You are currently viewing तेजपत्ते के फायदे !!

तेजपत्ते के फायदे !!

Spread the love

तेजपत्ता की धूनी देने से स्त्री को प्रसव के समय होने वाला दर्द में आराम मिलता है।

तेजपत्ता का चूर्ण २ से ४ ग्राम फांकने से उबकाई मिटती है।

तेजपत्ता का रायता सुबह-शाम सेवन करने से अरुचि दूर होती है।

तेजपत्ता और पीपल को २-२ ग्राम की मात्रा में अदरक के मुरब्बे की चाशनी में छिड़ककर चाटने से दमा और श्वासनली के रोग ठीक हो जाते हैं।

सूखे तेज़ पत्तों को बारीक पीसकर हर तीसरे दिन मंजन करना चाहिए। इसके उपयोग से दांत मोतियों की तरह चमकने लगते हैं।

लगभग १ चम्मच तेजपत्ते का चूर्ण शहद के साथ सेवन करने से खांसी ठीक हो जाती है।

प्रतिदिन ५-६ तेजपत्ते चबाने से पीलिया और पथरी नष्ट हो जाती है।

तेजपत्ते का काढ़ा पीने से पसीना आता है और आंतों की खराबी दूर होती है जिसके फलस्वरूप पेट का फूलना तथा दस्त लगना आदि में लाभ मिलता है।

Created with GIMP

Leave a Reply