You are currently viewing शहद के बेमिसाल फायदे, जरूर जानिए

शहद के बेमिसाल फायदे, जरूर जानिए

Spread the love

शहद का मीठा स्वाद तो आप सभी ने चखा ही होगा, लेकिन क्या आप इसके चमत्कारी फायदों के बारे में जानते हैं? शहद को मधु भी कहा जाता है, जो लाजवाब स्वाद के साथ-साथ औषधीय गुणों से परिपूर्ण है। एक गुणकारी आयुर्वेदिक औषधी के रूप में इस स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ का इस्तेमाल सदियों से किया जा रहा है। इसके जीवाणु-रोधी तत्व मानवीय शरीर को शुद्ध करने का काम करते हैं।

सेहत के लिए शहद के फायदे


शहद एक खाद्य पदार्थ के साथ-साथ असरदार आयुर्वेदिक दवा भी है, जिसका इस्तेमाल कर आप कई बीमारियों से निजात पा सकते हैं। यहां जानिए शहद के फायदों और शहद खाने के तरीकों के बारे में।

1.वजन घटाने में मददगार

शरीर का बढ़ता वजन एक गंभीर शारीरिक समस्या बनकर सामने आया है, जिसके के लिए लोग कुछ भी उपाय करने के लिए तैयार हो जाते हैं। बढ़ता वजन आपके शरीर को जल्दी थका देता है और शरीर की संरचना भी बिगाड़ देता है। अनियंत्रित खान-पान इसका सबसे बडा़ कारण हैं। यहां हम बता रहे हैं कि वजन घटाने के लिए हनी का इस्तेमाल किस प्रकार करें।

2.सर्दी और जुकाम में फायदेमंद

यह माना गया है कि सर्दी-जुकाम की आधुनिक दवाइयों से ज्यादा कारगर शहद होता है। आगे जानिए सर्दी-जुकाम को कम करने के लिए किस प्रकार करें हनी का इस्तेमाल।

हनी में एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं, जो गले के संक्रमण को दूर कर देते हैं। गले की खराश और तेज खांसी से होने वाले दर्द के लिए भी हनी काफी फायदेमंद है। खासकर बच्चों के लिए यह एक प्राकृतिक इलाज है

3.मधुमेह के दौरान शहद

क्या मधुमेह के मरीजों के लिए शहद फायदेमंद है? यह सवाल आपको थोडे़ समय के लिए भ्रमित कर सकता है, लेकिन हम आपको बता दें कि डायबिटीज के मरीज इसका सेवन कर सकते हैं। मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए आप कई प्रकार से शहद का सेवन कर सकते हैं।

हनी में काफी मात्रा में माइक्रो न्यूट्रिएंट पाए जाते है, जो मधुमेह के पीड़ित लोगों के लिए काफी फायदेमंद माने गए हैं। नियमित रूप से इसका सेवन हाइपरग्लेसेमिया (उच्च रक्त शर्करा) को कम कर देता है। हाइपरग्लेसेमिया वो स्थिति होती है, जिसमें शरीर इंसुलिन बनाना बंद कर देता है। इस स्थित में शरीर में शर्करा की मात्रा बढ़ जाती है।

4.उच्च रक्तचाप के दौरान शहद

उच्च रक्तचाप एक गंभीर समस्या है, जिसमें धमनियां प्रभावित होती है और रक्त दबाव बढ़ जाता है। जानिए, इस अवस्था में शहद का किस तरीके से करें सेवन।

अजवाइन के पत्ते उच्च रक्तचाप के लिए प्रभावी है, क्योंकि यह जिगर (लिवर) को ठीक करने का काम करते हैं। अजवाइन के पत्तों का रस शहद में मिलाकर लेने से उच्च रक्तचाप पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

5.कटने, जलने और घाव के लिए शहद

कटने, जलने या घाव के लिए शहद का इस्तेमाल सदियों से किया जा रहा है। नीचे जानिए, धाव व चोट के लिए शहद के इस्तेमाल करने का तरीका।

यह प्राकृतिक पदार्थ घाव और चोट को भरने के लिए एक प्रभावशाली औषधी के रूप में कार्य करता है। शहद का इस्तेमाल शरीर के किसी भाग के जल (बर्न्स) जाने पर भी किया जाता है। इसके एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल और हिलिंग तत्व संक्रमण को रोकने का काम करते हैं।

Leave a Reply