You are currently viewing अमरूद के पत्तों को खाने के ये फायदे आपको हैरत में डाल देंगे

अमरूद के पत्तों को खाने के ये फायदे आपको हैरत में डाल देंगे

Spread the love
अमरूद के पत्तों

अमरूद के पत्तों को खाने के ये फायदे आपको हैरत में डाल देंगे, अमरूद के पत्ते एंटीऑक्‍सीडेंट, एंटी-बैक्‍टीरियल गुण और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों से भरपूर होते हैं. त्‍वचा, बाल और स्‍वास्‍थ्‍य की देखभाल के लिए अमरूद की पत्‍तियों का रस पीना या फिर छोटी-मुलायम पत्त‍ियों को चबाना फायदेमंद होता है.

अमरूद स्वादिष्ट होने के साथ-साथ कई तरह के स्वास्थ्य गुणों से भी भरपूर है। हालांकि हममें से ज्यादातर लोग इस तथ्य से अनजान हैं कि अमरूद के पत्ते भी बहुत फायदेमंद होते हैं। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि अमरूद के पत्तों में मौजूद ऐंटीऑक्सिडेंट,ऐंटीबैक्टीरियल और ऐंटीइंफ्लेमेटरी गुण कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं। त्वचा, बाल और स्वास्थ्य की देखभाल के लिए अमरूद की ताजी पत्तियों का रस या फिर इसकी बनी हुई चाय बहुत ही फायदेमंद होती है। आइए जानें अमरूद के पत्तों के फायदे…

वजन में लाए कमी

अमरूद के पत्ते जटिल स्टार्च को शुगर में बदलने की प्रक्रिया को रोकते हैं, इससे शरीर के वजन को घटाने में सहायता मिलती है। अमरूद के पत्ते कार्बोहाइड्रेट की गति को रोकते हैं, जो उपलब्ध यौगिक के रूप में लिवर में टूटता है और वजन घटाने में मदद करता है।

कार्डियोवस्कुलर प्रभाव

अमरूद के पत्तों में मौजूद यौगिक ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट की दर को कम करने में मदद करते हैं। अमरूद के पत्तों से बनी चाय के सेवन से ब्लड लिपिड, ब्लड में कोलेस्ट्रॉल का निम्न स्तर और अस्वस्थ ट्राइग्लिसराइड्स में सुधार करने में मदद मिलती है।

डायरिया में फायदेमंद

अमरूद के पत्ते डायरिया और पेचिश में काफी फायदेमंद हैं। समस्या होने पर 30 ग्राम अमरूद के पत्ते और एक मुट्ठी चावल के आटे को दो गिलास पानी में मिलाकर उबाल लें। डायरिया के इलाज के लिए इस मिश्रण को दिन में दो बार पिएं। पेचिश के इलाज के लिए, अमरूद के पत्तों और जड़ों को लेकर 90 डिग्री पर 20 मिनट के लिए उबालें। इस पानी को छानकर दिन में दो बार पीने से राहत मिलेगी।

पाचन तंत्र को दुरुस्त रखें

अमरूद के पत्ते पाचन एंजाइम के उत्पादन को बढ़ाकर पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने में मदद करते हैं। शक्तिशाली एंटी-बैक्टीरियल एजेंट प्रभावी ढंग से पेट के अस्तर से हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट करने और बैक्टीरिया से विषाक्त एंजाइमों के प्रसार को रोकने में मदद करता है। अमरूद के पत्ते फूड प्वाइजनिंग, उल्टी और मतली से भी राहत प्रदान करते हैं।

डायबिटिक लोगों के लिए फायदेमंद है चाय

जापान में यकुल्ट सेंट्रल इंस्टीट्यूट में अमरूद के पत्तों से बनी चाय पर एक शोध किया गया। शोध के निष्कर्ष के अनुसार, अमरूद के पत्तों से बनी चाय में एल्फा-ग्लूकोसाइडिस एंजाइम गतिविधि को कम कर मधुमेह रोगियों में प्रभावी रूप से रक्त शर्करा को कम करती है। इसके अलावा यह सुक्रोज और माल्टोज को सोखने से शरीर को रोकती है, जिससे शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है।

अमरूद के पत्ते के फायदे डेंगू बुखार के लिए – Guava Leaves Treat Dengue Fever in Hindi

डेंगू बुखार के प्राकृतिक उपचार के लिए अमरूद के पत्ते के फायदे का उपयोग किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि अमरूद के पत्तों से निकलने वाले रस (leaf extract) से रक्‍त में प्‍लेटलेट की संख्‍या बढ़ सकती है और यह किसी प्रकार के दुष्‍प्रभाव भी नहीं छोड़ता है। डेंगू बुखार के उपचार के लिए 5 कप पानी में अमरूद के 9 पत्‍तों को उबालें और इसे तब तक उबाले जब तक यह पानी 3 कप न हो जाए। इस मिश्रण को ठंड़ा करें। रोगी को दिन में 3 बार 1-1 कप मिश्रण का सेवन कराएं। यह डेंगू बुखार (Dengue Fever) के लक्षणों को कम करने में सहायता प्रदान करता है।

अमरूद के पत्ते के गुण दस्‍त का इलाज करे – Guava Leaves Treat Diarrhea in Hindi

दस्‍त बहुत ही सामान्‍य सी दिखने बाली बीमारी होती है, लेकिन इसका समय पर इलाज न किया जाए तो यह घातक हो सकती है। दस्‍त का प्रभावी रूप से उपचार करने के लिए अमरूद के पत्ते के फायदे का उपयोग चाय के रूप में किया जा सकता है। अमरूद के पत्तों से निकलने वाले रस को 1 कप गर्म पानी में कुछ बूदें मिला कर सेवन करें। यह पेट की आंतों को आराम दिलाने मे मदद करता है। पशूओं पर हुए एक अध्‍ययन से पता चलता है कि अमरूद के पत्तों में एंटी-डायरियल गुण होते हैं जो दस्‍त को कम कर सकते हैं। आप अमरूद के पत्तों को उपयोग कर दस्‍त की समस्‍या से निजात पा सकते हैं।

अमरूद के पत्तों के फायदे मोटापे को कम करे – Guava Leaves for Weight loss in Hindi

फाइबर की उच्‍च मात्रा अमरूद में मौजूद रहती है, साथ ही इसमें लो ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स (Low Glycemic Index) होते हैं जो वजन घटाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वजन को कम करने के लिए अमरूद के पत्तों से निकाला गया रस उपयोगी औषधी का काम करता है। इसमें मौजूद पोषक तत्‍व जटिल स्‍टार्च को शर्करा में परिवर्तित करने से रोकते हैं। आप अपने बढ़े हुए वजन को कम करने के लिए अमरूद के पत्तों का इस्‍तेमाल कर सकते हैं, यह आपके लिए वजन घटाने का फायदेमंद घरेलू तरीका है।

अमरूद के पत्तों का लाभ मधुमेह के लिए – Guava Leaves Benefits for Diabetics in Hindi

अध्‍ययनों से जानकारी मिलती है कि अमरूद के पत्तों की चाय अल्‍फा-ग्‍लूकोसाइडेज एंजाइम (Alpha-Glucosidease Enzyme) गतिविधि को कम करके रक्‍त ग्‍लूकोज को प्रभावी ढंग से कम कर सकता है। साथ ही यह शरीर में सुक्रोज और माल्‍टोस के अवशोषण को रोकता है, जिससे रक्‍त शर्करा का स्‍तर कम हो जाता है। यदि नियमित रूप से 12 सप्‍ताह तक अमरूद के पत्तों की चाय का सेवन किया जाए तो यह शरीर में इंसुलिन उत्‍पादन में वृद्धि के बिना रक्‍त शर्करा के स्‍तर को कम करता है। आप मधुमेह (Diabetics) को नियंत्रित करने के लिए अमरूद के पत्ते के फायदे प्राप्‍त कर सकते हैं।

अमरूद के पत्ते का उपयोग कोलेस्‍ट्रॉल कम करे – Guava Leaves for Lower Cholesterol in Hindi

हृदय स्‍वास्‍थ्‍य (Cardiovascular Health) के लिए कोलेस्‍ट्रॉल की अधिक मात्रा खतरा बन सकता है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि अमरूद के पत्तों से बनी चाय का यदि 3 महिने तक नियमित सेवन किया जाए तो यह हमारे शरीर में मौजूद खराब कोलेस्‍ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स (Triglycerides) को कम कर सकता है। इसका नियमित सेवन करने से शरीर मे मौजूद अच्‍छे कोलेस्‍ट्रॉल को किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता है। साथ ही यह आयुर्वेदिक चाय जिगर के लिए भी बहुत ही फायदेमंद होती है।

अमरूद के पत्ते का इस्‍तेमाल मुंह की समस्‍या को दूर करे – Guava Leaves for Mouth Problems in Hindi

एंटी-इन्‍फ्लामेट्री (Anti-Inflammatory) गुणों के कारण अमरूद के ताजे पत्‍ते दांत के दर्द को दूर करने में सहायक होते हैं। अमरूद के पत्तों का उपयोग कर आप मसूड़ों और मुंह के घावों का उपचार कर सकते हैं । इन पत्तियों में जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो दांतों और मसूड़ों की रक्षा करते हैं, इस कारण ही अमरूद के पत्तों का उपयोग बहुत से टूथपेस्‍ट और माउथ फ्रेशनर में किया जाता है। दांतों को साफ करने के लिए अमरूद के पत्तों का घर पर ही प्राकृतिक पेस्‍ट (Natural Paste) तैयार किया जा सकता है।

अमरूद के पत्ते के फायदे बालों के लिए – Guava Leaves Benefits For Hair in Hindi

अमरूद के पत्ते के लाभ बालों के लिए अनेक हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इन्फ्लामेंट्री और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं जो एक स्वस्थ स्कैल्प को बनाए रखने में मदद करते हैं। विटामिन सी सामग्री बालों के विकास में सहयोगी होती है और कोलेजन गतिविधि में सुधार करती है और इसमें मौजूद लाइकोपीन (lycopene) सामग्री सूर्य की यूवी किरणों से सुरक्षा प्रदान करती है। संक्षेप में, अमरूद की पत्तियों के इस्तेमाल से आप अपनी जेब ढीली किये बिना अच्छे बाल पा सकते है।

अपने बालों और स्कैल्प पर इसे लगाने के लिए लोशन (lotion) बना सकते हैं। आप खुद के द्वारा अमरूद के पत्ते से बालों के विकास के लिए घोल बनाने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें जो बालों के झड़ने से रोकेंगे और बालों के विकास को बढ़ावा देंगे।

अमरूद के पत्ते का सेवन बढ़ाए शुक्राणु उत्‍पादन – Guava Leaves Benefits for Sperm Production

नियमित रूप से अमरूद के पत्तों का सेवन करना उन पुरुषों के लिए फायदेमंद होता है जिनमें शुक्राणुओं (Sperms) की कमी होती है। अमरूद के पत्ते की चाय का सेवन करने से शुक्राणु उत्‍पादन में वृद्धि करने में मदद करता है। इस प्रकार अमरूद के पत्तों का सेवन करने से पुरुषों की प्रजनन (Fertility) क्षमता को बढ़ाया जा सकता है।

अमरूद के पत्ते के फायदे घावों का इलाज करे – Guava Leaves for Treat Wounds in Hindi

एंटीऑक्‍सीडेंट (Antioxidant) और जीवाणुरोधी गुणों के कारण अमरूद के पत्ते घावों का उपचार करने में मदद करते हैं साथ ही ये संक्रमण को फैलने से रोकते हैं। घावों के उपचार के लिए अमरूद के पत्तों के रस का उपयोग किया जा सकता है। इस रस का उपयोग कान के संक्रमण (Ear Infections) को ठीक करने में भी मदद करते हैं।

अमरूद के पत्ते के लाभ त्वचा के लिए – Guava Leaves For Skin In Hindi

मुँहासे और चेहरे पर काले धब्‍बे आपकी त्‍वचा की गुणवत्‍ता को प्रभावित करते हैं। इन्‍हें दूर करने के लिए आप अमरूद के पत्तों का फायदेमंद उपयोग कर सकते हैं। इन पत्तियों में मुँहासों और धब्‍बों को दूर करने की क्षमता होती है। इनमे एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो मुंहासे पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया को नष्‍ट कर सकते हैं। इसके लिए आप अमरूद के कुछ पत्‍तों को पीस कर पेस्‍ट बना लें और इसे मुँहासों में लगाएं। इसे लगाने के कुछ देर बाद पानी से साफ कर लें। अमरूद के पत्तों का उपयोग तब तक किया जाना चाहिए तब तक की आपकी त्‍वचा से मुँहासे दूर न हो जाएं।

अमरूद की पत्ती के फायदे खुजली से राहत दिलाएं – Guava Leaves for Relieves Itching in Hindi

त्‍वचा पर होने वाली खुजली (Itching) का यदि समय पर इलाज नहीं किया जाता है तो यह गंभीर समस्‍या बन सकती है। लेकिन खुजली का उपचार करने के लिए एक बार घरेलू उपचार के रूप में अमरूद के पत्तों का उपयोग जरूर करें। अमरूद की पत्तियां खुजली से छुटकारा पाने में मदद करता है, क्‍योंकि इनमे एलर्जी अवरोधक (Allergy Blocking) यौगिक होते हैं।

अमरूद के पत्ते खाने के फायदे लिवर की सुरक्षा करे – Guava Leaves protects Liver in Hindi

एक अध्‍ययन से पता चलता है कि अमरूद के पत्तों में हेपेट्रोप्रोटेक्टिव (Hepatoprotective) प्रभाव होते हैं जो पेरासिटामोल का सेवन करने से यकृत की क्षति का इलाज कर सकता है। यकृत को एंजाइम से बचाने में भी यह मदद करता है। एंजाइम , यकृत कोशिकाओं जैसे एस्पर्टेट एमिनोट्रांसफ़रेस (Aspartate Aminotransferase), एलानिन एमिनोट्रांसफ़रेस (Alanine Aminotransferase), क्षारीय फॉस्फेट (Alkaline Phosphatase) और बिलीरुबिन को नुकसान पहुंचा सकता है।

अमरूद के पत्ते आंखों के लिए फायदेमंद – Guava Leaves Good for Eye in Hindi

विटामिन ए की उच्‍च मात्रा अमरूद के पत्तों में होती है जो आपकी द्रष्टि को बेहतर बनाने में मदद कर सकती है। अमरूद की पत्तियों का सेवन कर मोतियाबिंद (Cataracts) के प्रभाव को कम किया जा सकता है। आप आंखों के समग्र विकास के लिए अमरूद के पत्तों का उपयोग कर सकते हैं।

अमरूद के पत्तों का औषधीय उपयोग थॉयराइड ग्रंथि के लिए – Guava Leaves For Thyroid gland in Hindi

तांबा (Copper) की उच्‍च मात्रा अमरूद के पत्तों में होती है जो स्‍वस्‍थ्‍य थॉयराइड को बनाए रखने में मदद करता है। थायराइड ग्रंथि (Thyroid gland) हार्मोन के स्‍तर और उचित अंग समारोह को विनियमित करने मं सबसे महत्‍वपूर्ण ग्रंथियों में से एक है। अमरूद के पत्तों में मौजूद कॉपर सुनिश्चित करने में मदद करता है कि थॉयराइड चयापचय (Thyroid Metabolism) नियिमत रूप से पूरे शरीर में हार्मोन उत्‍पादन और अवशोषण को बनाए रखता है।

अमरूद के पत्तों का लाभ रक्‍तचाप को कम करे – Guava Leaves for control blood pressure in Hindi

रक्‍त प्रवाह (Blood Pressure) को नियंत्रित करने के लिए अमरूद के पत्ते के फायदे का उपयोग किया जा सकता है। यह खून के गाढ़पन को दूर कर रक्‍तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है। अमरूद के पत्तों में फाइबर की उच्‍च मात्रा और हाइपोग्लाइसेमिक (Hypoglicemic) प्रकृति दोनों ही उच्‍च रक्‍त शर्करा को कम करने में मदद करते हैं।

अमरूद के पत्ते का उपयोग मस्तिष्‍क को स्‍वस्‍थ्‍य रखे – Guava Leaves for Brain Healthy in Hindi

मस्तिष्‍क को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए अमरूद के पत्तों का उपयोग लाभकारी होता है। अमरूद के पत्तों में विटामिन बी3 (Niacin ) और विटामिन बी6 की अच्‍छी मात्रा मौजूद रहती है जो मस्तिष्‍क के स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। नियासिन संज्ञानात्‍मक कार्य और फोकस (Cognitive Function and Focus) के साथ-साथ रक्‍त प्रवाह में वृद्धि के लिए भी जाना जाता है।

अमरूद के पत्तों का उपयोग मुंह के छालों के लिए – Guava Leaves for Mouth ulcers in Hindi

यदि आप मुंह के छालों से परेशान हैं तो इनका उपचार करने के लिए अमरूद के पत्तों का इस्‍तेमाल करें। अमरूद के पत्ते मुंह के छालों का प्रभावी रूप से उपचार कर सकते हैं। इसके लिए आपको अमरूद की कोमल पत्तियों को चबाना है। अमरूद के पत्तों के रस में मौजूद पोषक तत्‍व आपके छालों की ऊपरी परत को तुरंत राहत दिलाते हैं जिससे छालों की जलन से छुटकारा मिलता है। नियमित रूप से दिन में 2 या 3 बार इनको चबाने से छाले जल्‍दी ठीक हो सकते हैं।

अमरूद के पत्तों के फायदे नींद की गुणवत्‍ता को सुधारे – Guava Leaves Improves Quality of Sleep in Hindi

नियमित रूप से अमरूद के पत्तों की चाय का सेवन करने से नींद की गुणवत्‍ता में सुधार होता है। यह आपकी नसों को शांत करता है और आपके दिमाग को भी स्थिर रखता है जिससे अच्‍छी नींद को बढ़ावा मिलता है।

अमरूद पत्तियां का उपयोग कैसे करें – How to Use Guava Leaves in hindi

इसके लिए आपको एक मुठी (handful) अमरुद की पत्तियों, एक लीटर पानी और इनको उबालने के लिए एक बर्तन की आवश्यकता होगी।

  1. 20 मिनट तक अमरूद के पत्तों पानी में उबालने से शुरू करें और इसे कमरे के तापमान में ठंडा कर दें। स्नान के बाद इसका उपयोग करना सबसे अच्छा होता है।
  2. जब आपके बाल लगभग पूरी तरह से सूख जाते हैं, तब अमरूद के पत्ते के से बने घोल को लगाना शुरू करें। कम से कम 10 मिनट के लिए अपने स्कैल्प की मालिश (Massage) करें और सुनिश्चित करें कि यह अच्छी तरह फैल गया है। अमरूद के पत्तों से बने पानी की मालिश रक्तचाप में सुधार करती है, जो बाल की जड़ों (follicles) को अधिक पोषण प्राप्त करने में मदद करता है। जिससे बालों का विकास तेजी से होता है।
  3. अमरूद के पत्तों से बने पानी की मालिश करते समय जड़ों और बालों के टिप (roots and tips ) पर अतिरिक्त ध्यान दें। आप इस घोल को दो घंटे तक के लिए छोड़ सकते हैं। वैकल्पिक रूप से, आप अपने बालों को एक तौलिया से लपेट सकते हैं और सो भी सकते हैं।
  4. अपने बालों को गुनगुने पानी (lukewarm water) के साथ धोएं लेकिन गर्म पानी का प्रयोग न करें क्योंकि यह आपके बालों और स्कैल्प को सूखाता है।

यदि आप बालों के झड़ने की समस्या का सामना कर रहे हैं, तो इसे सप्ताह में तीन बार इस अमरूद के पत्ते से बने घोल ला उपयोग करें। आप बालों के विकास (hair growth) को तेज करने और अपने बालों को चमकाने (shiny hair) के लिए इसका उपयोग कर रहे हैं, तो सप्ताह में दो बार इसका इस्तेमाल करें।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

50 से ज्यादा बिमारियों का इलाज है हरसिंगार (पारिजात)

गहरी और अच्छी नींद लेने के लिए घरेलू उपाय !!

गेंहू जवारे का रस, 300 रोगों की अकेले करता है छुट्टी

मात्र 16 घंटे में kidney की सारी गंदगी को बाहर निकाले

किसी भी नस में ब्लॉकेज नहीं रहने देगा यह रामबाण उपाय

Babool Fali ke Fayde, बबूल की फली घुटनों के दर्द का तोड़

पुरुषों के लिए वरदान है इलायची वाला दूध

बुढ़ापे तक रहना है जवान तो मेथीदाना खाना शुरू कर दीजिये

खाली पेट गर्म पानी के साथ काली मिर्च खाने से होगा ऐसा असर

कमर दर्द (Back Pain) का कारण और राहत के लिए घरेलू उपाय

तेजपत्ता हैं शरीर के लिए काफी लाभदायक

मांस से भी १०० गुना ज्यादा ताकतवर है ककोरा की सब्जी

विटामिन K की कमी को दूर करने के घरेलू उपाय

सहजन खाने से होती है 300 से ज्यादा बड़ी बीमारिया दूर

धतूरे के फायदे और घरेलू आयुर्वेदिक उपचार

चूना खाने के आश्चर्यजनक फायदे, जो शायद आप न जानते हों

सोते समय सिर किधर रखें और पैर किधर, ध्यान रखें ये बातें

रोज सुबह पिए 1 ग्लास लौंग का पानी, 21 दिनों में १० किलो वजन घटाएं

लहसुन वाला दूध 1 महीने तक सोने से पहले पी लें, 7 बीमारियां होगी दूर

मुनाफे के 30 बिजनेस जिन्हें आप शुरू कर सकते हैं कम पूँजी में

कोरोना से भी खतरनाक होगा चिकन से फैलने वाला ये वायरस

दिल्ली से बिहार के बीच बड़े भूकंप का खतरा? 8.5 हो सकती है तीव्रता

थायराइड को जड़ से खत्म करेगा इस औषधि का प्रयोग

चुपचाप काले कपड़े में फिटकरी बांधकर यहाँ रख दे

50 अलग अलग बीमारियों के लिए जानिए रामबाण घरेलू उपाय

ज्योतिष के अनुसार कोरोनावायरस का अंत कैसे और कब होगा?

कब्ज का रामबाण इलाज हैं ये घरेलू उपाय

फिटकरी के रामबाण उपाय – 200 से ज्यादा बिमारियों का इलाज

चीन ने नेपाल के उत्तरी गोरखा में रुई गांव पर किया कब्‍जा

अपनी आंतों की सफाई इन तरीकों से करें यदि आपको रहना है स्वस्थ

कैलाशपर्वत के 10 रहस्य जानकर हैरान रह जाएंगे, नासा भी हैरान

इस पर्वत पर माना जाता है शिव का वास, चमत्कारिक रूप से बनता है ओम

गुड़हल (Gudhal) के फूल के ये चमत्कारी फायदे नहीं जानते होंगे आप

सुबह उठकर हथेली देखने से मिलते हैं ये 3 लाभ

कोरोनावायरस की आयुर्वेदिक दवा आ गई, 7 दिन में होंगे ठीक

भूटान ने नहीं रोका था भारत के गांव का पानी, भूटान ने सफाई दी

टिकटोक समेत 59 चीनी ऍप पर भारत सरकार ने लगाया बैन

Yoga to Reduce Fat पेट कम करने के लिए योगासन

ये है 3 औषधियों का नाश्ता जो 100 वर्षों तक जवां बनाकर रखेगी

माइग्रेन के दर्द से राहत पाने के लिए ये 5 घरेलू उपाय अपनाएं

टाइफाइड (Typhoid fever) के लक्षण और घरेलू इलाज

गंजेपन का रामबाण इलाज — गंजे सर पे बाल उगाने के उपाय

प्राण योग मुद्रा डिप्रेशन-डायबिटीज जैसी बीमारियों का रामबाण इलाज

This Post Has One Comment

  1. Rahul

    Nice

Leave a Reply