You are currently viewing पैरों में सूज़न को कम करने के असरदार घरेलू उपाय !!

पैरों में सूज़न को कम करने के असरदार घरेलू उपाय !!

Spread the love

आइस पैक –

सूज़न वाले स्थान पर 10-12 मिनट के लिए आइस पैक लगाएं। अगर आपके पास घर में आइस पैक नहीं है, तो आप कुछ बर्फ के टुकड़ों को गीले तौलिये में बांधकर उपयोग में ला सकते हैं। दिन में तीन-चार बार इस प्रक्रिया को दोहराएं। आइस पैक रक्त के प्रवाह को बढ़ावा देने का काम करता है, जिससे सूज़न और दर्द कम हो जाता है । इसे सूज़न के सबसे कारगर घरेलू उपचारों में गिना जाता है।

धनिए के बीज –

बीजों को पानी में तब तक उबालें, जब तक कि पानी की मात्रा आधी न हो जाए। अब पानी को छान लें और हल्का ठंडा होने दें। अब इस पानी को धीरे-धीरे पिएं। धनिया एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है, जो एंटी माइक्रोबियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है। पैर में सूज़न के उपचार के लिए यह एक कारगर विकल्प हो सकता है।

सेंधा नमक –

बाल्टी को गर्म पानी से भर लें और इसमें सेंधा नमक अच्छी तरह मिला दें। ध्यान रहे कि पानी ज्यादा गर्म न हो, वरना आपकी त्वचा जल सकती है। अब सूजे हुए पैर को पानी में 10-15 मिनट के लिए डालें। समस्या के दिनों में रात को सोन से पहले यह उपाय करें। पैरों में सूज़न का इलाज करने के लिए आप सेंधा नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह नमक मैग्नीशियम सल्फेट से समृद्ध होता है, जो मांशपेशियों के दर्द और तनाव को कम कर सूज़न को ठीक करने में मदद कर सकता है।

नींबू –

सभी सामग्रियों को मिला लें।इस मिश्रण को कुछ घंटों के लिए सूज़न वाली जगह पर लगाएं। रात में सोने से पहले यह उपाय करें। नींबू को अपने एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों के लिए जाना जाता है , जो सूज़न को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। वहीं, दालचीनी और जैतून का तेल भी अपने एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों के कारण सूज़न को करने में मदद कर सकता हैं। जैतून का तेल त्वचा को पोषण और नरम करने का काम भी करता है।

अदरक –

पानी में अदरक को डालकर कुछ मिनट तक अच्छी तरह उबाल लें। अब पानी को छानकर एक कप में डालें। स्वाद के लिए नींबू की कुछ बूंदें और शहद मिलाएं। अब इसे चाय की तरह धीरे-धीरे पिएं। पैरों में सूज़न के उपाय के रूप में आप अदरक का इस्तेमाल कर सकते हैं। अदरक विभिन्न औषधीय गुणों से युक्त एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है, जो शरीर के लिए फायदेमंद माना जाता है। यह एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है। इसलिए, यह दर्द व सूज़न से राहत देने का काम कर सकता है।

सेब का सिरका –

आधा कप सेब का सिरका गर्म पानी में और आधा कप ठंडे पानी में मिलाएं। सबसे पहले सिरके वाले गर्म पानी में तौलिया भिगोएं और निचोड़ लें। अब इसे सूज़े हुए पैर से लपेट दें। दो से तीन मिनट बाद तौलिया हटा दें। अब सिरके वाले ठंडे पानी में तौलिया भिगाएं और निचोड़कर सूज़े हुए पैर से लपेट दें। अच्छे परिणाम के लिए यह प्रक्रिया हर एक-दो घंटे बाद दोहराएं। सेब का सिरका पैरों में सूज़न का इलाज प्रभावी रूप से कर सकता है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार सेब के सिरके में मौजूद एंटीमाइक्रोबियल गुण सूज़न और दर्द को कम करने का काम कर सकते हैं।

डैंडिलियन चाय –

गर्म पानी में डैंडिलियन हर्ब डालें और दो-तीन मिनट बाद छान लें। अब इसका सेवन करें। समस्या के दिनों में रोजाना एक से दो बार इस चाय को पिएं। डैंडिलियन एक आयुर्वेदिक औषधि है, जो पैरों की सूज़न को कम करने का प्रभावी तरीका हो सकती है। यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से समृद्ध होती है, जो शरीर के किसी भी भाग में आई सूज़न को कम करने में मदद कर सकती है।

कंट्रास्ट बाथ –

एक बाल्टी को आधा गर्म पानी से भरे और दूसरी बाल्टी को आधा ठंडे पानी से भरें। ध्यान रहे कि पानी ज्यादा गर्म न हो। अपने सूज़े हुए पैर को पहले गर्म पानी की बाल्टी में 10 मिनट के लिए डालें और फिर 10 मिनट के लिए ठंडे पानी में डालें। रात को सोने से पहले यह प्रक्रिया दोहराएं। पैरों की सूज़न के लिए कंट्रास्ट बाथ एक कारगर उपाय हो सकता है। सूज़े हुए पैर को पानी के अलग-अलग तापमान में डालने से रक्त संचालन को बढ़ावा मिलता है, जिससे सूज़न की समस्या से निजात पाया जा सकता है।

बेकिंग सोडा –

चावल उबालें और स्टार्च युक्त पानी निकाल लें। पेस्ट बनाने के लिए चावल के पानी में बेकिंग सोडा मिलाएं। अब इसे अपने सूज़े हुए पैर पर 10-15 मिनट के लिए लगाएं। पैरों में सूज़न को कम करने के लिए एक त्वरित उपाय के रूप में इस पेस्ट का उपयोग करें। पैरों में सूज़न का इलाज आप बेकिंग सोडा से भी कर सकते हैं। यह एंटीमाइक्रोबियल गुण से समृद्ध होता है, जो दर्द व सूज़न से राहत देने का काम कर सकता है।

अजमोद ( पार्सले) –

गर्म पानी में पत्तियों को दो-तीन मिनट के लिए डुबोएं और फिर चाय की तरह पिएं। इस हर्बल टी को दिन में दो से तीन बार पी सकते हैं। अजमोद एक प्राकृतिक खाद्य पदार्थ है, जो पैरों में आई सूज़न से निजात दिलाने में आपकी मदद कर सकता है। यह एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है और दर्द व सूज़न को जल्द कम करने की क्षमता रखता है।

Leave a Reply