You are currently viewing सूरजमुखी के बीज हैं स्वास्थ्य का खजाना, जानें इनके लाभ !!

सूरजमुखी के बीज हैं स्वास्थ्य का खजाना, जानें इनके लाभ !!

Spread the love

सुरजमुखी का औषधीय गुण अस्थमा के कष्ट से राहत दिलाने में मदद करता है। सूरजमुखी पञ्चाङ्ग चूर्ण में त्रिकटु मिलाकर सेवन करने से तथा बाद में चावल तथा घी खिलाने से सांस संबंधी रोग या अस्थमा में लाभ होता है।

सूरजमुखी के पत्तों का काढ़ा बनाकर अल्सर के घाव को धोने से लाभ होता है।

अगर काम के तनाव के कारण अक्सर आपको सिर में दर्द होता है तो सूरजमुखी का प्रयोग इस तरह से करने पर सूरजमुखी के पत्तों के रस में ही इसके बीजों को पीसकर मस्तक पर दो तीन दिन तक लेप करने से, सिरदर्द कम होता है।

अगर लंबे समय तक बैठकर काम करने के कारण कमर में दर्द हो रहा है तो सूरजमुखी के पत्तों को पीसकर कमर पर लगाने से कमर का दर्द कम होता है।

आजकल के तरह-तरह के नए-नए कॉज़्मेटिक प्रोडक्ट के दुनिया में त्वचा रोग होने का खतरा भी दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। सुरजमुखी के द्वारा बनाये गए घरेलू उपाय चर्म या त्वचा रोगों से निजात दिलाने में मदद करते हैं। सूरजमुखी के तेल में कपूर मिलाकर खुजली में लगाने से लाभ होता है।

3 ग्राम सूरजमुखी के बीजों को 200 मिली दूध में उबालकर मिश्री मिलाकर पीने से कामशक्ति बढ़ती है।

अगर खाने-पीने में गड़बड़ी होने के कारण पेट में दर्द हो रहा है तो सूरजमुखी के फूलों के रस की दस बूंदे दूध में डालकर पिलाने से पेट दर्द तथा आध्मान या अपच में लाभ होता है। सूरजमुखी के पत्तों को पीसकर उपदंशज वाले घाव में लगाने से जल्दी सूख जाता है।

सूरजमुखी के पत्तों को पीसकर उपदंशज वाले घाव में लगाने से जल्दी सूख जाता है। सूरजमुखी का जड़ और लहसुन दोनों को पीसकर, गले पर लेप करने से गलगंड या घेंघा में लाभ होता है।

सूरजमुखी का जड़ और लहसुन दोनों को पीसकर, गले पर लेप करने से गलगंड या घेंघा में लाभ होता है।

अगर दांत दर्द से परेशान रहते हैं तो सूरजमुखी के जड़ को पीसकर दांतों पर मलने से दांत का दर्द कम होता है।

Leave a Reply