You are currently viewing नींबू पानी पीने से शरीर को होते हैं ये 8 गंभीर नुकसान !!

नींबू पानी पीने से शरीर को होते हैं ये 8 गंभीर नुकसान !!

Spread the love

1.दांतों के लिए खतरनाक- नींबू पानी पीने के फायदे जरूर है लेकिन ज्यादा नींबू पानी पीना आपके सफेद स्वस्थ दांतों के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है । ‘नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ डेंटल ऐंड क्रैनिफेशियल’ रिसर्च में प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक, नींबू पानी के ज्यादा सेवन से दांतों को नुकसान पहुंचता है । नींबू अत्यधिक अम्लीय होता है जो टूथ एनमल को कमजोर बना देता है । नींबू में साइट्रस एसिड होता है जिससे दांतों की सबसे बाहरी परत को नुकसान पहुंचता है. एक अन्य स्टडी के मुताबिक, लेमन जूस से दांतों को सॉफ्ट ड्रिंक के बराबर ही नुकसान पहुंचता है।

2-हार्टबर्न और अल्सर- रिसर्च के मुताबिक, नींबू पानी के अत्यधिक सेवन से हार्टबर्न की समस्या बढ़ सकती है क्योंकि यह प्रोटीन तोड़ने वाले एंजाइम पेप्सिन को सक्रिय कर देता है । नींबू पानी के ज्यादा सेवन से पेप्टिक अल्सर की स्थिति और खतरनाक हो सकती है।  ज्यादा अम्लीय जूसों की वजह से ही अल्सर होता है. नींबू-पानी लेने से हालत और खराब हो सकती है।अगर आप इन बीमारियों से परेशान हैं तो नींबू पानी के सेवन से पहले अपने डॉक्टर से जरूर परामर्श कर लें।

3-शरीर में जल की भारी कमी होना- अगर गर्म पानी में नींबू मिलाकर पी रहे हैं तो बार-बार पेशाब लगने की समस्या हो सकती है।हो सकता है कि आपके शरीर में जल की भारी कमी हो जाए। ऐसा इसलिए क्योंकि नींबू-पानी आपके शरीर से जल की अतिरिक्त मात्रा को निकालता है। इसी प्रक्रिया में पेशाब के जरिए कई इलेक्ट्रोलाइट्स और सोडिमय जैसे तत्व भी बाहर निकल जाते हैं।कई बार इनके ज्यादा निष्कासन से डिहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है। नींबू-पानी के ज्यादा सेवन से पोटैशियम की कमी भी हो सकती है।

4-खून में आयरन की अधिकता- हम पहले से ही जानते हैं कि विटामिन सी शरीर में आयरन के अवशोषण की क्रिया को प्रोत्साहित करता है। विटामिन सी की अधिक मात्रा से खून में आयरन का स्तर अत्यधिक बढ़ सकता है। शरीर में आयरन की अधिक मात्रा खतरनाक साबित हो सकती है। खून में आयरन की अधिकता से आंतरिक अंगों को भी क्षति पहुंच सकती है।

5-माइग्रेन की समस्या- हालांकि इस संबंध में कम रिसर्च ही हुई है लेकिन कुछ एक्सपर्ट्स का मानना है कि साइट्रस माइग्रेन की समस्या को जन्म दे सकता है। यहां तक कि डेलवेयर बायोटेक्नॉलजी इंस्टिट्यूट ने सुझाव दिया है कि माइग्रेन से बचने के लिए नींबू पानी के सेवन से बचना चाहिए।

6-स्टोन का रिस्क बढ़ जाता है- नींबू में साइट्रस एसिड के अलावा ऑक्सलेट की भी पर्याप्त मात्रा होती है। नींबू पानी का ज्यादा सेवन करने से ये क्रिस्टल के रूप में शरीर में जमा हो जाता है। जिससे किडनी स्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है।

7-सनबर्न- कुछ स्टडीज के मुताबिक, त्वचा पर लेमन जूस लगाकर धूप में निकलने से आपकी स्किन पर डार्क स्पॉट हो सकते हैं। इसके लिए नींबू पानी में मौजूद रसायन को जिम्मेदार ठहराया जाता है। सूर्य के प्रकाश में संपर्क में आने से सबसे खतरनाक तरह का सनबर्न हो सकता है।

8-बहुत अधिक नींबू पानी पीने से हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। नींबू में अम्लीयता होती है जिसकी वजह से हड्डियों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।ऐसे में कोशिश करें कि नींबू पानी का सेवन नियंत्रित मात्रा में चिकित्सक के परामर्श से करें। 9-अगर आपको पहले से ही गैस की समस्या है तो नींबू पानी का सेवन आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। नींबू पानी पीने से एसिडिटी या गैस की समस्या बढ़ सकती है।जिसका असर पाचन क्रिया पर भी पड़ता है।

Leave a Reply