You are currently viewing सूखी खांसी के लिए घरेलू उपचार !!

सूखी खांसी के लिए घरेलू उपचार !!

Spread the love

1. भारत में मुलेठी का उपयोग विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए प्राचीन समय से उपयोग किया जा रहा है। इस पौधे की सूखी जड़ का उपयोग सूखी खांसी के उपचार के लिए भी प्रभावी माना जाता है।

2. आप खांसी के प्रभाव को कम करने के लिए तुलसी के पत्‍तों को ऐसे ही खा सकते हैं। आप तुलसी के पत्‍तों के अलावा तुलसी के तेल का भी उपयोग कर सकते हैं। त्‍वरित राहत पाने के लिए आप तुलसी कैप्‍सूल का भी सेवन कर सकते हैं। आप घरेलू उपचार के रूप में तुलसी के पत्‍तों का उपयोग कर काढ़ा बना सकते हैं। तुलसी की पत्तियां आपकी खांसी का तुरंत इलाज करने की क्षमता रखती है।

3. निगेल सैटिवा के छोटे काले बीज जिन्‍हें आमतौर पर काले जीरे या कलौंजी के नाम से जाना जाता है। यह औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। ऐसा माना जाता है कि यह केवल मृत्यु का इलाज बस नहीं कर सकता है। लेकिन यह हर प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए फायदेमंद होता है। विशेष रूप से इसका उपयोग खांसी के उपचार के लिए किया जाता है। कलौंजी के बीजों को कुचलकर शहद के साथ सेवन किया जा सकता है। लेकिन यदि कलौंजी का तेल उपलब्‍ध हो तो यह और भी फायदेमंद होता है। आप कलौंजी बीज के तेल को (आधा चम्‍मच) के साथ आधा चम्‍मच शहद का दिन में दो बार सेवन करें। यह सभी प्रकार की खांसी से छुटकारा दिलाने में मदद करता है।

4. शुष्‍क खांसी का उपचार करने के लिए मीठे लाल अंगूर के रस का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। सूक्ष्‍म जीवों के कारण कफ आपकी छाती में जमा हो जाता है। ऐसी स्थिति में इसे दूर करने के लिए अंगूर के रस का उपयोग फायदेमंद होता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि अंगूर का रस म्‍यूकोलिटिक प्रत्‍यारोपण के रूप में कार्य करता है। जिससे कफ को हल्‍का करने में मदद मिलती है जो खांसी से राहत दिलाता है। अंगूर में एंटीऑक्‍सीडेंट फाइटोकेमिकल्‍स की अच्‍छी मात्रा होती है। इनका लाभ लेने के लिए हर बार ताजे अंगूर के रस का उपयोग करना चाहिए।

5. सूखी खांसी का उपचार करने के लिए 1 लाल प्‍याज का रस निकालें। इस रस का एक बार में 1 चम्‍मच रस लें और गले के संक्रमण को दूर करने के लिए धीरे-धीरे इसका सेवन करें। आप इसका स्‍वाद बदलने के लिए इसमें बराबर मात्रा में शहद मिला सकते हैं। लेकिन केवल प्‍याज के रस का सेवन करना ज्‍यादा फायदेमंद होता है।

6. हल्‍दी वाला दूध इसलिए सूखी खांसी को ठीक करता है क्‍योंकि ह‍ल्‍दी में कर्क्‍यूमिन नामक सक्रिय घटक होता है। इसमें एंटी-बायरल, एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो संक्रमण के इलाज में मदद करते हैं। अदरक और लहसुन आंतों में रक्त-संकुलन को राहत देने और प्राकृतिक एनाल्‍जेसिक (पीड़ा हटानेवाला) के रूप में कार्य करते हैं। खांसी से संबंधित किसी भी समस्‍या के लिए आप रात में सोने से पहले इस दूध का सेवन कर सकते हैं।

7. सूखी खांसी के उपचार के लिए 1 गिलास गर्म पानी में 1 चम्‍मच नींबू के रस और 2 चम्‍मच शहद मिलाएं। इस मिश्रण का सेवन करने से श्‍लेष्‍म को हल्‍का करने में मदद मिलती है जिससे कफ लाने में आसानी होती है। सूखी खांसी का इलाज करने के लिए आप नींबूऔर शहद से बने इस पेय को दिन में कई बार सेवन कर सकते हैं जब भी आपको खांसी की समस्‍या हो।

8. आप अदरक की चाय का भी सेवन कर सकते हैं। ताजा अदरक को पतले टुकड़ों में काटें और इसे 2-3 मिनिट तक पानी में उबालें। इस चाय का सेवन करने से भी आपको सूखी खांसी से राहत मिल सकती है। क्योकि यह सूखी खांसी का बढ़ियां घरेलू उपचार में से एक है।

Leave a Reply