह तक करने से घुटनों का दर्द जाता रहता है|

नारियल – नारियल की कच्ची गिरी पीसकर घुटनों पर लगाएं तथा चबा-चबाकर उन्हें खाएं भी|

मेथी और पानी मेथी का पूर्ण एक चम्मच प्रतिदिन सुबह के समय गरम पानी के साथ सेवन करें|

सरसों, अजवायन, लहसुन, अफीम और खसखस सरसों के तेल में दो चम्मच अजवायन, चार पूती लहसुन, दो रत्ती अफीम तथा एक चम्मच खसखस डालकर लौटा लें| फिर इस तेल को छानकर घुटनों पर मालिश करें|

सोंठ और एरण्ड का तेल सोंठ का काढ़ा बनाकर उसमें एक चम्मच एरण्ड का तेल मिलाकर रोज सेवन करें|

अखरोट – सुबह खली पेट 10 ग्राम अखरोट की गिरी का सेवन करें|

लौकी – लौकी उबालकर उसके पानी से घुटनों को तर करें|

नीम और चंदन नीम की छाल को पीसकर चंदन की तरह घुटनों पर लगाएं|

गुड़ – 10 ग्राम गुग्गुल को गुड़ में मिलाकर सेवन करें|

पानी बच का चूर्ण आधा चम्मच प्रतिदिन गरम पानी के साथ लें|

घुटने दर्द में क्या खाएं क्या नहीं

घुटने के दर्द में केवल ठंडी तथा वायु बनाने वाली चीजों का उपयोग वर्जित है| फलों तथा हरी तरकारियों का सेवन अधिक करें| मट्ठा, चाट, पकौड़े, मछली, मांस, मुर्गा, अंडा, धूम्रपान आदि का सेवन बिलकुल न करें| घुटनों को मोड़कर नहीं बैठना चाहिए| पेट को साफ रखें तथा कब्ज न बनने दें| दूध के साथ ईसबगोल की भूसी का प्रयोग करें| शरीर को अधिक थकने वाले कार्य न करें| प्रतिदिन सुबह-शाम टहलने के लिए अवश्य जाएं|

घुटने दर्द का कारण

यह रोग घुटनों की हड्डियों में चिकनाई घट जाने के कारण हो जाता है| वृद्धावस्था में हड्डियों में खुश्की दौड़ने लगती है और शरीर में फॅास्फोरस नामक तत्त्व की कमी हो जाती है| इसके अलावा पौष्टिक भोजन का अभाव, मानसिक तनाव व अशान्ति, शरीर में खून की कमी, भय, शंका, क्रोध आदि के कारण भी यह रोग होता है|

घुटने दर्द की पहचान

घुटने का दर्द बाएं, दाएं या दोनों घुटनों में हो सकता है| रोगी को बैठने के पश्चात् उठकर खड़े होने में काफी तकलीफ होती है| हवा चलने, ठंड लगने, ठंडी चीजें खाने, जाड़ा, गरमी, बरसात आदि के मौसम में यह रोग बढ़ जाता है| घुटने शक्त हो जाते हैं| उनमें चटखन होती है| कभी-कभी घुटनों में सूजन भी आ जाती है|

अभी तो आपके घुटनों का दर्द दूर होगा ही होगा साथ साथ बुढ़ापे में भी कभी आपको इसकी शिकयत नहीं होगी. इस घरेलू डाइट से आप अपने घुटनों में नेचुरल ग्रीस डाल सकते है और फिर वो बुढ़ापे में भी आपको धोका नहीं देगे.

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

गुर्दे की पथरी निकालने के 10 घरेलू इलाज

दाद खाज खुजली को ठीक करने के घरेलू इलाज

मिर्गी का आयुर्वेदिक इलाज – Mirgi (Epilepsy) Ka Ayurvedic ilaj

पेशाब का रंग बताता है शरीर की दिक्कत, ध्यान देने की जरूरत

यूरिक एसिड (Uric Acid) के लक्षण, कारण और घरेलू उपाय

फड पॉइजनिंग के लक्षण और घरेलू उपचार

हींग का पानी- हींग को पानी में मिलाकर पीने से होंगे ये फायदें

अच्छी नींद आने के लिए घरेलू उपाय, अनिद्रा के लक्षण

हल्दी का दूध – रात को दूध में हल्दी मिलाकर पीने के फायदे

अदरक का पानी पीने के फायदे, जड़ से खत्म होंगे कई रोग

ककोरा – दुनिया की सबसे ताकतवर सब्जी है ककोड़ा/कंटोला

पेशाब से जुड़ी समस्याएं जैसे पेशाब में जलन आदि का घरेलू इलाज

चश्मा हटाने का उपाय, चश्मे को कहना है बाय तो अपनाएं ये टिप्‍स

प्याज के रस से दोबारा बाल उगाने का रामबाण उपाय

एक्जिमा (Eczema), दाद-खाज, खुजली, सभी चर्म रोगों को खत्म करें

शरीर की गंदगी निकालने का उपाय | BODY DETOX

पेट में गैस बनने के कारण और घरेलू उपाय | STOMACH GAS

करी पत्ता के फायदे, ये पत्तियां बुढ़ापे तक बालों को काला रखती हैं

दूध के साथ इन चीज़ों का सेवन वर्जित है

पिगमेंटेशन के लिए फेस पैक | PIGMENTATION FACE PACK

चेहरे की खूबसूरती निखार देगा नारियल का दूध

अखरोट रोजाना खाने से आपको मिलेंगे ये बेहतरीन फायदे

Leave a Reply