You are currently viewing प्याज के तेल के फायदे !!

प्याज के तेल के फायदे !!

Spread the love

1. यदि आप मधुमेह रोगी हैं तो प्‍याज के तेल के लाभ आपकी समस्‍या का समधान कर सकते हैं। नियमित रूप से प्‍याज के तेल का सेवन रक्‍त शर्करा के स्‍तर को नियंत्रित करने में सहायक होते हैं। प्‍याज के तेल में मौजूद पोषक तत्‍व शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध को बढ़ाते हैं जिससे रक्‍त शर्करा के स्‍तर को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।

2. क्‍या आप बालों के झड़ने संबंधी समस्‍या से परेशान हैं। यदि ऐसा है तो प्‍याज और नारियल के तेल का उपयोग करें। नियमित रूप से बालों में इस मिश्रण का इस्‍तेमाल करने से बालों की जड़ों को पोषण मिलता है जिससे वे जड़ से मजबूत होते हैं। बालों के लिए नारियल के तेल के फायदेहोते हैं। साथ ही प्‍याज में ऐसे खनिज पदार्थ होते हैं जो बालों को झड़ने से रोकते हैं। यदि आप भी अपने बालों को स्‍वस्‍थ और सुंदर बनाना चाहते हैं तो प्‍याज के तेल का उपयोग कर सकते हैं।

3. बालों के लिए प्‍याज के तेल का उपयोग करना बहुत ही लाभकारी होता है। आप सामान्‍य रूप से नारियल तेल के साथ प्‍याज के तेल को मिलाकर अपने बालों में इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इस मिश्रण को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए आप नारियल और प्याज के तेल में कुछ मेथी के बीजों को डालकर पका लें। फिर इस तेल को ठंडा करके अपने बालों में प्रयोग कर सकते हैं।

4. आप अपने हाथों में इस तेल के मिश्रण को लें और उंगलियों की मदद से बालों की जड़ में इस तेल को लगाएं। इसके बाद आप हल्‍के हाथों से स्‍कैल्‍प की हल्‍की मालिश करें। ऐसा करने से बाल झड़ने से बच सकते हैं।

5. महिलाओं और छोटे बच्‍चों के सिर में जूँ होने की समस्‍या आम होती है। लेकिन सिर की जूँ से छुटकारा पाने के लिए प्‍याज के तेल का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। प्‍याज के तेल के गुण जूँ को मारने और उनके अंडों को नष्‍ट करने में सहायक होते हैं। इसके लिए प्‍याज के तेल और मेथी के बीजों का उपयोग कर सकते हैं। आप 3 छोटे चम्‍मच मेथी के बीज लें और इन्‍हें पीसकर पाउडर बना लें। अब इस पाउडर को प्‍याज के तेल के साथ मिलाकर एक पतला पेस्‍ट तैयार करें। इस पेस्‍ट को अपने बालों में लगाएं और लगभग 30 मिनिट के बाद बालों को धो लें। ऐसा करने से सिर की जूँ दूर किया जा सकता है।

6. पाचन समस्‍याएं आपके लिए कई गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का कारण बन सकती है। लेकिन यदि आप नियमित रूप से प्‍याज के तेल का सेवन करते हैं तो आपको पाचन संबंधी समस्‍याएं होने की संभावना कम हो सकती है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि प्‍याज के तेल के औषधीय गुण पाचन को ठीक करने में सहायक होते हैं। आहार के रूप में सेवन करने पर यह पाचन में मदद करता है। इसके अलावा प्‍याज के तेल में मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल गुण आंतों में मौजूद परजीवी को नष्‍ट करने में सहायक होते हैं। ये परजीवी दस्‍त और पेचिशआदि समस्‍याओं का प्रमुख कारण होते हैं।

7. बुखार के लक्षणों को कम करने के लिए प्‍याज के तेल का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। बुखार के दौरान शरीर के तापमान को कम करने के लिए प्‍याज का तेल एक अच्‍छी औषधी है। इसके अलावा इस दौरान शरीर में होने वाले दर्द और ऐंठन आदि को भी प्रभावी रूप से दूर किया जा सकता है। बुखार के लक्षणों को दूर करने के लिए आप 1 चम्‍मच शहद में प्‍याज के तेल की 1-2 बूंदें लें और इसका सेवन करें। दिन में 2-3 बार सेवन करने पर बुखार में आराम मिल सकता है।

8. त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए प्‍याज का तेल बहत ही लाभकारी होता है। नियमित रूप से उपयोग करने पर यह त्‍वचा को स्‍वस्‍थ और तरोताजा रखता है। इसके अलावा यह एक्जिमा और सोरायसिस जैसी गंभीर त्‍वचा समस्याओं को भी प्रभावी रूप से दूर कर सकता है। किसी घाव या जले के निशान को दूर करने में भी प्‍याज का तेल प्रभावी होता है। आप अपनी त्‍वचा के रंग को साफ करने के लिए प्‍याज के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। प्‍याज के तेल में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट और जीवाणुरोधी गुण मुंहासों को दूर करने में भी सहायक होते हैं।

9. घाव उपचार के लिए प्‍याज का तेल बहुत ही फायदेमंद होता है। प्‍याज के तेल में एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं। जिसके कारण घाव में उपयोग करने पर प्‍याज का तेल घाव उपचार को गति दिलाता है। यदि आप घावों का जल्‍दी से उपचार करना चाहते हैं तो घाव के ऊपर मलहम या लोशन के रूप में प्‍याज के तेल का उपयोग कर सकते हैं।

10. यदि आप शीत या ठंड जैसी समस्‍याओं से परेशान हैं तो प्‍याज के तेल का उपयोग कर सकते हैं। सर्दी या शीत के लक्षणों को दूर करने के लिए आप प्‍याज के तेल को छाती पर लगाएं या प्‍याज के तेल की भाप लें। ऐसा करने पर आप किसी भी मौसम में होने वाली सर्दी को दूर कर सकते हैं। इसके अलावा आप साइनसाइटिस (sinusitis) को ठीक करने के लिए भी प्‍याज के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

11. प्‍याज के तेल के लाभ किसी भी प्रकार के दर्द को दूर करने में सक्षम होता है। यदि आप दांत के दर्द, कान दर्द या सिर के दर्द जैसी समस्‍या से परेशान हैं तो प्‍याज का तेल आपके लिए लाभकारी हो सकता है। दांत के दर्द को दूर करने के लिए आप प्‍याज के तेल की कुछ बूंदें लें और इसे दांतों पर लगाएं। सिर दर्द होने पर आप किसी अन्‍य तेल जैसे जैतून तेल, नारियल या सरसों के तेल में प्‍याज के तेल की 2-3 बूंदें मिलाएं और प्रभावित क्षेत्र में हल्‍की मालिश करें। ऐसा करने से आपको सिर के दर्द से राहत मिल सकती है।

Leave a Reply