You are currently viewing पान के पत्ते के फायदे !!

पान के पत्ते के फायदे !!

Spread the love

कब्ज़ (Betel Leaf For Constipation)

पान के पत्ते चबाना कब्ज़ के लिए भी एक कारगर इलाज है। कब्ज़ की स्थिति में पान के पत्ते पर अरंडी का तेल (Castor Oil) लगाकर चबाने से कब्ज़ में राहत मिलती है।

खाँसी (Betel Leaf For Cough)

पान के 15 पत्तो को 3 ग्लास पानी में डाल लें. इसके बाद, इसे तब तक उबाले, जब तक पानी उबल कर 1/3 ना रह जाए। इसे दिन में 3 बार पिएं।

पाचन तंत्र (Betel Leaf For Digestion)

पान के पत्ता का वैसे माउथ फेशनर की तरह इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन इसे चबाना हमारे लिए काफ़ी फायदेमंद हो सकता है। जब हम इसे चबा कर खाते हैं तब हमारी लार ग्रंथि पर असर पड़ता है। इससे इससे सलाइव लार बनने में मदद मिलती है। जो हमारी पाचन तंत्र के लिए बहुत ही जरुरी है। अगर आपने भारी भोजन भी कर लिया है तो उसके बाद आप पान खा लें। इससे आपको भोजन आसानी से पच जाएगा।

ब्रोंकाइटिस (Betel Leaf For Bronchitis)

पान के 7 पत्तो को 2 कप पानी में  मिश्री के साथ उबालें । जब पानी एक ग्लास रह जाए तो उसे दिन में तीन बार पिए. ब्रोंकाइटिस में लाभ होगा।

शरीर की दुर्गंध (Betel Leaf For Body Odor)

5 पान के पत्तो को 2 कप पानी में उबालें। जब पानी एक कप रह जाए तो उस पानी को दोपहर के समय पी ले। शरीर की दुर्गंध दूर हो जाएगी।

घाव (Betel Leaf For Injury)

पान के पत्ते को पीस कर जले हुए स्थान पर लगाएं. कुछ देर बाद इस पेस्ट को धो दें और वहाँ शहद लगा कर छोड़ दे। घाव जल्दी ठीक हो जाता हैं।

गैस्ट्रिक अल्सर (Betel Leaf For Gastric Ulcer)

पान के पत्ते के रस को पीने से गैस्ट्रिक अल्सर को रोकने में काफी मदद करता है। क्योंकि इसे गैस्ट्रोप्रोटेक्टिव गतिविधि के लिए भी जाना जाता है।

नकसीर

गर्मियो के दिनों में नाक से खून आने पर पान के पत्ते को मसलकर सूंघे। इससे बहुत जल्दी आराम मिलेगा।

मुँह के छाले

मुँह में छाले हो जाने पर पान को चबाए और बाद में पानी से कुल्ला कर लें। ऐसा दिन में 2 बार करें। राहत मिलेगी। आप चाहे तो ज़्यादा कत्था लगवा कर मीठा पान खा सकते हैं।

कैंसर (Betel Leaf For Cancer)

पान चबाने से ओरल कैंसर से भी बचा जा सकता है बशर्ते की पान का इस्तेमाल जर्दा और तम्बाकू के बिना किया जाये। पान के पत्ते में मौजूद एब्सकोर्बिक एसिड (Abscorbic acid) और अन्य एंटीऑक्सीडेंट मुंह में बन रहे हानिकारक कैंसर फ़ैलाने वाले तत्वों को नष्ट करते हैं। इसके सेवन से मुंह की दुर्गन्ध भी जाती है।

Leave a Reply