You are currently viewing हैज़ा के घरेलू उपाय !!

हैज़ा के घरेलू उपाय !!

Spread the love

1. पुदीने का इस्तेमाल बहुत सारे रोगों के साथ-साथ हैज़ा जैसी बीमारियों में भी किया जाता है। दोस्तों अगर देखा जाए तो पुदीना हमारे शरीर के लिए एक औषधि रूप है  । सबसे पहले आप हरे पुदीने को लेकर आप उसका रस निकाल लें । पुदीने के रस को आप सुबह शाम जितना पी सकते है उतना पिएं, अगर आप इसका सेवन नहीं कर पा रहे हैं तो आप इसमें थोडा सा पानी भी मिला । अगर आप पुदीने के रस को नहीं पी पा रहे है तो मार्किट से पुदीने का टेबलेट भी इस्तेमाल कर सकते है ।

2. कालरा के लिए यह नुस्खा भी बहुत बहुत फायदेमंद है, क्योंकि प्याज़ में पानी की मात्र अधिक पाई जाती है,  इसलिए हम लोगो को गर्मी के मौसम में स्वादानुसार कच्चे प्याज़ का सेवन करते रहना चहिय| प्याज से थोडा सा प्याज का रस निकाल लें । प्याज के रस को थोडा सा गर्म करके उसमे थोडा सा नमक मिला लें । इस नुस्खे का सेवन दिन में कम से कम 2-3 बार जरुर करे । अगर आप सेवन कर सकते हैं, इस तैयार नुस्खे में थोडा सा पुदीने का रस भी मिला लें, आपको और भी ज्यादा फायदा करेगा ।

3. लहसुन के अन्दर पाए जाने वाले गुण हैज़ा जैसी बीमारी की रोकथाम करते है, इस नुस्खे का प्रयोग करके आप बड़ी ही आसानी से हैज़े जैसी बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं, इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व हमारी सेहत के लिए बहुत लाभदायक होते है| लहसुन को थोड़े से पानी में डालकर कर अच्छे से उबाल ले ।इस उबले हुए पानी को दिन में कई बार सेवन करे आपको इसका जल्द ही फायदा होगा और साथ में, अपने खाने में भी लहसुन का भी प्रयोग करे ।

4. आम हमारे पेट के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है, यह हमारे पाचन क्रिया को सही रखने में बहुत मददगार साबित होता है, और साथ इस नुस्खे का प्रयोग करके आप बड़ी ही आसानी से कालरा से छुटकारा पा सकते है, आम के पत्ते को थोड़े से पानी में उबालकर, पानी को छान ले. फिर इसी पानी को दिन में कई बार इस्तेमाल करे । दूसरा तरीका कच्चे आम को अच्छे से पीसकर उसमे थोडा सा दही मिलाकर सेवन करे, कालरा से आपको जल्द ही राहत मिलेगी।

5. तुलसी का पत्ता हैज़ा के लिए रामबाण की तरह होता है तो आइये जाने तुलसी से कैसे हैजा का नुस्खा बनाये, अगर रोज खाली पेट तुलसी और नीम की पत्ती को मिलाकर खाया जाये तो सभी बीमारी दूर हो सकती है|तुलसी और नीम के पत्ते को, कपूर और हींग के साथ मिलाकर पीस लें|अब इसकी गोली बना के सुखा लें|सुबह शाम नियमित रूप से इसे लेने से बहुत लाभ मिलता है|

6. हैज़ा के लिए लालमिर्च एक सबसे सरल और आसान उपाय माना जाता है, इसके सेवन से आप जल्द ही हैज़ा जैसी बीमारी से राहत पा सकते है, तो आइये जानते है इस सरल नुस्खे के बारे में-   लालमिर्च के बीज को निकालकर उसके छिलके को पीस लें|अब इस छिलके को शहद के साथ मिलाकर सेवन करे इससे लाभ होगा|

7. मिश्री में पाए जाने वाले गुण हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होते है, अगर इसका सेवन शरीर के आवश्कतानुसार किया जाए तो, अगर आप इसका सेवन शरीर के आवश्कतानुसार नहीं करते है तो आपको दूसरी अन्य बीमारियों का भी सामना करना पड़ सकता है, 1 एक गिलास पानी में एक नींबू निचोड़ लें। इसमें एक चम्मच पिसी मिश्री मिलाकर शिकंजी बना लें। प्रतिदिन इसका सेवन आपको हैज़ा से बचाएगा।

8. मेथी के पाउडर से भी आप जल्द ही इस बीमारी से राहत पा सकते है, क्योंकि मेथी के पाउडर में पाए जाने वाले गुण इस बीमारी को दूर भगाते है- दही में मेथी पाउडर,जीरा पाउडर डालकर खाएं सबसे पहले आप मेथी का पाउडर और जीरे का पाउडर बना ले । इस बने दोनों पाउडर को एक साथ मिलाकर सेवन करे आपको जल्द ही इससे राहत मिलेगा ।

9. कपूर में बहुत ही ज्यादा लाभकारी गुण पाए जाते हैं, तो हमारे शरीर के लाभकारी होते है, अगर आप हैज़ा यानि कालरा से परेशान है तो आप अपने साथ कपूर रखिय, ये अपना असर आपको जल्द ही दिखाएगा, और साथ ही अपने घरो में सुबह शाम कपूर जरुर जलाएं । अगर आप कालरा से परेशान है तो आप दिनभर में जितना नमक और शक्कर, पानी में मिलाकर पी सकते है, उतना पीजिय, ये आपको जल्द ही राहत दिलाएगा ।

Leave a Reply