You are currently viewing मलाई रहित दूध पीने से क्या लाभ होते हैं !!

मलाई रहित दूध पीने से क्या लाभ होते हैं !!

Spread the love

1.प्रोटीन- मलाई रहित दूध प्रोटीन का अच्छा स्रोत होता है। एक कप मलाई रहित दूध में 8.3 ग्राम प्रोटीन होता है साथ ही पर्याप्त मात्रा में अमीनो एसिड भी होते हैं। नाश्ते में मलाई रहित दूध का सेवन मसल्स बनाने के लिए लाभकारी होता है।

2. कैल्शियम- सिर्फ हड्डियों को ही नहीं बल्कि शरीर में मौजूद बहुत सारे टिशू को काम करने के लिए कैल्शियम की जरुरत होती है। रोजाना मलाई रहित दूध का सेवन करने से 299 मिग्रा कैल्शियम का स्तर शरीर में बढ़ जाता है जो कि हड्डियों के साथ-साथ शरीर के कई अंगों की कार्यप्रणाली के लिए लाभकारी होता है।

3. विटामिन ए का अच्छा स्रोत होता है- मलाई रहित दूध में प्राकृतिक रुप से फैट में घुलनशील विटामिन ए होता है जो कि आंखों के लिए बेहद लाभकारी होता है। मलाई रहित दूध का सेवन आंखों के लिए बेहद फायदेमंद होता है।

4. विटामिन डी का अच्छा स्रोत होता है- मलाई रहित दूध में विटामिन डी भी पर्याप्त मात्रा में होता है जो कि दांतों और हड्डियों के लिए काफी लाभकारी होता है। रोजाना मलाई रहित दूध पीने से शरीर में विटामिन डी की कमी नहीं होती है।

5. वज़न कम करने के लिए लाभकारी-मलाई रहित दूध वज़न कम करने के लिए भी लाभकारी होता है। इसमें फैट और कैलोरी काफी कम होती है इसलिए इसका सेवन करने से वज़न कम हो जाता है।

6. मलाई रहित दूध में मौजूद प्रोटीन मांसपेशियों को शक्तिशाली बनाता है। अगर आप व्यायाम के बाद मलाई रहित दूध का सेवन करते हैं तो इससे मांसपेशियं मजबूत होंगी। यह वर्कआउट के कारण शरीर में आई द्रवों की कमी की पूर्ति करता है।

7. दिमाग को स्वस्थ और तेज बनाये रखने के लिए मलाई रहित दूध का सेवन कीजिए। दिमाग को चुस्त बनाए रखने के लिए रोजाना एक गिलास दूध का सेवन फायदेमंद होता है। ऐसा करने से आपकी दिमागी क्षमता तेज होगी।

8. वर्तमान अनियमित दिनचर्या और अस्वस्थ खानपान के साथ काम की अधिकता के कारण तनाव आना लाजमी है। इससे बचने के लिए मलाई रहित दूध का सेवन कीजिए। रात में सोने से पहले एक गिलास गुनगुना दूध पीने से मांसपेशियों और नसों को आराम मिलता है और नींद अच्छी आती है।

9. मलाई रहित दूध का सेवन करने से त्वचा में प्राकृतिक रूप से निखार आता है। दरअसल मलाई रहित दूध में कैल्शियम, प्रोटीन व चिकनाई होती है, जिससे त्वचा में कसाव आता है और झुर्रियां कम होती हैं। दूध में पाया जाने वाला लैक्टिक एसिड एक्सफोलेंट और एंजाइम की तरह काम करता है, जो त्वचा को कोमल बनाने का काम करता है।

10. सामान्य दूध में फैट अधिक होता है जिसके सेवन से शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है और परिणाम स्वरुप वज़न भी बढ़ता है। जबकि मलाई रहित दूध में फैट न के बराबर होता है जो और सभी पौष्टिक तत्व होते हैं। ऐसे में वज़न कम करने के लिए इसका सेवन फायदेमंद है।

Leave a Reply