All Ayurvedic

जीवन के ये महत्त्वपूर्ण रहस्य, जो भगवान शिव ने बताए थे

जीवन के ये महत्त्वपूर्ण रहस्य, जो भगवान शिव ने बताए थे

Spread the love
जीवन

भगवान शिवजी ने माता पार्वती जी को बताए थे जीवन के ये महत्त्वपूर्ण रहस्य

भगवान शिवजी ने देवी पार्वती जी को समय-समय पर कई ज्ञान की बातें बताई हैं। जिनमें मनुष्य के सामाजिक जीवन से लेकर पारिवारिक और वैवाहिक जीवन की बातें शामिल हैं। भगवान शिवजी ने देवी पार्वती जी को जो बातें बताई थीं वे हर मनुष्य के लिए उपयोगी हैं, जिन्हें जानकर उनका पालन हर किसी को करना ही चाहिए।

‘सबसे बड़ा धर्म और सबसे बड़ा पाप क्या है?’

मनुष्य जीवन के लिए सबसे बड़ा धर्म है सत्य बोलना या सत्य का साथ देना और सबसे बड़ा अधर्म है असत्य बोलना या उसका साथ देना। ~ इसलिए हर किसी को अपने मन, अपनी बातें और अपने कामों से हमेशा उन्हीं को शामिल करना चाहिए, जिनमें सच्चाई हो, क्योंकि इससे बड़ा कोई धर्म है ही नहीं। असत्य कहना या किसी भी तरह से झूठ का साथ देना मनुष्य की बर्बादी का कारण बन सकता है।

अपने हर काम के साक्षी खुद बनें

मनुष्य को अपने हर काम का साक्षी यानी गवाह खुद ही बनना चाहिए, चाहे फिर वह अच्छा काम करे या बुरा। उसे कभी भी ये नहीं सोचना चाहिए कि उसके कर्मों को कोई नहीं देख रहा है। गलत काम करते समय यह भाव मन में होता है कि कोई नहीं देख रहा और इसी वजह से बिना किसी भी डर के पाप कर्म करते जाते हैं, लेकिन सच्चाई कुछ और ही होती है। वस्तुतः मनुष्य अपने सभी कर्मों का साक्षी खुद ही होता है। अगर मनुष्य हमेशा यह एक भाव मन में रखेगा तो वह कोई भी पाप कर्म करने से खुद ही खुद को रोक लेगा।

मन, वाणी, कर्म से पाप कर्म की इच्छा नहीं करें

किसी भी मनुष्य को मन, वाणी और कर्मों से पाप करने की इच्छा नहीं करनी चाहिए। क्योंकि मनुष्य जैसा काम करता है, उसे वैसा फल भोगना ही पड़ता है। मनुष्य को अपने मन में ऐसी कोई बात नहीं आने देना चाहिए, जो धर्म-ग्रंथों के अनुसार पाप मानी जाए। जीवन में अपने मुंह से कोई ऐसी बात नहीं निकालनी चाहिए और न ही ऐसा कोई काम करना चाहिए, जिससे दूसरों को कोई परेशानी या दुख पहुंचे। पाप कर्म करने से मनुष्य को न सिर्फ जीवित होते हुए इसके परिणाम भोगना पड़ते हैं बल्कि मारने के बाद नरक में भी यातनाएं झेलना पड़ती हैं।

किसी मनुष्य, वस्तु या परिस्थित से आसक्ति न रखें

मनुष्य को जिस भी व्यक्ति या परिस्थित से लगाव हो रहा हो, जो कि उसकी सफलता में रुकावट बन रही हो, मनुष्य को उसमें दोष ढूंढ़ना शुरू कर देना चाहिए। सोचना चाहिए कि यह कुछ पल का लगाव हमारी सफलता का बाधक बन रहा है। ऐसा करने से धीरे-धीरे मनुष्य लगाव और मोह के जाल से छूट जाएगा और अपने सभी कामों में सफलता पाने लगेगा।

आवश्यकताओं और इच्छाओं के अंतर को समझें

मनुष्य की तृष्णा यानि इच्छाओं से बड़ा कोई दुःख नहीं होता और इन्हें छोड़ देने से बड़ा कोई सुख नहीं है। मनुष्य का अपने मन पर वश नहीं होता। हर किसी के मन में कई अनावश्यक इच्छाएं होती हैं और यही इच्छाएं मनुष्य के दुःखों का कारण बनती हैं। अतः जरुरी है कि मनुष्य अपनी आवश्यकताओं और इच्छाओं में अंतर समझे और फिर अनावश्यक इच्छाओं का त्याग करके शांत मन से जीवन बिताएं।

मूर्खता का कोई इलाज नहीं है, कोई उपाय नहीं है

अग्नि को जल से बुझाया जा सकता है, तीव्र धूप में छाते द्वारा बचा जा सकता है, जंगली हाथी को भी एक लम्बे डंडे (जिसमे हुक लगा होता है ) की मदद से नियंत्रित किया जा सकता है, गायों और गधों के झुंडों को भी छड़ी से नियंत्रित किया सकता है। अगर कोई असाध्य बीमारी हो तो उसे भी औषधियों से ठीक किया जा सकता है। यहाँ तक की जहर दिए गए व्यक्ति को भी मन्त्रों और औषधियों की मदद से ठीक किया जा सकता है। इस दुनिया में हर बीमारी का इलाज है लेकिन किसी भी शास्त्र या विज्ञान में मूर्खता का कोई इलाज या उपाय नहीं है।

सत्य, सदाचार, सदाचरण का पालन करें और धर्म धारण करें

मानव द्वारा अर्जित धन-संपत्ति अस्थायी और नष्ट होने वाली होती है तथा उसके शरीर रूपी मन्दिर में स्थित प्राण शक्ति जो उसे जीवित रखती है वह भी अस्थायी है ओर कभी भी नष्ट हो सकती है | यह सारा संसार ही अस्थायी है और अकेला धर्म ( सद् आचरण और तत्सम्बन्धी नियमों का पालन करना ) ही अपरिवर्तनीय है |

निर्गुण सगुण का विवेक होना चाहिए

जिनको निर्गुण-सगुण का कुछ भी विवेक नहीं है, जो अनेक मनगढ़ंत बातें बका करते हैं, जो श्री हरि की माया के वश में होकर जगत में, जन्म-मृत्यु के चक्र में, भ्रमते फिरते हैं, उनके लिए कुछ भी कह डालना असंभव नहीं है।

महामोह रूपी मदिरा के नशे से बचें

जिन्हें वायु का रोग सन्निपात, उन्माद आदि हो गया हो, जो भूत के वश हो गए हैं और जो नशे में चूर हैं, ऐसे लोग विचारकर वचन नहीं बोलते। जिन्होंने महामोह रूपी मदिरा पी रखी है, उनके कहने पर कान नहीं देना चाहिए।

Please Like and Share Our Facebook Page
Herbal Medicines

Find US On Instagram
Herbal Medicines

Find US On Twitter
Herbal Medicines

गुर्दे की पथरी निकालने के 10 घरेलू इलाज

दाद खाज खुजली को ठीक करने के घरेलू इलाज

मिर्गी का आयुर्वेदिक इलाज – Mirgi (Epilepsy) Ka Ayurvedic ilaj

पेशाब का रंग बताता है शरीर की दिक्कत, ध्यान देने की जरूरत

यूरिक एसिड (Uric Acid) के लक्षण, कारण और घरेलू उपाय

फड पॉइजनिंग के लक्षण और घरेलू उपचार

हींग का पानी- हींग को पानी में मिलाकर पीने से होंगे ये फायदें

अच्छी नींद आने के लिए घरेलू उपाय, अनिद्रा के लक्षण

हल्दी का दूध – रात को दूध में हल्दी मिलाकर पीने के फायदे

अदरक का पानी पीने के फायदे, जड़ से खत्म होंगे कई रोग

ककोरा – दुनिया की सबसे ताकतवर सब्जी है ककोड़ा/कंटोला

पेशाब से जुड़ी समस्याएं जैसे पेशाब में जलन आदि का घरेलू इलाज

चश्मा हटाने का उपाय, चश्मे को कहना है बाय तो अपनाएं ये टिप्‍स

प्याज के रस से दोबारा बाल उगाने का रामबाण उपाय

एक्जिमा (Eczema), दाद-खाज, खुजली, सभी चर्म रोगों को खत्म करें

शरीर की गंदगी निकालने का उपाय | BODY DETOX

पेट में गैस बनने के कारण और घरेलू उपाय | STOMACH GAS

करी पत्ता के फायदे, ये पत्तियां बुढ़ापे तक बालों को काला रखती हैं

दूध के साथ इन चीज़ों का सेवन वर्जित है

पिगमेंटेशन के लिए फेस पैक | PIGMENTATION FACE PACK

चेहरे की खूबसूरती निखार देगा नारियल का दूध

अखरोट रोजाना खाने से आपको मिलेंगे ये बेहतरीन फायदे

स्त्रियों के 16 श्रृंगार कौन से होते है, इसके स्वस्थ्यवर्धक फायदे

पसीने की दुर्गंध से हैं परेशान, तो इन टिप्स को करें फॉलो

धनतेरस को खरीदे यह चीजे साल भर रहेगी बरकत

घर में फिटकरी रखने के फायदे और 10 आश्चर्यजनक उपाय

वात पित्त कफ का इलाज : त्रिदोष नाशक उपाय

लिवर (LIVER) को ठीक करने के घरेलू उपाय LIVER Diseases

वैजयंती माला धारण करने के फायदे, अद्भुत है वैजयंती माला

गुड़ और चना साथ खाने के 20 जबरदस्त फायदे

This Post Has 2 Comments

  1. Khushbu

    Nice Thought

  2. dublaj

    Great article post. Much thanks again. Really Great. Sybilla Matt Aribold

Leave a Reply