You are currently viewing कद्दू के बीज के फायदे !!

कद्दू के बीज के फायदे !!

Spread the love

हृदय स्वास्थ्य

हृदय स्वास्थ्य के लिए भी कद्दू के बीज खाने के फायदे हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, कद्दू के बीज का तेल महिलाओं में रक्तचाप को नियंत्रित कर सकता है। रक्तचाप ठीक रहने से हृदय रोग से भी बचा जा सकता है। जैसा कि हमने बताया है कि कद्दू के बीज फाइबर से समृद्ध होते हैं, जिसका लाभकारी प्रभाव हृदय स्वास्थ्य पर भी देखा जा सकता है। अध्ययन के अनुसार, शरीर का बढ़ता मोटापा स्ट्रोक की आशंका बढ़ा सकता है। यहां फाइबर की अहम भूमिका देखी जा सकती है। फाइबर वजन को नियंत्रित करने का काम कर सकता है।

अनिद्रा

कद्दू के बीज खाने के फायदे में अनिद्रा से छुटकारा भी है। कद्दू के बीज मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत हैं और मैग्नीशियम मांसपेशियों को आराम देने का काम करता है , जिससे अच्छी नींद आ सकती है।

तनाव होता है कम

तनाव मुक्त रहने के लिए भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। कद्दू के बीज में विटामिन-सी पाया जाता है और एक रिपोर्ट के अनुसार विटामिन-सी न्यूरोट्रांसमीटर (एक ब्रेन केमिकल) के निर्माण करने का काम करता है। वैज्ञानिक रिपोर्ट के अनुसार, न्यूरोट्रांसमीटर मस्तिष्क की गतिविधियों में सुधार कर मूड और नींद को नियंत्रित करने का काम करता है, जिससे तनाव जैसी मानसिक स्थितियों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। कद्दू के बीज मैग्नीशियम से भी समृद्ध होते हैं, जिससे आपको शांत रहने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, कद्दू के बीज में विटामिन-बी और जिंक जैसे पोषक भी पाए जाते हैं, जो तनाव को दूर करने का काम कर सकते हैं ।

गठिया

गठिया जैसे हड्डी रोगों के लिए भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। पमकिन सीड कैल्शियम से समृद्ध होते हैं, जो ऑस्टियोपोरोसिस होने की आशंका को कम कर सकते हैं। इसके अलावा, अपने आहार में अच्छे फैट जैसे मोनोसैचुरेटेड को शामिल कर अर्थराइटिस से बचा जा सकता है।

ब्लैडर स्टोन

पमकिन सीड से बने सप्लीमेंट ब्लैडर स्टोन से निजात दिलाने का काम भी कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, कद्दू के बीज में फास्फोरस की मात्रा पर्याप्त होती है। इससे ब्लैडर स्टोन के जोखिम को कम किया जा सकता है। रिपोर्ट बताती है कि कद्दू के बीज से बने सप्लीमेंट को जितने ज्यादा दिनों तक लिया जाएगा, वो उतना प्रभावी असर दिखा सकता है।

पोस्टमेनोपॉज लक्षणों को करता है कम

एक अध्ययन के अनुसार, कद्दू के बीज का तेल फाइटोएस्ट्रोजन से भरपूर होता है, जो रजोनिवृत्ति के बाद (Menopause) के लक्षणों जैसे हॉट फ्लॉश (अचानक बेचैन कर देने वाली गर्मी का एहसास), सिरदर्द और जोड़ों में होने वाले दर्द को कम करने का काम कर सकता है। साथ ही कद्दू के बीज रजोनिवृत्ति से जूझ रही महिलाओं में डायस्टोलिक रक्तचाप (DBP) को कम करने के साथ-साथ अच्छे कोलेस्ट्रॉल (HDL) के स्तर बढ़ा सकते हैं।

पाचन के लिए

भोजन को पचाने में भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। पमकिम सीड में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो पाचन क्रिया को मजबूत करने के साथ-साथ कब्ज जैसी पेट संबंधी समस्या से भी छुटकारा दिलाने का काम करता है।

दृष्टि में सुधार

आंखों के लिए भी कद्दू के बीज के फायदे देखे जा सकते हैं। यह विटामिन-ए से समृद्ध होता है, जो अंधेरे में भी दृष्टि को बढ़ावा देने का काम कर सकता है।

बेहतर प्रतिरोधक क्षमता

कद्दू के बीज विटामिन-सी से समृद्ध होते हैं, जो कारगर एंटीऑक्सीडेंट है। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का काम करता है। इसके अलावा, पमकिम सीड में फाइबर भी होता है, जो इम्यून सिस्टम की कार्यक्षमता को बेहतर करने में मदद कर सकता है ।

रक्तचाप

रक्तचाप के लिए भी कद्दू के बीजों की भूमिका देखी जा सकती है। एक रिपोर्ट के अनुसार, कद्दू के बीजों का तेल अपने एंटी-हाइपरटेंसिव गुण से उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभा सकता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि कद्दू के बीज महिलाओं में रजोनिवृत्ति के दौरान डायस्टोलिक रक्तचाप (DBP) को कम कर सकते हैं।

Leave a Reply